ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
गियरिंग अप फॉर 5 ट्रिलियन यूएस डॉलर इकोनॉमी विषय पर एक एक्सक्लूसिव नॉलेज शेयरिंग सेमिनार आयोजित
February 22, 2020 • Vijay sharma
एक्सिस बैंक ने एमएसएमई के लिए लॉन्च किया इवॉल्व का छठा संस्करण
बैंक ने एमएसएमई के लिए विभिन्न शहरों में नॉलेज सीरीज का आयोजन करने के लिए डन एंड ब्रैडस्ट्रीट के साथ की भागीदारी
भोपाल। भारत में निजी क्षेत्र के तीसरे सबसे बड़े बैंक एक्सिस बैंक ने आज बैंक के माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (एमएसएमई) ग्राहकों के लिए एक एक्सक्लूसिव नॉलेज शेयरिंग सेमिनार 'इवॉल्व' के छठे संस्करण का आयोजन किया। इस वर्ष इवॉल्व में खास तौर पर इस बात पर फोकस रहेगा कि सरकार के 5 ट्रिलियन यूएस डॉलर इकोनॉमी वाले दृष्टिकोण को हासिल करने में किस तरह एमएसएमई महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। सेमिनार श्री सुधाकर पै, प्रबंध निदेशक कुर्लोन एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने संबोधित किया, जिन्होंने इस मिशन को प्राप्त करने की दिशा में कदम उठाने के बारे में अपने अनुभव और विशेषज्ञता को साझा किया। लॉन्च के दौरान एक्सिस बैंक के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट-कॉमर्शियल बैंकिंग कवरेज ग्रुप  मोहित जैन ने कहा हम अपने सभी एमएसएमई और एसएमई ग्राहकों के लिए इवॉल्व के छठे संस्करण का आयोजन करते हुए रोमांचित अनुभव कर रहे हैं। यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जहां एमएसएमई और एसएमई उद्योग के विशेषज्ञों के साथ बातचीत कर सकते हैं और बहुत कुछ सीख सकते हैं। यह अनुमान लगाया गया है कि एमएसएमई वर्तमान में भारत की जीडीपी में 30 प्रतिशत योगदान देते हंै, लेकिन निश्चित रूप से इस शेयर को लगभग 50 प्रतिशत के लक्ष्य तक ले जाने की आवश्यकता है। इस निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए, एमएसएमई को वित्त वर्ष 19-वित्त वर्ष 25 के बीच तेजी से बढऩे की आवश्यकता होगी। हमारे छठे संस्करण में, हम एमएसएमई को शिक्षित करने का लक्ष्य रखते हैं, न केवल उनके प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए, बल्कि उनकी वास्तविक क्षमता को भी अनलॉक करते हैं और 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था से जुड़े दृष्टिकोण में योगदान करते हैं। भारत में लगभग 63 मिलियन एमएसएमई हैं (आरबीआई के अनुमान के अनुसार), पंजीकृत और अपंजीकृत दोनों, जो कि भारत में कुल उद्यमों की संख्या के 90 प्रतिशत के मूल्यांकन के अनुसार है। इन एमएसएमई द्वारा किए गए राजस्व योगदान से निश्चित रूप से भारतीय अर्थव्यवस्था में भारी बदलाव आएगा। भारत में एमएसएमई में क्षेत्रीय असमानताओं को कम करने और दूरस्थ तथा पिछड़े क्षेत्रों में व्यवसाय स्थापित करने और इन्हें संचालित करने की प्रक्रिया के माध्यम से धन के वितरण को संतुलित करने की क्षमता है। सतत और संवर्धित सीखने के साथ, हम एसएमई और एमएसएमई को सही ज्ञान के साथ सशक्त बनाना चाहते हैं जो उन्हें अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने और उद्यमियों की निर्बाध वृद्धि और प्रगति के लिए प्रेरित कर सके। एक्सिस बैंक अपने नॉलेज पार्टनर डन एंड ब्रैडस्ट्रीट के साथ मिलकर मुंबई, दिल्ली, जयपुर, भोपाल, लखनऊ, कोच्चि, भुवनेश्वर, कोयम्बटूर आदि जैसे 26 शहरों में इवॉल्व का आयोजन करने जा रहा है। नॉलेज सीरीज के प्रत्येक सत्र में नए युग की रणनीतियों, परिचालन विशेषज्ञता, नियामक ढांचे की समझ और कौशल विकास की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए जरूरी अध्ययन जैसे विषयों को शामिल किया जाएगा। 'इवॉल्व' को पहली बार 2014 में लॉन्च किया गया था, और इस साल हम विभिन्न शहरों में 5000 से अधिक ग्राहकों तक पहुंचने की योजना बना रहे हैं।