ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
आवश्यक चिकित्सा यात्राओं के लिए 'ओला इमरजेंसी शुरू
April 21, 2020 • Admin
कलेक्टर से मिली इजाजत, मामूली किराये पर मिलेगी ओला
भोपाल। ओला ने मध्य प्रदेश सरकार के साथ सहयोग करके बिना सीओवीआईडी और बिना एम्बुलेंस की आवश्यकता वाले मरीजों के लिए परिवहन सेवा की शुरूआत की है। जिसके लिए 200 से अधिक अस्पतालों की पहचान की गई है और ओला ऐप में उन तक पहुँचने का नक्शा डाला गया है। भारत का अग्रणी मोबिलिटी प्लेटफॉर्म और दुनिया की सबसे बड़ी राइड-हेलिंग कंपनियों में से एक ओला ने आज मध्य प्रदेश सरकार के सहयोग से अपने प्लेटफॉर्म पर आवश्यक चिकित्सा यात्राओं के लिए अपने ऐप पर ओला इमरजेंसी शुरू करने की घोषणा किया है। नई श्रेणी उन नागरिकों को सुविधाजनक, विश्वसनीय और सुरक्षित परिवहन प्रदान करेगी, जिन्हें चिकित्सा उद्देश्यों के लिए अस्पताल पहुँचने की आवश्यकता है।
आज से भोपाल में ओला इमरजेंसी कारों के एक समर्पित नेटवर्क के साथ उपलब्ध है जो मास्क और सैनिटाइजर से लैस है और जिन्हें विशेष रूप से प्रशिक्षित ड्राइवरों द्वारा संचालित किया जाएगा। नागरिक ओला इमरजेंसी श्रेणी का चयन करके अपने ऐप से कैब बुक कर सकते हैं और शहर में उपलब्ध अस्पतालों की सूची से पहुँचने का स्थान दर्ज कर सकते हैं। ऐप में 100 से अधिक अस्पतालों तक पहुँचने का नक्शा परिवहन प्रदान करना सुनिश्चित करने के लिए डाला गया है ताकि मरीज घर से अस्पताल तक और अस्पताल से घर वापसी की सेवा का आनन्द ले सकें। भोपाल के जिलाधिकारी तरूण कुमार पिथौड़े ने ओला के इस शुरुआत की सराहना करते हुए कहा कि इससे न सिर्फ आम जनता को घर से हॉस्पिटल जाने में मदद मिलेगी बल्कि और मरीजों को एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल ले जाने में भी सुविधा होगी। ओला कि इस सुविधा के लिए डीएम ऑफिस से परमिशन दी जा चुकी है और हम उम्मीद करते है कि इससे मरीजों को और जिन्हे इस सुविधा कि ज़रूरत है उन्हें इससे मदद मिलेगी। हम सब मिलकर इस आपदा से लड़ेंगे और जल्दी ही इससे बहार निकलेंगे। ओला के प्रवक्ता  आनंद सुब्रमण्यन ने कहा वर्तमान संकटकाल में भी चिकित्सा इमरजेंसी केलिए अस्पताल पहुँचना अपरिहार्य हैं। ओला इमरजेंसी के साथ, हम ओला ऐप के माध्यम से शहर भर के अस्पतालों में आने-जाने की सुविधा प्रदान करने में सक्षम हैं। नागरिकों की सेवा करने का अवसर देने के लिए हम उत्तर प्रदेश सरकार के आभारी हैं। मानचित्र पर शहर के 100 से अधिक अस्पतालों को लाने के साथ ओला इमरजेंसी 24&7 उपलब्ध होगा और जिन नागरिकों को चिकित्सा सहायता प्राप्त करने के लिए एम्बुलेंस की आवश्यकता नहीं है, उन्हें एक विश्वसनीय, सुविधाजनक और सुरक्षित परिवहन प्रदान करेगा। उन्होंने आगे कहा ओला एक स्वच्छ और सुरक्षित सवारी का अनुभव यह सुनिश्चित करके प्रदान कर रही है कि नेटवर्क पर पंजीकृत सभी ड्राइवर-साझीदार उचित स्वच्छता उपायों का पालन करने के लिए प्रशिक्षित हैं, जिसमें मास्क पहनना और हाथों को लगातार विसंक्रमित करना शामिल है, जिसके लिए कार सुसज्जित हैं। हम विभिन्न राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि शहरों में लोग आवश्यक चिकित्सा देखभाल तक पहुँचने के लिए इस सेवा का लाभ उठा सकें। भोपाल में इस श्रेणी का शुभारंभ बेंगलुरु, विजाग, चेन्नई, नासिक और कोच्चि के बाद किया गया है और सेवा जल्द ही अन्य प्रमुख शहरों में शुरू की जाएगी। ओला अधिकारियों के साथ मिल करके यह सुनिश्चित करना जारी रखा है कि सभी समर्पित ड्राइवर और कारें आवश्यक सुरक्षात्मक उपकरण जैसे मास्क और सैनिटाइजऱ से लैस हैं, और ओला यह सुनिश्चित करेगा कि सेवा का उपयोग केवल डायलिसिस, कीमोथेरेपी, निर्धारित चेक-अप और शारीरिक चोटों आदि में चिकित्सा यात्रा के लिए किया जाए जो बिना सीओवीआईडी के है और जिनको एम्बुलेंस की आवश्यकता नहीं है। ड्राइवर-भागीदारों को उनकी सेवाओं की भरपाई के लिए ग्राहकों से रेट कार्ड के अनुसार मामूली किराया लिया जाएगा।