ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
ईनामी बदमाशों को शहर कोतवाली पुलिस किया गिरफ्तार
July 26, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

भिण्ड। पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह द्वारा चलाये जा रहे धर पकड़ अभियान के तहत लगातार पुलिस को सफलता दर सफलता मिलती जा रही है, उसी, के चलते एक और सफलता हाथ लगी है, जहाँ बीस हजार रूपये के ईनामी बदमाशों को मुखबिर की सूचना पर धर दबोचा लिया गया।प्रेस को दी गई जानकारी के अनुसार बताया कि 16 अगस्त 2019 को बरोही थाना क्षेत्र के अंतर्गत उस समय सनसनी फैल गई जब उक्त आरोपीगण बल्लू उर्फ रविन्द्र परिहार, फकरन उर्फ योगेन्द्र परिहार, पंकज परिहार, घोंचे उर्फ रवि परिहार, उपेन्द्र परिहार द्वारा संयुक्त रूप से एक राय होकर मृतक गोविन्द भदौरिया को लायसेंसी बन्दूकों एवं कट्टों से मारते हुए हत्या कर दी थी, और घटनास्थल से फरार हो गये। बरोही पुलिस ने घटनास्थल पर  पहुँचकर आरोपीगणों के खिलाफ अपराध क्रमांक 88/19 धारा 302, 294, 323, 34 भादवि एवं 25/27 आम्र्स एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर आरोपीगणों की सरगर्मी से तलाश प्रारम्भ कर दी। आरोपीगणों को गिरफ्तार हेतु कई ठिकानों पर दविश दी, लेकिन आरोपीगण हर बार अपना निवासस्थान बदलते रहे, चूँकि आरोपीगण दबंग होने के कारण उनकी सही से लोकेशन नहंी मिल पा रही थी, तभी पुलिस अधीक्षक द्वारा उक्त आरोपीगणों की गिरफ्तारी हेतु ईनाम भी घोषित किये गये। तभी आज मुखबिर की सटीक सूचना मिली कि आरोपीगण पंकज परिहार बरूआ नगर के घर में छिपे हुये हैं तभी शहर कोतवाली प्रभारी उदयभान सिंह यादव एवं अमायन थाना प्रभारी शिवप्रताप सिंह राजावत, एवं बरोही थाना प्रभारी सौरभ तिवारी को बदमाशों को दबोचने के निर्देश दिये गये। तभी पुलिसबल ने बरूआ नगर में पंकज परिहार के घर की घेराबंदी कर तीनों बदमाशों को धर दबोचा, पुलिस ने बारी-बारी से तीनों के नाम पूछने पर अपने नाम बल्लू उर्फ रविन्द्र परिहार पुत्र बाबू सिंह परिहार, पंकज पुत्र शिवमंगल सिंह परिहार, उपेन्द्र उर्फ कैमू पुत्र मथुरा सिंह परिहार निवासीगण गोपालपुरा थाना बरोही बताया।  आरोपी बल्लू ने हत्या में प्रयोग की 315 बोर की बन्दूक भी पुलिस ने बरामद की। एवं अन्य हथियारों की बरामदगी हेतु पूछताछ की जा रही है। आरोपीगणों को दबोचने में शहर कोतवाली प्रभारी उदयभान सिंह यादव, अमायन थाना प्रभारी शिवप्रताप सिंह राजावत, सौरभ तिवारी, जितेन्द्र तोमर, आरक्षक सतेन्द्र भदौरिया, आरक्षक सतेन्द्र यादव, आरक्षक गौरव मिश्रा, जितेन्द्र यादव, राहुल यादव, यतेन्द्र राजावत, त्रिवेन्द्र सिंह, आनंद दीक्षित, महेश कुमार, रीता तोमर की विशेष भूमिका रही।