ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
आर्किटेक्ट जफर खान ने बनाया हेलमेट नुमा मास्क
April 10, 2020 • Admin
स्वास्थ्य कर्मियों व पुलिस की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण
हेलमेट नुमा मास्क लागत 300 से 350 रूपये 
भोपाल। राजधानी में स्वास्थ्य विभाग और पुलिस महकमे के अधिकारियों और कर्मचारियों में फैल रहे कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए भोपाल के ईदगाह निवासी आर्किटेक्ट जफर खान ने एक विशेष किस्म का हेलमेट नुमा मास्क बनाया है। आर्किटेक्ट जफर खान का दावा है कि अगर पुलिसकर्मी और स्वास्थ्य विभाग के लोग या फिर अन्य कोई भी इसे पहनता है तो कोरोना के संक्रमण से बच सकता है। उनका कहना है कि इसे धोने के बाद फिर से उपयोग में लाया जा सकता है।
आर्किटेक्ट जफर खान ने बताया कि लॉकडाउन के चलते सभी काम बंद हैं। इसलिए वे भी घर ही हैं। इस दौरान कोरोनावायरस का संक्रमण जिस तेजी से प्रदेश में फैल रहा है उससे परेशान थे। उन्होंने बताया कि दो दिन से स्वास्थ्य विभाग और पुलिसकर्मियों में संक्रमण फैलने की खबरों ने उन्हें बैचेन कर दिया। मन में विचार आया कि अगर हमारी रक्षा करने वाले ही संक्रमित हो जाएंगे तो हालत कैसे सुधरेंगे।
जफर खान ने बताया कि इसी बात को ध्यान में रखते हुए उन्होंने ऐसा मास्क डिजाइन किया जिससे उनकी सुरक्षा का स्तर बड़ जायें, लॉकडाउन कि परिस्थिति में उन्होंने घर में उपलब्ध सामग्री से ऐसा मास्क बनाया है जो कि पूरा सिर कवर करता है और उनकी सुरक्षा का स्तर बढ़ाता है। यह मास्क खासतौर से डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस, व्यवस्थाकर्मी और उन लोगों के लिए भी जो घरों से निकलकर कोरोना अभिशाप से लडऩे के लिए कार्यरत हैं, बहुत ही उपयोगी है। इस मास्क को व्यवस्थित तरीके से धोकर बार बार उपयोग में लिया जा सकता है। इसकी लागत 300 से 350 रुपए आएगी। जफर खान ने कहा है कि वे अपने मास्क की डिजाइन सरकार को नि:शुल्क देने तैयार है। सरकार चाहे तो वे इसके बढ़े पैमाने पर उत्पादन में भी मदद कर सकते हैं।
सुरक्षा के लिए मास्क डिजाइन करके बनाया
जफर खान ने बताया कि समाचार व न्यूज चेनलों के माध्यम से जानकारी मिली कि डॉक्टर और नर्स भी कोरोना वायरस के शिकार हो रहें हैं, ये देख और सुनकर मन व्याकुल हो गया, और मन में विचार आया कि उनके लिए कुछ करना चाहिए। इसके चलते मैने सोचा कि उनके लिए एक ऐसा मास्क डिजाइन किया जायें जिससे उनकी सुरक्षा का स्तर बड़ जायें, लॉकडाउन कि परिस्थिति में मेंने घर में उपलब्ध सामग्री से ऐसा मास्क बनाया है जो कि पूरा सिर कवर करता है और उनकी सुरक्षा का स्तर बढ़ाता है। यह मास्क खासतौर से डाक्टर, नर्स, स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस, व्यवस्थाकर्मी और उन लोगों के लिए भी जो घरों से निकलकर कोरोना अभिशाप से लडऩे के लिए कार्यरत हैं, बहुत ही उपयोगी है। इस मास्क को व्यवस्थित तरीके से धोकर बार बार उपयोग में लिया जा सकता है। इसकी लागत लगभग 300 से 350 रूपये आयेगी।