ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
देश सरकार से नहीं संस्कार से बनता है: मोदी
February 16, 2020 • Vijay sharma
वाराणसी के जंगमवाडी मठ में प्रधानमंत्री का जोशीला संबोधन
वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश सिर्फ सरकार से नहीं बनता बल्कि एक-एक नागरिक के संस्कार से बनता है। नागरिक के संस्कार को उसकी कर्तव्य भावना श्रेष्ठ बनाती है। एक नागरिक के रूप में हमारा आचरण ही भारत के भविष्य को तय करेगा, नए भारत की दिशा तय करेगा। वे आज  वाराणसी के जंगमबाड़ी मठ में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने हर-हर महादेव कहकर लोगों को संबोधित करना शुरू किया। 
वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव जीतने के बाद नरेंद्र मोदी का यह दूसरा दौरा है। अपने इस दौरे में पीएम नरेंद्र मोदी कई विकास योजनाओं, अस्पतालों और पर्यटन से जुड़ी योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण कर रहे हैं। जंगमवाडी मठ में उन्होंने पूजा-अर्चना की और भगवान की आरती उतारी। वहां उन्होंने सिद्धार्थ सीखवाणी ग्रंथ का 19 भाषाओं में रूपांतरण का विमोचन किया और एप लॉन्च किया। यहां मंच पर प्रधानमंत्री के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, कर्नाटक के मुख्यमंत्री सीएम वीएस येदुरप्पा, जगद्गुरु शिवाचार्य डॉ चंद्रशेखर, भी मौजूद रहे। पीएम मोदी ने कहा कि जंगमवाड़ी मठ भावात्मक और मनोवैज्ञानिक रूप से वंचित साथियों के लिए प्रेरणा का माध्यम है। संस्कृत भाषा और दूसरी भारतीय भाषाओं को ज्ञान का माध्यम बनाते हुए, टेक्नॉलॉजी का समावेश आप कर रहे हैं, वो भी अद्भुत है। पीएम मोदी ने कहा कि सरकार का भी यही प्रयास है कि संस्कृत सहित सभी भारतीय भाषाओं का विस्तार हो, युवा पीढ़ी को इसका लाभ हो।
बड़े-बड़े अभियानों को सिर्फ सरकार के भरोसे नहीं चलाया जा सकता
पीएम मोदी ने कहा कि मठों द्वारा दिखाए रास्ते पर चलते हुए, संतों द्वारा दिखाए रास्ते पर चलते हुए, हमें अपने जीवन के संकल्प पूरे करने हैं और राष्ट्र निर्माण में भी अपना पूरा सहयोग करते चलना है। जिस प्रकार काशी और देश के युवाओं ने स्वच्छ भारत अभियान को देश के कोने-कोने में पहुंचाया है वैसे ही और संकल्पों को भी हमें देशभर में पहुंचाना है। मैंने लाल किले से भी आग्रह किया था कि हमें वो सामान खरीदने को प्राथमिकता देनी चाहिए जो लोकल में बना हो। देश में बड़े-बड़े अभियानों को सिर्फ सरकार के भरोसे नहीं चलाया जा सकता, इसके लिए जनभागिदारी बहुत आवश्यक है। बीते 5-6 वर्षों में अगर गंगाजल में अभूतपूर्व सुधार देखने को मिल रहा है तो इसके पीछे भी जनभागीदारी का बहुत महत्व है
पीएम मोदी ने कहा कि राम मंदिर से जुड़ा एक और बड़ा फैसला सरकार ने किया है। अयोध्या कानून के तहत जो 67 एकड़ जमीन अधिगृहित की गई थी, वो भी पूरी की पूरी, नवगठित श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को ट्रांसफर कर दी जाएगी। जब इतनी बड़ी जमीन होगी तो मंदिर की भव्यता और दिव्यता और बढ़ेगी। 
पीएम मोदी ने कहा कि कुछ दिन पहले ही सरकार ने राम मंदिर निर्माण के लिए एक स्वायत्त ट्रस्ट- 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्रÓ के गठन करने की भी घोषणा की है। ये ट्रस्ट अयोध्या में भगवान श्रीराम की जन्मस्थली पर, भव्य और दिव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण का काम देखेगा और सारे निर्णय लेगा। 
विमानतल पर स्वागत
इसके पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वायुसेना के विशेष विमान से 10.25 बजे वाराणसी एयरपोर्ट पहुंचे। वहां उनका स्वागत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, मंत्री नीलकंठ तिवारी, राज्य मंत्री अनिल राजभर, मेयर मृदुला जायसवाल, मछलीशहर सांसद बीपी सरोज, पिंडरा विधायक अवधेश सिंह ने किया।