ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
 ब्राह्मण समाज ने हरियाली तीज पर नक्षत्र वाटिका रोपी, सावन मेला कल
July 24, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

भोपाल । ब्राह्मण एकता अस्मिता सहयोग संस्कार मंच द्वारा गुरुवार को हरियाली तीज के उपलक्ष्य में भोपाल शहर में चार स्थानों पर 27 नक्षत्रों के अनुसार 27 पेड़ों की नक्षत्र वाटिका लगाई गई। रोपने से पहले पौधों का विधिवत पूजन किया गया। मंच के अध्यक्ष पंडित राकेश चतुर्वेदी एवं प्रेम गुरु ने बताया कि यह नक्षत्र वाटिका चुनाभट्टी स्थित राम जानकी मंदिर परिसर में पंडित शंभूनाथ शर्मा जी द्वारा नक्षत्र वाटिका रोपण कराया गया। इसी तरह दद्दाजी धाम पटेल नगर, राम मंदिर मारुति विहार अयोध्या नगर तथा चिंताहरणी टेकरी मंदिर में भी नक्षत्र वाटिका रोपी गई। राम जानकी मंदिर परिसर में मुख्य संस्थापक यजमान पंडित शंभूनाथ शर्मा के नेतृत्व में कमलेश तिवारी जी द्वारा पौधों का पूजन करवाया गया। जिसमें प्रमुख रुप से राकेश चतुर्वेदी, प्रेम गुरु एवं अजय पांडे उपस्थित थे। इसी तरह दूसरी नक्षत्र वाटिका दादाजी धाम पटेल नगर में मुख्य यजमान पंडित आर के तिवारी  एवं पूजन राकेश स्वामी  द्वारा करवाया गया। उपस्थित लोगों को नक्षत्र वृक्षों के महत्व के बारे में बताया गया। राम जानकी मंदिर मारुति विहार अयोध्या बायपास रोड पर मुख्य यजमान पंडित प्रफुल्ल कल्पना रावत द्वारा वृक्षारोपण किया गया, जिसमें रामदास  महाराज द्वारा पूजन करवाया गया। चौथी नक्षत्र वाटिका चिंता हरणीमंदिर खुशीलाल आयुर्वेदिक संस्थान के पास रोपी गई, जिसमें यजमान सुनील यादव एवं अजय पांडे ने पौधे रोपे और राकेश दुबे जी ने विधिवत पूजन करवाया। इस अबसर पर मनु शर्मा, ज्योति शुक्ला, मंजू शर्मा, मनोरमा राजपूत थीं । 

 ब्राह्मण समाज द्वारा सावन मेला 25 जुलाई को   
     

 ब्राह्मण एकता अस्मिता सहयोग संस्कार मंच महिला विंग द्वारा सावन मेले का  आयोजन महिला  अध्यक्ष डॉ वंदना मिश्रा एवं  संगीता  उपाध्याय महामंत्री, कोषाध्यक्ष वरूणा रिछारिया ने बताया कि  मेले में प्रमुख रूप से  क्राफ्ट कला सिलाई , बुनाई ,कढ़ाई ,कांच का फ्रेमवर्क , बटुआ बनाना ,कागज की कला, पाककला , विविध प्रकार के व्यंजन बनाने की विधियां   उनके चित्र ऑडियो वीडियो ।आदि यातायात के नियम  ताल,नदी समुद्र आदि का विवरण 
माटी कला  मिट्टी से बने हुए विविध कलाकृतियां जैसे मूर्तियां आकृति, घड़ी खिलौने आदि का रेखांकन  के साथ मेहंदी, रंगोली, चित्रकला

जीवन कौशल एवं स्वच्छता से संबंधित विविध चित्रों की प्रदर्शनी  गायन  प्रमुख रूप से होगा ।आयोजन 25 जुलाई  दोपहर 1 से 3 में किया जा रहा है ।जिसमें सभी लोग वाट्सएप कॉन्फ्रेंस से इस मेले में शामिल होंगे कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील डॉ वंदना मिश्रा ,संगीता उपाध्याय कल्पना रावत वरूणा रिछारिया ममता दुबे राजकुमारी अवस्थी, अन्नपूर्णा रावत, संध्या मिश्रा ,अर्पणा दुबे अमृता भोडेले रितु तिवारी ,साधना मिश्रा सिला रिछारिया ने की है।
 सावन मेला में प्रतिभागियों के अब तक जो नाम आए हैं-
क्राफ्ट कला
कल्पना रिछारिया, ममता दुबे, प्रणव मिश्रा, 
वरुणा रिछारिया, सरोज वैद्य, रश्मि बादल दुबे

पाक कला-
कल्पना रावत, दामिनी रावत,  सुधा दुबे, अर्पिता रावत, दीपाली शर्मा

गायन- कल्पना रावत, मंजुलता श्रोती, रितु मिश्रा, अंजलि शुक्ला, 
कविता पाठ रश्मि शुक्ला,   सुधा दुबे,सिंहायना,सुनीता पटैरिया

मेहंदी
 नीतू मिश्रा,  मीतू दुबे

 माटीकला
सुधा दुबे, क पिला गंगले 

नृत्यकला

सिहायना ति वारी

पूजा थाली प्रतियोगिता

  सुधा दुबे, नीतू दुबे, ममता दुबे, संगीता उपाध्याय