ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
धार्मिक स्थलों पर एनाउंसमेंट के माध्यम से लोगों को जागरूक करें: लवानिया
July 16, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

डिसिप्लिन और डिस्टेंस से हम कोरोना संक्रमण को हरा सकते हैं 

जिला-प्रशासनधर्म गुरुओं के साथ बैठक संपन्न 

भोपाल। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी  अविनाश लवानिया ने सभी धर्म गुरुओं से कहा है कि धार्मिक स्थलों पर भीड़ इकठ्ठी नही होने दें, इस बारे में शहर के नागरिकों को समझाईश दें। सभी धार्मिक स्थलों से एलाउंसमेंट कर लोगों को कोरोना संक्रमण के बचाव के बारे में जागरूक करें सोशल डिस्टेंसिंग नियमों का पालन कराये,  घर से बाहर निकलने के पहले मॉस्क अनिवार्य रूप से लगाने के बारे में बतायें। सभी लोग हाथों को बार-बार साबुन धोये अथवा सैनेटाइज करते रहें। यह बात उन्होंने सभी धर्म गुरुओं की कलेक्ट्रेट कार्यालय सभाकक्ष में संपन्न हुई बैठक में कही।कलेक्टर ने सभी धर्म गुरुओं से चर्चा के दौरान कहा है कि धार्मिक स्थलों पर सभी व्यापक इंतजाम सुनिश्चित किए जाएं। वर्तमान परिदृश्य में शहर में प्रतिदिन कोरोना से संक्रमित मरीजो की संख्या में इजाफा हो रहा है, जिसके चलते आने वाले समय में शहर के कुछ क्षेत्रों में लॉकडाउन की स्थिति निर्मित हो सकती है। इब्राहिम गंज में भी अभी लॉक डाउन चल रहा है। इसके दृष्टिगत सभी धर्म गुरु लोगों को समझाईश दें कि वह अत्यावश्यक होने पर ही मंदिर,  मस्जिद,  चर्च,  गुरुद्वारे पर आये और केवल दूर से ही दर्शन या इबादत करें, जहाँ तक संभव हो घर पर ही रह कर पूजा-अर्चना और इबादत करें। कलेक्टर श्री लवानिया ने कहा कि डिसिप्लिन और डिस्टेंस से हम कोरोना को हरा सकते हैं। इसके लिए बस सावधानी ही एक मात्र उपाय है। उन्होंने सभी धर्म गुरुओं से अपील कि वे अपने-अपने समुदाय विशेष में धार्मिक स्थलों में सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के लिए चर्चा करें। उन्होंने सभी धर्म गुरुओं को शासन-प्रशासन द्वारा उठाये गए एहतियातन कदम के बारे में भी अवगत कराया गया। सभी धर्म गुरु अपील करें कि समस्त त्यौहार घर पर ही मनायें और परिवार के साथ घर पर ही खुशियां बांटे, सर्दी, खांसी, बुखार होने पर तुरन्त पास के फीवर क्लीनिक में जाये और नि:शुल्क जांच कराए। कलेक्टर ने कहा कि आगामी समय में कई तीज-त्यौहार के मौके पर बाजारों, तीर्थ स्थलों पर भीड़-भाड़ बढ़ने की आशंका है। साथ ही मोहर्रम, बकरी ईद और रक्षाबंधन त्यौहार के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन हो यह सुनिश्चित किया जाए। डीआईजी इरशाद वली ने भी सभी धर्म गुरुओं से कहा है कि वह आम नागरिकों को समझाईश दें, धार्मिक स्थलों के आस-पास माला, प्रसाद और अन्य वस्तुओं को बेचने वालों को खड़ा नही होने दे। मॉस्क अनिवार्य रूप से लगाएं। उन्होंने कहा की कोविड-19 में जारी एसओपी और गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों पर धारा 144 के आदेश के उल्लंघन की कार्रवाई की जाएगी।बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने, आगामी चुनौतियों से कैसे लड़े और संक्रमण काल में इस विपदा से धार्मिक स्थलों और समाज को कैसे बचाया जा सकता है पर चर्चा की गयी।बैठक में अपर मजिस्ट्रेट सतीश कुमार एस, आशीष वशिष्ठ, उमराव मरावी,  सीईओ जिला पंचायत विकास मिश्रा,  पुलिस अधीक्षक सहित विभिन्न धर्मों के धर्मगुरु सैयद मुश्ताक अली नदवी, काजी सैयद बाबर, डॉ. फ्रांसिस शाजी आर्च बिशप, महंत कृष्णानंद आचार्य, गुरुद्वारा समिति के अमरीक सिंह सहित अन्य धर्म गुरु उपस्थित थे।