ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
हमीदिया अस्पताल प्रबंधन बेहतर उपचार पद्धति से मौतें रोकने की रणनीति बनाए : कियावत
August 17, 2020 • Admin • स्वास्थ्य

भोपाल । प्रदेश के अन्य जिलों से भोपाल रेफर होकर आने वाले कोरोना मरीजों के बेहतर उपचार के लिए उन जिलों के सीएमएचओ और भोपाल के चिकित्सकों का नेटवर्क बनाया गया है । अब मरीज के भोपाल के अस्पताल पहुंचने के पहले ही जरूरी उपचार के लिए टीम तैयार रहेगी ।  संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत ने आज हमीदिया अस्पताल परिसर में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की समीक्षा की । समीक्षा के दौरान उन्होंने डीन हमीदिया डॉ. अरूणा कुमार और अधीक्षक हमदिया डॉ. आई.डी.चौरसिया को निर्देशित किया कि अन्य जिलों से आने वाले कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के लिए रेफरल प्रोटोकाल का पालन सुनिश्चित किया जाये जिससे डेथ रेट में कमी लाई जा सके । हमीदिया का मौजूदा रिकवरी रेट 78 प्रतिशत है । बैठक में श्री कियावत ने कहा कि डेथ रेट में कमी लाने के लिए प्रत्येक कोरोना संक्रमित मरीज के केस शीट की स्टडी की जाए ताकि मरीज की पूरी कोविड हिस्ट्री पता कर बेहतर उपचार किया जा सके । उन्होंने कहा कि प्राय: 11 जिलों के मरीज रेफर होकर आते हैं और जिले के मान से नोडल अधिकारी तैनात किया जाए । जो संबंधित् जिले के सीएमएचओ से रेफर होने वाले मरीज के लक्षण आदि पर चर्चा कर पहले से उपचार की तैयारियां करेंगे । उन्होंने कहा कि इस नेटवर्क से कईं जिंदगियां बचाई जा सकती है । भोपाल में जिन मरीजों की मृत्यु हुई है उनमें से करीब 60 प्रतिशत अन्य जिलों के हैं । उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमित भर्ती मरीजों को मनाचिकित्सकों द्वारा मोटीवेट किया   जाये । उन्हें समझाईश दी जाए कि यह कोई गंभीर बीमारी नहीं है । त्वरित इलाज से इस बीमारी को ठीक किया जा सकता है । 

78 प्रतिशत रिकवरी रेट

डीन हमीदिया अस्पताल डॉ. अरूणा कुमार ने बताया कि हमीदिया अस्पताल में 1285 कोविड मरीजों का इलाज किया जा चुका है । जिसमें से 1002 मरीजों का सफल इलाज कर उन्हें डिस्चार्ज किया गया है । इस प्रकार रिकवरी रेट 78 प्रतिशत है । 

75 वेंटीलेटर स्थापित,  टी.बी. अस्पताल में 10 वेंटीलेटर लगेंगे

 संभागायुक्त को बैठक में बताया गया कि 75 वेंटीलेटर स्थापित हो गए हैं और टी.बी.अस्पताल में भी जल्दी ही 10 वेंटीलेटर स्थापित हो जायेंगे । नए वार्डों में मेडीकल आफीसर्स सहित अन्य पैरामेडीकल स्टॉफ की तैनाती की समीक्षा में बताया गया कि सभी वार्डों में स्टॉफ की व्यवस्था की गई है । फर्नीचर सहित अन्य चिकित्सा उपकरणों को भी स्थापित किया गया है । संभागायुक्त ने सभी सामग्री की गुणवत्ता पर विशेष जोर दिया । 

प्लाज्मा और थैरेपी पर काम करें

 संभागायुक्त ने कहा कि सभी एसडीएम से कहा गया है कि वे कोविड19 को हरा चुके योद्धाओं से संपर्क कर प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित करें । उन्होंने कहा कि कोविड का उपचार कर रहे प्राय: सभी अस्पतालों में ब्लड बैंक हैं और प्लाज्मा संग्रहण प्लाज्मा थैरेपी में इन अस्पतालों को भी काम करना होगा । उन्होंने मेडीकल कालेज और हमीदिया अस्पताल के अधीक्षक से कहा कि वे एक पॉलिसी तैयार करें, जिससे सभी अस्पतालों में यह कार्य पूर्ण नियोजित रूप से किया जा सके । उन्होंने निर्देश दिए कि प्लाज्मा दानदाताओं के लिए ब्लड बैंक में उत्कृष्ठ व्यवस्थाएं की जाएं जिससे वे इस पुण्य कार्य के लिए अन्य कोरोना जंग जीत चुके योद्धाओं को प्रोत्साहित करें ।