ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
देश की अखंडता और एकता के लिए डॉ मुखर्जी ने जीवन किया बलिदानः सुमित पचौरी
June 30, 2020 • Admin

डॉ. मुखर्जी ने जो संकल्प लिया वह मोदी जी ने पूरा किया: कृष्णा गौर

प्रदेश कार्यालय में मंडल पदाधिकारियों का वर्ग संपन्न

भोपाल। देश की अखंडता और एकता के लिए डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने अपना जीवन बलिदान कर दिया। उनसे प्रेरणा लेकर हमको भी भारत मां के प्रति अपने कर्तव्य निभाना है। यही भारतीय जनता पार्टी के प्रत्येक सदस्य का लक्ष्य होना चाहिए। यह बात भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी ने प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर में आयोजित मंडल के पदाधिकारियों के प्रशिक्षण वर्ग में कही। इस दौरान डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी के जीवन से जुड़ी प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया गया। श्री पचौरी ने कहा कि प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और पार्टी नेतृत्व पूरी दृढ़ता के साथ देश के लिए काम कर रहा है, हम सब उसके प्रवक्ता हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि यहीं बात आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में कही है। उन्होंने कहा है कि लोकल को वोकल बनाने का मतलब यह है कि हम देश के लोकल को किस प्रकार से पूरे विश्व में प्रचार दिला सकते हैं। सुमित पचौरी जी ने बताया कि 29 मंडलों के अलग-अलग वर्ग का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य वक्ताओं सुश्री सरिता देशपांडे, सतीश विश्वकर्मा, बारेलाल अहिरवार ने भी संबोधित किया। मिसरोद और साकेत मंडल के वर्ग में मुख्य वक्ता विधायक श्रीमती कृष्णा गौर ने बताया कि अनुच्छेद 370 हटाने के लिए सबसे पहले डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने संघर्ष किया था। कांग्रेस की सरकार ने आपातकाल के समय लाखों कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित किया। इससे कार्यकर्ताओं को प्रेरणा मिलती है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनसंघ में डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने कश्मीर से धारा-370 हटाने का संकल्प लिया था उसे आज देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने दृढ़ इच्छाशक्ति की बलबूते पर हटा दिया।