ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
दो पहिया वाहन चोर गिरोह गिरफ्तार
August 15, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

भोपाल । राजधानी पुलिस द्वारा शुक्रवार को चोरी के वाहन को अलग अलग कर कबाड़ियों को बेचने वाले गिरोह को गिरफ्तार किया गए जिनसे चोरी गए वहां के पार्टस व मोटरसाईकल बरामद की गई। राजधानी पुलिस द्वारा बढते अपराधो की रोकथाम एवं वाहन चोरी को रोकने हेतु अभियान चलाया जा रहा था। इसी तारतम्य में नागेन्द्र पटेरिया नपुअ. के निर्देशन मे एक टीम थाना प्रभारी टीला के गठित की गई । उक्त टिम द्वारा 11 अगस्त  को शातिर वाहन चोर शाहवाज पिता रफीक को गिरफ्तार कर वाहन चोरी का खुलासा किया गया था।पुलिस की पूछताछ में आरोपी शावेज ने अन्य साथीयो शाहिद एंव अनस के साथ मिलकर वाहन चोरी की घटना को अंजाम देना बताया। आरोपी शाहवेज की निशादेही पर उसके साथी आरोपी अनस अली पिता इरशाद अली जहांगीराबाद, शाहिद पिता सादिक निशातपुरा को गिरफ्तार कर पूछताछ किया जिन्होने पूछताछ पर आरोपी शाहवेज के साथ मिलकर सभी चोरीयो मे शामिल होना स्वीकार किया। आरोपियों ने बताया कि वाहन चोरी कर शाहवेज के घर पर वाहन के पार्टस तीनो मिलकर तत्काल खोल लेते थे ।आरोपियो द्वारा चोरी किये गये वाहनो के पार्टस कबाड खाना स्थित व्यवसायी निसार पिता मुबारिक को बैचना बताया। उक्त कबाड़ी ने पूछताछ में आरोपियो से सामान चोरी करना स्वीकार किया जिसके पास से चोरी किये वाहनो के पार्टस जब्त किया गया। प्रकरण में आरोपी शाहिद पिता शादिक से जप्त वाहन क्रमांक MP04/NB3107 को VDP पोटल से सर्च करने पर उक्त वाहन मे लगे इंजन व चैचिस नम्बर का मिलान नही होने से इंजन व चैचिस नम्बर से वाहन स्वामी का नाम सर्च किया। वाहन पर लगी नम्बर प्लेट,वाहन मे लगा इंजन नम्बर एंव वाहन के चैचिस नम्बर से सर्च करने पर तीन अलग अलग वाहन स्वामीयो के नाम पर होना पाया गया। आरोपी शाहावेज पुर्व मे कबाडखाना मे एक कबाडी की दुकान पर नौकरी करता था जिसके द्वारा गाडीया खरिद कर स्क्रेप का कार्य किया जाता था वही पर नौकरी करते हुए आरोपी शाहवेज ने गाडीयो के पार्टस खोलना एंव उनको अलग अलग करने का कार्य पुरी तरह से सीख लिया था । उसी का फायदा उठाते हुए आरोपी शाहवेज ने आन्य साथी शादिक व अनस के साथ गैंग बना कर वाहन चोरी कर वाहनो के पार्टस अलग करने का कार्य किया। उक्त चारो आरोपीयो को गिरफ्तार कर  न्यायालय पेश किया गया। आरोपीयो द्वारा बताई गई जानकारी के आधार पर कबाडखाना में ऐसे व्यवसायी जो RTO की अनुमति के बिना वाहनो की स्क्रेप का काम करते है ऐसे व्यवसायीयो की जांच की जा रही है।