ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
एक घंटे के अंदर धरदबोचा लूट के आरोपियों को
March 22, 2020 • Admin

ईदौर। अन्नपूर्णा थानान्तर्गत  रेरडीमेन्ट गारमेन्ट का व्यवसाय राजवाडा  शिवनारायण पोरवाल को उधारी देने के बहाने बुलाकर  लूटपाट की घटना की शिकायत की गई। जिसपर कार्यवाही करते हुए  गिरफ्तार किया गया । प्राप्त जानकारी अनुसार शानिवार  फरियादी ने अपनी उधारी लेने के लिए आरोपियों को दोपहर 2 बजे करीबन फोन किया था कि पैसा वापस कर दो आरोपी ने गुरूद्वारा के पास शाम करीब 4 बजे बुलाया जहाँ मुझे बलराम मिला जो बोला कि हरसिध्दी के पास से  लेकर तुम्हारे पैसे दूंगा और वह मुझे अपनी बिना नम्बर की एक्टिवा से हरसिध्दी पुल के पास ले गया और एक्टिवा रोक दी । बाद वहाँ एक महिला आयी जिसने मुझसे पूछा कि छत्रीपुरा थाना किधर है तो मैने बोला कि त्रिलोकचंद स्कूल के पास है और मै आगे बता ही रहा था कि वो मेरे उपर आ गयी और बोली कि तुम मुझे छेड रहे हो और इतने में बलराम उस महिला से बोला कि आरती पीछे बैठो महिला थाने चलते है और दोनो मुझे लेकर लाल बाग में सुनसान जगह में पेडो के पास ले गये और बलराम ने बोला कि जितने पैसे है दे दे नही तो चाकू मार दूंगा तथा वह आरती नाम की महिला ने मुझे थप्पड मारे तथा बोली कि अपना टी शर्ट फाड कर हंगामा करके तुझे फंसा दूंगी तथा बलराम ने मेरे जेब से पांच सौ पांच सौ के करीब दस बारह नोट एवं नोटो के बीच में रखा मेरा आधार कार्ड निकाल लिये तथा मुझसे और पैसो की मांग करने लगे तो मै डर गया और बोला कि मुझे लाबरिया भेरूले चलो वहाँ से दिलवा दूंगा तो फिर मुझे वो लाबरिया भेरू लेकर गये जहाँ मै अपने मित्र अजय शर्मा की दुकान पर गया जहाँ से बलराम तथा आरती वर्मा भीड भाड देखकर भाग गये । इस प्रकार बलराम व आरती ने मिलकर मेरे साथ लूटपाट की है । ससुर व साले समझाने के बाद थाने पर रिपोर्ट करने आया हूँ ।  फरियादी की रिपोर्ट पर 394/34 भादवि का कायम कर विवेचना में लिया गया । थाना प्रभारी सतीश द्विवेदी  टीम बनाकर लूट के आरोपियों को पकड़ने हेतु रवाना किया। उक्त टीम के द्वारा तत्पर्तापूर्वक घटना को गंभीरता से लेते हुये मुखबिरों को एक्टिव किया गया तथा मुखबिर से सूचना मिलते ही एक घंटे के भीतर दोनों आरोपियों बलराम चांडक इंदौर व आरती वर्मा  को मय लूटे गए मश्रुका 4500 रूपए व फरियादी का आधार कार्ड व घटना में प्रयुक्त एक्टिवा जप्त की गई व गिरफ्तार किया जाकर न्यायालय समक्ष पेश किया गया ।