ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
भोपाल। आइडिया टर्बोनेट 4 जी को मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में फिर से सबसे तेज 4जी नेटवर्क बताया गया है, ब्रॉडबैण्ड टेस्टिंग एवं वेब आधारित डायग्नॉस्टिक ऐप्लीकेशन्स में ग्लोबल लीडर व्वासं के अनुसार अक्टूबर दिसम्बर 2019 की अवधि के दौरान इसकी डाउनलोड स्पीड सभी अन्य ऑपरेटरों से अधिक रही है। ये परिणाम मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में 4जी उपभोक्ताओं द्वारा किए गए स्पीड टेस्ट के विश्लेषण पर आधारित हैं। पिछली तिमाही में मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में आइडिया टर्बोनेट के लिए सबसे तेज 4 जी नेटवर्क वैरिफिकेशन के आधार पर इसे री वैरीफाय किया है। पूरे सर्कल के लिए व्वासं द्वारा रीवैरिफिकेशन इस बात की पुष्टि करता है कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में आइडिया 4जी के उपभोक्ता अपने 4जी फोन पर सबसे तेज स्पीड पर एचडी वीडियोज, ग्रुप वीडियो कॉल का लुत्फ उठा सकते हैं, डिजिटल प्लेटफॉर्म पर फिल्मों का आनंद ले सकते हैं और जब चाहे फोटो और वीडियो देख सकते हैं। रजेश नायक बिजनेस हैड मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़, वोडाफोन आइडिया ने कहा हमें खुशी है कि हमें व्वासं द्वारा सर्कल के सबसे तेज 4 जी नेटवर्क का दर्जा दिया गया है। यह वैरिफिकेशन हमें प्रेरित करता है कि हम अपने अमूल्य उपभोक्ताओं के लिए नेटवर्क कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने और उन्हें उत्कृष्ट डिजिटल अनुभव प्रदान करने के प्रयासों को जारी रखें। इससे हमारे उपभोक्ता आइडिया मुवीज एण्ड टीवी ऐप के माध्यम से सोनी लिव, शेमारो, होई चोई आदि की ओर से अधिक से अधिक प्रीमियम कंटेंट का लुत्फ उठा सकते हैं। वोडाफोन आईडिया लिमिटेड ने मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ सर्कल्स में अपने नेटवर्क को समेकित सर्कल के उपभोक्ताओं को तेज स्पीड के डेटा का अनुभव प्रदान किया है। इस अवसर पर विशांत वोरा, चीज टेक्नोलॉजी ऑफिसर, वोडाफोन आइडिया लिमिटेड ने कहा 'हम हमेशा से नेटवर्क के उत्कृष्ट अनुभव पर ध्यान केन्द्रित करते रहे हैं, इसी के मद्देनजर हम अपने नेटवर्क का आधुनिकीकरण कर सशक्त फ्यूचर रैडी 4ऴ नेटवर्क का निर्माण कर रहे हैं। इसके अलावा, सर्वश्रेष्ठ तकनीक के साथ हम निरंतर डेटा क्षमता में सुधार ला रहे हैं और समेकित बजारों में डेटा स्पीड को बेहतर बना रहे हैं। व्वासं द्वारा वैरिफिकेशन इस बात की पुष्टि करता है कि हम सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। देश में आधुनिक तकनीक लाने के प्रयास में वोडाफोन आइडिया ने मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में कवरेज और नेटवर्क क्षमता में सुधार लाने के लिए 203 व्यापक एमआईएमओ, छोटे सैल और टीडीडी साईट्स स्थापित किए हैं। वोडाफोन आइडिया लिमिटेड मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में 12304 साईट्स एवं 61 डी्र स्पैक्ट्रम के माध्यम से 4जी, 3जी और 2जी सेवाएं प्रदान करता है। मध्यप्रदेश और छत्तीसग-सज? में सबसे तज आइडिया 4ळ स्पीड स्पीडटेस्ट इंटेलीजेन्स डेटा पर आधारित है, जिसके तहत अक्टूबर से दिसम्बर 2019 के बीच 4जी उपयोगकर्ताओं ने लोकप्रिय स्पीड टेस्ट ऐप के जरिए डाउनलोड स्पीड आधारित टेस्ट में हिस्सा लिया है।
February 12, 2020 • Vijay sharma
खेलों से मिलता है खिलाडिय़ों को सम्मान: जनसंपर्क मंत्री 
खेलो में नंबर वन राज्य बनाने का मुख्यमंत्री का स्वप्न करेंगे साकार: खेलमंत्री 
भोपाल। प्रदेश के खिलाडिय़ों को उच्च स्तरीय खेल सुविधाएं और प्रशिक्षण उपलब्ध कराने के लिए मध्य प्रदेश सरकार वचनबद्ध है। प्रदेश को खेलों के क्षेत्र में नंबर वन राज्य बनाने के मुख्यमंत्री कमलनाथ के स्वप्न को साकार किया जाएगा। यह विचार खेल और युवा कल्याण एवं उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने आज मध्य प्रदेश राज्य शूटिंग अकादमी में आयोजित भूमिपूजन समारोह में व्यक्त किए। प्रदेश के जनसम्पर्क, विधि विधायी कार्य, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री पीसी शर्मा के मुख्य आतिथ्य, खेल मंत्री जीतू पटवारी की अध्यक्षता तथा नर्मदा घाटी एवं पर्यटन मंत्री सुरेन्द्र सिंह हनी बघेल के विशिष्ट आतिथ्य में आयोजित भूमिपूजन कार्यक्रम में हॉकी खिलाडिय़ों के लिए 19 करोड़ 96 लाख की लागत से निर्मित होने वाले दो सिंथेटिक टर्फ तथा शूटिंग खिलाडिय़ों के लिए 5 करोड़ 22 लाख रूपये की लागत से बनने वाले दो टे्रप एवं स्कीट रैंज की आधारशिला रखी गई। मंत्री पीसी शर्मा, जीतू पटवारी और सुरेन्द्र सिंह हनी बघेल ने शूटिंग अकादमी का भ्रमण कर खिलाडिय़ों को उपलब्ध कराई जा रही खेल सुविधाओं का जायजा लिया और शॉटगन से निशाना भी साधा। भूमिपूजन समारोह को संबोधित करते हुए जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि हॉकी की नर्सरी के रूप में भोपाल ने अलग पहचान बनाई है। भोपाल ने देश को कई ओलम्पियन खिलाड़ी दिए हैं जिन्होंने प्रदेश  का गौरव बढ़ाया है। मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश को खेलों में अग्रणी राज्य बनाने के लिए मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ एवं खेलमंत्री जीतू पटवारी निरंतर प्रयासरत हैं। उन्होंने खिलाडिय़ों को परिश्रम कर प्रतिभा निखारने और खेलों में कैरियर बनाने के लिए प्रोत्साहित करते हुए कहा कि खेलों से खिलाडिय़ों को सम्मान मिलता है। खेलमंत्री जीतू पटवारी ने प्रदेश में संचालित 24 हॉकी फीडर सेंटर और महिला एवं पुरूष हॉकी अकादमी का उल्लेख करते हुए कहा कि हॉकी के क्षेत्र में प्रदेश में जितने संसाधन हैं उतने अन्य प्रदेशों में नहीं हैं। भोपाल देश का पहला ऐसा शहर होगा जहां छह सिंथेटिक टर्फ खिलाडिय़ों के लिए उपलब्ध होंगे। इसके चलते मध्य प्रदेश को अंतर्राष्ट्रीय स्तरीय टूर्नामेंट की मेजबानी का भी अवसर मिलेगा साथ ही साथ टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बताया कि इंदौर में विलाबली तालाब को वाटर स्पोट्र्स के लिए तैयार किया जा रहा है जहां अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। इसी तरह महेश्वर में कैनो स्लालम कोर्स नर्मदा की सहस्त्रधारा पर संचालित किया जा रहा है। यहां पर्यटन की बेहतर संभावनाएं हैं। ख्ेाल मंत्री श्री पटवारी ने खेलों को पर्यटन से जोडऩे के लिए पर्यटन मंत्री श्री बघेल से सहयोग का आग्रह किया। पर्यटन मंत्री सुरेन्द्र सिंह हनी बघेल ने खेलों के क्षेत्र में किए जा रहे विकास पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए खेल मंत्री के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि खेलों के क्षेत्र में पर्यटन की बेहतर संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए खेलों को पर्यटन से जोडऩे के लिए हरसंभव कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने खिलाडिय़ों को टिप्स देते हुए कहा कि खेल ऐसी विधा है जिससे कैरियर का निर्माण होता है। बेहतर परफारमेंस के लिए कमिटमेंट बहुत जरूरी है। काम्पटीशन में सफल होने का कोई शार्टकट नहीं होता। खिलाडिय़ों को अनुशासन में रहकर खेलना चाहिए। संचालक खेल डॉ एसएल थाउसेन ने स्वागत उद्बोधन में कहा कि खेल विभाग द्वारा खिलाडिय़ों को अत्याधुनिक खेल सुविधाएं और हॉय परफारमेंस टे्रनिंग उपलब्ध कराई जा रही हैं। उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि प्रदेश के खिलाड़ी पिछले राष्ट्रीय खेलों की तुलना में आगामी राष्ट्रीय खेलों में अधिक पदक जीतकर प्रदेश को गौरवान्वित करेंगे। समारोह को हॉकी अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक राजिन्दर सिंह ने भी संबोधित किया। उन्होंने सिंथेटिक टर्फ से खिलाडिय़ों को मिलने वाले लाभ की जानकारी देते हुए बताया कि अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में खिलाड़ी इसका लाभ उठा सकेंगे। इस अवसर पर कार्यपालन यंत्री राजधानी परियोजना प्रशासन राजेश सूद, संयुक्त संचालक डॉ विनोद प्रधान एवं बीएस यादव सहित अन्य अधिकारी और बढ़ी संख्या में खिलाड़ी उपस्थित थे।