ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
एसडीएम के साथ भद्रता का मामला शनिवार को सभी संघों ने की हड़ताल की घोषणा
September 21, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

कर्मचारी संगठन भी आए साथ
भोपाल ।  किसान मजदूर संघर्ष के द्वारा निकाली गई पदयात्रा के दौरान छिंदवाड़ा जिले में अनुविभागीय अधिकारी चोरई के साथ कालिख पोतने को लेकर पूरे प्रदेश के राजस्व विभाग के कर्मचारी संगठन, डिप्टी कलेक्टर संगठन दो दिनों की हड़ताल पर है।
ऐसा प्रदेश में पहली बार नहीं हुआ है। इससे पहले भी इसी घटनाएं हो चुकी हैं। लेकिन सरकार ने इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति ना हो के संबंध में कोई ठोस कदम नहीं उठाए है।यह एक राजनीतिक मुद्दा नहीं है। छिंदवाड़ा जिले चोरई  के एसडीएम सी पी पटेल को ज्ञापन देना तो महज एक दिखावा था असल में तो इसी घटना को करने आए थे। जो एक शर्मनाक है।
राजनीति कारण के चलते नहीं  हुए सुरक्षा के उपाय
ऐसा लगता है कि इस तरह की घटनाओं के लिए सभी  सरकारें कभी गंभीर नहीं रही । क्यों की इस तरह के ज्ञापन ऑर पद यात्रा तो सभी सरकार के नेता करते आ रहे हैं । अपनी निजी विवाद को इस तरह से आड लेकर पूरा किया जाता है। नहीं तो सरकार चाहे तो इस तरह की कोई भी घटना कभी ना हो। कभी कोई पार्टी विपक्ष में तो कभी कोई विपक्ष में । सभी छूट भय्ये नेता  इस तरह की घटनाओं के माध्यम से अपनी राजनीति चमकाने चाहते हैं जिस में वह सफल भी रहते आए हैं। फिर नेता क्यों चाहेंगे इनकी सुरक्षा बढ़ाने।
इसघटना को लेकर पटवारी संघ, राजस्व निरीक्षक संघ, नायब तहसीलदार संघ, तहसीलदार संघ, डिप्टी कलेक्टर संघ, कर्मचारी अधिकारी संघ भी इनके साथ है।
   मध्य प्रदेश राजस्व अधिकारी संघ के द्वारा कई स्तर पर चर्चा की गई जिसमें यह निर्णय लिया गया है कि छिंदवाड़ा की घटना एक कार्यपालिक मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य करते हुये घटित हुई है जो किसी भी राजस्व अधिकारी के साथ हो सकती है। कनिष्क राजस्व अधिकारी संघ घटना की निंदा करता है एवम एस ए एस को नैतिक समर्थन करते हुये 2 दिन सामूहिक अवकाश की घोषणा करता है। संघ की ओर से इस संबंध में एक ज्ञापन/सूचना पी एस को भेज दिया गया है ।