ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
दी गई परीक्षा के आधार पर बचे हुए पेपर के नंबर दे दिए जाएं: प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन
April 18, 2020 • Admin

भोपाल। प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण से लॉकडाउन के चलते हाईस्कूल व हायरसेकेंडरी के उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन करने के लिए कहा गया है साथ इन्हीं के आधार पर शेष परीक्षाओं में नंबर दिए जाने के लिए मांग की है। जिससे सभी बच्चे आगे की पढ़ाई की शुरूआत कर सकें। मध्यप्रदेश में कोरोना लगातार बढ़ता जा रहा है जिससे संपूर्ण मध्य प्रदेश में स्थिति नाजुक होती जा रही है पूरा प्रदेश इससे प्रभावित हो रहा है। कोरोना के कारण मध्यप्रदेश में सब कुछ बंद पड़ा है पूरा जीवन रुक सा गया है कोरोना के इस दुष्प्रभाव से प्रदेश के बच्चे भी बुरी तरह प्रभावित हैं पहली से आठवीं तथा नवी एवं 11वीं की परीक्षा नहीं हुई। बच्चों को कक्षा उन्नति कर दिया गया। 10वीं एवं 12वीं के लाखों बच्चे परीक्षा रुक जाने के कारण अधर में हैं एैसे बच्चे अभी कुछ सोच भी नहीं पा रहे हैं कि क्या किया जाए घर में लगातार रहने से बच्चे परेशान हैं। अभी बोर्ड कक्षाओं का मूल्यांकन कार्य शुरू नहीं हुआ है। 3 मई तक लॉक डाउन की स्थिति फिलहाल बनी हुई ह।ै आगे क्या होगा कुछ पता नहीं है। ऐसे में कक्षा 10वीं एवं 12वीं के बच्चों के भविष्य के बारे में भी मध्य प्रदेश सरकार को सोचना चाहिए । यदि बच्चे वर्तमान भारत के भविष्य हैं सर्वप्रथम इनके भविष्य के बारे में कोई निर्णय लेना होगा। प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन मांग करता है कि इन बच्चों  की जिन विषयों की परीक्षा हो गई है उन विषयों का मूल्यांकन शुरू करा दिया जाए और जिन विषय की परीक्षा नहीं हुई है दिए गए परीक्षा के आधार पर बचे हुए पेपर के नंबर दे दिए जाएं ताकि बच्चों का भविष्य सुरक्षित रहे और बच्चे निश्चिंत होकर आगे की तैयारी कर सकें मध्य प्रदेश सरकार एवं शिक्षा विभाग को इस मुद्दे पर गंभीरता से विचार कर छात्र हित में बचे हुए पेपर के औसत अंक देकर बच्चों को चिंता मुक्त किया जाए ।