ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
 किराना की दुकानों में रेट लिस्ट नहीं, धड़ल्ले से हो रही कालाबाजारी,लोग परेशान
April 3, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

सिंगरौली। लाॅक डाउन के दौरान जिले से पचास किलोमीटर दूर स्थित सरई थाने के समीप से ही सरई बाजार में खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी बढ़ गई है।इसे रोक पाने में जिम्मेदार अधिकारी पूरी तरह से विफल साबित हो रहा है।

गौरतलब यह है कि इस बाजार में किसी भी किराना की दुकान पर रेट लिस्ट नहीं लगा हुआ है जिसमें दुकानदार अपनी मनमर्जी रेट पर खाद्य पदार्थ बेच रहे हैं। यदि इन दुकानों पर जारी सरकारी रेट लिस्ट की सख्ती से अनिवार्यता कर दी जाएं तो कालाबाजारी पर अंकुश लगाया जा सकता है।

उधर सरकार कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में लाक डाउन कर दिया है। बाजार बंद करा दिए गए हैं और लोगों को घरों में ही रहने की हिदायत दी जा रही है।। लाक डाउन के दौरान केवल आवश्यक सेवाएं पेट्रोल पम्प , मेडिकल स्टोर, सब्जी मंडी,आटा चक्की, और किराना की आदि  खुलने की अनुमति दी गई है।आपात स्थिति को देखते हुए इस बाजार में कालाबाजारी शुरू हो गया है।
जैसे खाद्य सामाग्री गेहूं,दाल, चावल, आटा, तेल,व मसालें आदि के दाम बढ़ा दिए गए हैं लेकिन खाद्य विभाग इस कालाबाजारी को रोकने के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठा रहा है। मजबूरी में लोगों को दुकानों से महंगे दामों में खाद्य सामग्री खरीदने पड़ रहीं हैं ‌।

कहीं नजर नहीं आती रेट लिस्ट

सरई बाजार की बात करें तो किसी भी दुकानदार ने अपने दुकान पर सामाग्री की रेट लिस्ट नहीं लगी हुई है जिसमें दुकानदार ग्राहकों से अपनी मनमर्जी रेट पर समान बेच रहे हैं। 

रेट लिस्ट और होम डिलीवरी के आदेश हुआ फिका

जिले के सभी किराना व्यापारियों को अपनी दुकानों पर खाद्य सामाग्री की रेट लिस्ट लगाने और ग्राहकों को  होम डिलीवरी  देने के लिए आदेश जारी किया गया था पर उस आदेश को दरकिनार कर दिया गया है जिसमें  यहां  कालाबाजारी के आलावा कुछ भी नजर नहीं आ रहा है। और यदि विभाग उक्त मामले पर कार्यवाही करना चाहता है तो इस क्षेत्र में गुप्त टीम भेजकर सुझबूझ से ताबड़तोड़ कार्यवाही कर सकता है और लोगों को इस कालाबाजारी ठगी से मुक्ति दिला सकता है।