ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
आदित्य बिड़ला हेल्थ इंश्योरेंस ने कोविड 19 पर दिया सुरक्षा कवच, शुरू की  नई सेवाएं और उत्पाद
August 6, 2020 • Admin • राष्ट्रीय

घर में इलाज होने पर प्रतीक्षा अवधि में कमी और कैशलेस दावों की सुविधा जल्द होगी शुरू ~
पेश कीं कोरोना कवच, एक्टिव डेज@होम और अन्य सेवाएं 
मुंबई। कोविड 19 आने के साथ ही सेहत और सुख के संग व्यापक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी रखने की अहमियत समझना भी जरूरी हो गया है। इसे ध्यान में रखते हुए आदित्य बिड़ला कैपिटल लिमिटेड की स्वास्थ्य बीमा कंपनी आदित्य बिड़ला हेल्थ इंश्योरेंस ने ऐसी कई सेवाएं एवं उत्पाद पेश किए हैं, जो ऐसे मुश्किल वक्त में अपनी सेहत का ध्यान रखने में ग्राहकों की मदद करते हैं।
आदित्य बिड़ला हेल्थ इंश्योरेंस की योजना है कि सभी पॉलिसीधारकों के लिए कोविड-19 मरीजों के अस्पताल में भर्ती होने पर किए जाने वाले दावों की आरंभिक प्रतीक्षा अवधि 30 दिन से घटाकर 15 दिन कर दी जाए। पॉलिसीधारकों के लिए यह सुविधा जल्द ही शुरू की जाएगी। एक अन्य प्रमुख पेशकश होगी उन पॉलिसीधारकों को घर पर ही इलाज (होम ट्रीटमेंट) कराने की सुविधा देना, जिन्हें सामान्य परिस्थितियों में अस्पताल में भर्ती होना पड़ता और जिन्हें इलाज कर रहे डॉक्टर ने आईसीएमआर के दिशानिर्देशों के मुताबिक घर पर ही इलाज की सलाह दी है। घर पर ही इलाज की सुविधा कैशलेस होगी और हमारे नेटवर्क प्रदाता तथा पैनल में शामिल सेवा प्रदाता के जरिये दी जाएगी।
आदित्य बिड़ला हेल्थ इंश्योरेंस ने हाल ही में कोविड-19 के लिए इनडेम्निटी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी - कोरोना कवच पॉलिसी भी पेश की। कोरोना कवच अस्पताल में भर्ती से संबंधित खास इनडेम्निटी बीमा पॉलिसी है, जिसमें कोविड-19 संक्रमण के कारण या रोगी को कोई अन्य बीमारी होने की सूरत में अस्पताल में भर्ती किए जाने पर हुए सभी खर्च शामिल होते हैं। इसके साथ ही ABHICL की सभी इनडेम्निटी योजनाओं - एक्टिव हेल्थ, एक्टिव एश्योर और एक्टिव केयर - में भी कोविड-19 की सूरत में अस्पताल में भर्ती होने से पहले का, भर्ती होने पर, अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद और एंबुलेंस का खर्च शामिल कर लिया गया है। ग्रुप एक्टिव हेल्थ और ग्रुप एक्टिव सिक्योर - हॉस्पि कैश योजनाओं में भी इनडेम्निटी तथा फिक्स्ड बेनिफिट के आधार पर कोविड-19 के इलाज की सुविधा शामिल है। 
आदित्य बिड़ला हेल्थ इंश्योरेंस के मुख्य कार्य अधिकारी मयंक बड़थ्वाल ने नई एड-ऑन सुविधाओं तथा सेवाओं के बारे में कहा, “आदित्य बिड़ला हेल्थ इंश्योरेंस में हम अपने ग्राहकों को केवल स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने का नहीं बल्कि उससे भी अधिक करने का लगातार प्रयास करते हैं। कोविड से जुड़ी पॉलिसियों और मौजूदा पॉलिसी में जोड़े गए एड-ऑन से यह सुनिश्चित होगा कि वायरस का पता लगने से लेकर ठीक होने के बाद तक यानी अस्पताल में भर्ती होने से लेकर अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद तक के सभी खर्च बीमा में शामिल होने से हमारे ग्राहक सुख से रहें। हमने अपने एक्टिव डेज एट होम और #हेल्थफ्रॉमहोम कार्यक्रमों के जरिये अपने ग्राहकों को सेहत का खयाल रखने की सुविधा प्रदान करने का प्रयास भी किया है। हम अपने ग्राहकों से लगातार बात कर रहे हैं ताकि उनकी जरूरतों और चुनौतियों को समझ सकें तथा अपने फायदों तथा उत्पादों में अनुकूल बदलाव लाकर उनकी मदद कर सकें। स्वास्थ्य बीमा में ‘स्वास्थ्य’ पर केंद्रित रहते हुए हमारा लक्ष्य संकट के इस समय में ‘सबसे पहले स्वास्थ्य’ के दर्शन तथा स्वस्थ एवं सक्रिय जीवनशैली अपनाने की अहमियत पर जोर देना है।”
इसके साथ ही ऐसे मुश्किल भरे समय में पॉलिसीधारकों और ग्राहकों के लिए समुचित सेवा सुनिश्चित करने के मकसद से एबी ने कई वैकल्पिक प्रक्रियाएं आरंभ की हैं। इस समय दावों से जुड़ी समूची टीम (क्लेम्स टीम) और उससे जुड़ी दूसरी सेवाएं जैसे केयर मैनेजर एवं मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम (MIS) घर से बिना रुके काम कर रही हैं तथा दावों को समय पर निपटा रही हैं। क्लेम्स टीम प्री-ऑथराइजेशन दावों में अस्पताल से पहला अनुरोध आने से लेकर मरीज को छुट्टी मिलने तक की पूरी प्रक्रिया पर काम कर रही है और रीइंबर्समेंट के दावों में दस्तावेज मिलने से लेकर अंतिम भुगतान तक समूचा काम कर रही है। MIS और भुगतान टीम भी सुनिश्चित कर रही है कि दावों पर नजर रहे और बीमा लेने वाले व्यक्ति तथा अस्पतालों को समय से भुगतान किया जाए। साथ ही कॉल सेंटर टीम का एक हिस्सा सभी कैशलेस दावों को सामान्य दिनों की ही तरह निपटाने के लिए घर से काम कर रहा है। 
आदित्य बिड़ला हेल्थ इंश्योरेंस ने लॉकडाउन के दौरान ‘एक्टिव डेज@होम’ नाम का कार्यक्रम भी शुरू किया है ताकि उसके पॉलिसीधारकों को लॉकडाउन के दौरान बिना दिक्कत के स्वास्थ्य सुविधा मिल सके। एक्टिव हेल्थ एप के जरिये ग्राहक एप पर वीडियो देखकर तथा व्यायाम कर हेल्थ रिटर्न्स इकट्ठा करना जारी रख सकते हैं।
ABHICL ने #हेल्थफ्रॉमहोम अभियान भी शुरू किया है, जिसमें लॉकडाउन के दौरान भारतीयों के लिए स्वस्थ जीवनशैली की परिकल्पना की गई है। अभियान ने फेसबुक लाइव और हेल्थ इन्फ्लुएंसरों की मदद से सात हफ्तों में योग, फिटनेस, पोषण, मानसिक स्वास्थ्य एवं अन्य विषयों पर 100 से भी अधिक सत्र आयोजित किए। इन कार्यक्रमों में डॉक्टर, हेल्थ इन्फ्लुएंसर तथा वित्तीय योजनाकार भी शामिल थे। #हेल्थफ्रॉमहोम 3 करोड़ लोगों तक पहुंचा और 86 लाख से भी अधिक शिरकत इसमें की गईं।