ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
भोपाल संभाग के 550 सरकारी स्कूलों की बदलेगी तस्वीर
February 20, 2020 • Vijay sharma
भोपाल । संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव द्वारा भोपाल संभाग के प्रत्येक जिले में न्यूनतम 100 शालाओं में अमूलचूल परिवर्तन लाने की पहल की गई है । इसके तहत भोपाल संभाग के 500 स्कूलों में सीएसआर एवं शिक्षा उपकर आदि के द्वारा चयनित शालाओं में अद्योसंरचना सुधार हेतु संपूर्ण कार्य जैसे कि अध्यापन हेतु अतिरिक्त कक्ष, कक्षा हेतु फर्नीचर, शौचालय, यूरिनल और बाउंड्रीवॉल आदि का निर्माण तथा छात्रों की पढ़ाई में सुविधा हेतु स्मार्ट क्लास, प्रयोगशाला, पुस्तकालय, कम्प्यूटर लैब एवं खेल सुविधा का विकास कार्य आदि किए जायेंगे । संभागायुक्त द्वारा 5 जिले रायसेन, सीहोर, राजगढ़, विदिशा एवं भोपाल की मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचयत, जिला शिक्षा अधिकारी, परियोजना अधिकारी डूडा, नगर पालिका अधिकारी एवं जिला परियोजना समन्वयक आदि के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा की गई । वीडियो कान्फे्रंस में संभागायुक्त ने कि समस्त कार्यों के 
प्राक्क्ल एवं इस्टीमेट तैयार कराई जाये और उन्हें मार्च अंत तक कार्य प्रारंभ किए जाने के लिए भी कहा है । मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत भोपाल द्वारा अवगत कराया गया कि भोपाल जिले में 11 स्कूलों में स्मार्ट क्लास प्रारंभ की गई है साथ ही 20 शालाओं में वाटर कूलर, वाटर प्यूरीफायर एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा कराया जायेगा । इसके अतिरिक्त
बीपीसीएल, इंडियन ऑयल, एनएससीएल, बीएचईएल और एलआईसी आदि पब्लिक सेक्टर प्रबंधकों के साथ बैठक की गई है एवं इनके सहयोग से और सीएसआर और अन्य मद में 50 से अधिक विद्यालयों में संपूर्ण अद्योसंरचना विकास जैसे प्रयोग शाला, लायब्रेरी, और कम्प्यूटर लैब आदि का कार्य प्रारंभ किया जा रहा है । स्मार्ट सिटी कारर्पोरेशन द्वारा 10 हाई स्कूल, हायर सेकेण्ड्री स्कूल का निर्माण किया गया है । शिक्षा उपकर इअंतर्गत भोपाल जिले में भोपाल शहर की 93 स्कूलों में मूलभूत सुविधाएं
उपलब्ध कराने के लिए निविदा की कार्यवाही प्रचलन में है । जिला रायसेन में रवीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय के माध्यम से 13 स्कूलों में कम्प्यूटर एवं साइंस लैब तैयार कराई जा रही है जिसके साथ ही 27 स्कूलों में विभिन्न कार्य चयनित किए गए हैं जिसमें सीएसआर के माध्यम से विभिन्न उद्योगों एवं पब्लिक सेक्टर का सहयोग लेते हुए 2.24 करोड़ का कार्य करवाए जायेंगे । नगरीय क्षेत्रों एवं नगर पालिका में 99 लाख रूपये लगभग 50 विद्यालयों में अद्योसंरचना के कार्य किए जायेंगे । सीहोर जिले में माइनिंग फंड एक करोड़ 40 लाख शालाओं सीएसआर फंड से कार्य कराने के लिए बड़े उद्योगों के प्रबंधकों के साथ जिला प्रशासन द्वारा बैठक की गई है जिसमें उद्योगों ने सीएसआर फंड से कार्य करवाने की स्वीकृति प्रदान की है । एक करोड़ 54 लाख रूपये शिक्षा उपकर में उपलब्ध है जिसमें 14 प्राथमिक, माध्यमिक एवं 12 हाई स्कूल हायर सेकेण्ड्री स्कूलों में मूलभूत परिवर्तन जाना के लिए तैयारी की जाए। राजगढ़ जिले में ईसीजीसी द्वारा 32 स्कूलों में सीएसआर फंड में से स्मार्ट क्लास निर्मित की गई है अन्य 32 स्कूलों में फर्नीचर प्रदाय करने के प्रस्ताव ईसीजीसी अंतर्गत स्वीकृत किए गए हैं । शिक्षा उपकर अंतर्गत 1.50 करोड़ रूपये से 74 लाख रूपये के कार्य विद्यालयों में करवाए जायेंगे। सांसद एवं विधायक निधि से भी बड़े पैमाने पर विद्यालयों में फर्नीचर, लायब्रेरी, प्रयोगशाला और बाउंड्रीवाल आदि के कार्य कराने की योजना बनाई गई है । जिला विदिशा में 48 शालाओं में शिक्षा उपकर के माध्यम से शौचालय, यूरिनल, पेयजल व्यवस्था, साइंस लैब, कम्प्यूटर लैब के कार्य प्रारंभ किए गए हैं । ल्यूपिन कंपनी के 9 शालाओं में एवं 10 शालाओं में विधायक निधि से स्मार्ट क्लास प्रारंभ किए गए हैं । डीसीआईएल के सहयोग से 70 शालाओं में स्मार्ट क्लास बनाई जायेगी ।