ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
छतरपुर जिले की भाजपा में भड़की विद्रोह की चिंगारी
August 25, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

छतरपुर । कांग्रेस का दामन छोड़कर भाजपा में शामिल हुए प्रदुम्न सिंह लोधी को कैबिनेट मंत्री का दर्जा और खाद्य आपूर्ति निगम का अध्यक्ष बनाये जाने के बाद अब छतरपुर जिले की भाजपा में विद्रोह की आग भड़क उठी है। बड़ामलहरा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी रहे लोधी से पराजित भाजपा की उम्मीदवार और पूर्व मंत्री ललित यादव के विरोध के बाद भाजपा की पूर्व विधायक रेखा यादव ने भी पार्टी से बगावत का ऐलान कर दिया है। रेखा यादव दो बार विधायक रह चुकी हैं। इस बार वे बड़ामलहरा से टिकट चाहती हैं। लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की उपेक्षा के चलते कभी भी कांग्रेस का दामन थाम सकती हैं। रेखा यादव मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष से मुलाकात के बाद खुश नही हैं। जानकारी है कि श्रीमती यादव की कमलनाथ से मुलाकात भी हो चुकी है। यदि यह भाजपा का दामन छोड़ती हैं तो भाजपा के लिए उपचुनावों के बीच बड़ा झटका लगेगा। बड़ामलहरा विधानसभा सीट यादव बाहुल्य सीट है। इसलिए यादवों की नाराजगी भाजपा को भारी पड़ सकती है। पूर्व विधायक रेखा यादव पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती की खास रही हैं। उमा  की जनशक्ति पार्टी से यह विधायकभी रह चुकी हैं। इस क्षेत्र में सघन जन सम्पर्क और सीधे साधे स्वभाव के चलते जनता के बीच पकड़ बरकरार है। बकौल रेखा यादव - भाजपा की अनदेखी से मन खट्टा हो गया है। भजपा के लिए मैं जी जान से समर्पित रही लेकिन अब अपनी अनदेखी वर्दाश्त नही करूंगी। यदि मुझे टिकट नही दिया गया तो पार्टी छोड़ने का निर्णय लूंगी। दरअसल,रेखा का कांग्रेस से पुराना नाता है। इनकी ननद उमा यादव भी कांग्रेस से बड़ामलहरा क्षेत्र से विधायक रह चुकी हैं। इसलिए यदि वे कांग्रेस में जाती हैं,तो हैरानी की बात नही होगी। वहीं कांग्रेस यदि रेखा यादव को बड़ामलहरा से उम्मीदवार बनाती है तो भाजपा को सीट बचाना मुश्किल होगा।