ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
अधिकारी समन्वय के साथ बेहतरीन कार्य करें: कियावत
May 16, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ  अलग -अलग विभागों की समीक्षा की

 भोपाल। संभागायुक्त के द्वारा आज राजगढ़  में जिला पंचायत सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक ली । बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ विभागों की अलग-अलग समीक्षा की। बैठक में आयुक्त द्वारा अधिकारियों को  कहा कि सभी विभाग आपस में समन्वय के साथ कार्य कर योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन करें।योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों तक पहुंचे इसके लिए विभागों में समन्वय जरूरी है।

         आयुक्त द्वारा सर्वप्रथम गेहूं खरीदी की समीक्षा की गई ।बैठक में महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक श्री जैन ने बताया कि अभी तक समर्थन मूल्य पर 87 खरीदी केंद्रों के माध्यम से 47484 किसानों का 2 लाख 7000 मेट्रिक टन गेहूं खरीदा जा चुका है। किसानों को समय से भुगतान भी किया जा रहा है ।आयुक्त ने कहा कि गेहूं के उठाव में तेजी लाई जाए। उन्होंने किसानों को पैसे की कमी ना आए इस लिये बैंकों में पर्याप्त नगद राशि उपलब्ध कराने के निर्देश  भी दिए । आयुक्त द्वारा चना सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी में और अधिक किसानों को एसएमएस भेजने के निर्देश दिए।
 
गरीबों को समय पर मिले खाद्यान्न
         आयुक्त द्वारा खाद्य विभाग की समीक्षा के दौरान निर्देश दिया कि सभी गरीबों को समय पर खाद्यान्न उपलब्ध हो। उन्होंने अनुभाग अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह क्षेत्र भ्रमण के दौरान देखें सभी को नियमित खाद्यान्न मिल रहा है कि नहीं।  जिला खाद्य अधिकारी ने बताया कि जिले में 11500 ऐसे हितग्राहियों को भी खाद्यान्न वितरित किया गया है जिनके जिनकी पात्रता पर्ची नहीं निकल पाई थी । जिले में बेघर बेसहारा परिवारों को 600 क्विंटल खाद्यान्न वितरित किया गया है। 

खाद बीज की उपलब्धता सुनिश्चित रहे
           आयुक्त  ने कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि जिले में खरीफ़ फसल के लिए आवश्यक खाद तथा उन्नत किस्म के बीजों की व्यवस्था की जाए । अच्छी किस्म के बीज उपलब्ध हो सकें इसके लिए  सहकारी समितियों को सक्रिय किया जाए । उन्होंने कहा कि दो बड़े डैम बन जाने से जिले में सिंचाई का रकबा बढ़ेगा इसका आकलन कर जरूरी तैयारी करें।

           उद्यानिकी विभाग की समीक्षा* के द्वारा आयुक्त ने निर्देश दिए कि फलोद्यान का रकबा बढ़ाने के लिए विशेष प्रयास करें । किसानों को जागरूक करने के लिए प्रयास करें और उन्हें फलोद्यान लगाने के लिए प्रेरित करें जिससे उनकी आमदनी में बढ़ोतरी हो सके ।

दुग्ध सहकारी समितियों को सक्रिय किया जाए
            आयुक्त द्वारा पशुपालन तथा डेयरी की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि राजगढ़ जिले में सबसे ज्यादा पशु संख्या है ।पशुओं की नस्ल सुधार कर दुग्ध उत्पादन बढ़ाया जा सकता है और सहकारी समितियों के माध्यम से दूध का एकत्रीकरण कर दुग्ध संघ  को अधिक मात्रा में दूध प्रदाय कर किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत की जा सकती है ।
      दुग्ध संघ के सीईओ भोपाल द्वारा प्रेजेंटेशन के माध्यम से बताया कि राजगढ़ जिले में वर्तमान  में 661 संस्थाओं के माध्यम से 44000 लीटर दूध उपलब्ध हो रहा है। समितियों को तत्काल भुगतान किया जा रहा । उन्होंने कहा कि किसान सहकारी समितियों को पर्याप्त मात्रा में दूध प्रदान करें तो वह 80 से 90000 लीटर दूध प्रतिदिन उठा सकते हैं ,जिसका तत्काल  भुगतान किया जाएगा।

राजस्व अधिकारी अपने मूल काम पर विशेष ध्यान दें
         राजस्व अधिकारियों की बैठक में आयुक्त ने निर्देश दिए कि राजस्व अधिकारियों ने कोरोना काल में जो काम किया है वह सराहनीय है । इसके साथ साथ अब समय है कि वह अपने मूल काम पर विशेष ध्यान दें ।नामांतरण ,सीमांकन, बटवारों के लिए अभियान चलाएं । जब भी ग्रामीण स्तर पर जाएं ना केवल राजस्व बल्कि सभी विभागों की योजनाओं का निरीक्षण करें। उन्होंने कार्यालयों की साफ सफाई ,रिकॉर्ड व्यवस्थित करने, राज्य की प्रथम इकाई ग्राम कोटवार को सशक्त बनाने के भी निर्देश दिए।बैठक में कलेक्टर  नीरज  कुमार सिंह, सीईओ जिला पंचायत मृणाल मीणा जिले के  सभी अनुविभागीय अधिकारी, संयुक्त कलेक्टर रामाधार अग्निवंशी तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।