ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
हमीदिया अस्पताल से 8, शासकीय होम्योपैथिक से 4 एवं अन्य से 41व्यक्ति डिस्चार्ज
June 5, 2020 • Admin • स्वास्थ्य

आत्म बल, संयम और दृढ़ निश्चय से पाई कोरोना पर विजय

 आज 53 व्यक्ति पूर्णतः स्वस्थ होकर अपने घर रवाना

भोपाल । जीत के लिए दृढ़ निश्चय और कभी हार ना मानने वाले हौसले के दम पर कोरोना संक्रमण को हराकर कर आज 53 व्यक्ति अपने घर रवाना हुए। शासन प्रशासन के बेहतर ईलाज और उच्च स्तरीय स्वास्थ्य सेवाओं को धन्यवाद देते हुए आज हमीदिया अस्पताल से 8, शासकीय होम्योपैथिक हॉस्पिटल से 4 एवं अन्य अस्पताल से 41 व्यक्ति कोरोना संक्रमण से पूर्णतः स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। इन सभी ने भोपाल वासियों से कोरोना से ना डरने, सभी उचित सावधानियां और बचाव के साधन अपनाने की अपील भी की। हमीदिया अस्पताल से ऑक्सीजन सपोर्ट पर रहने के बाद स्वस्थ हुए गोविंदपुरा निवासी 48 वर्षीय श्री हरून ने बताया कि पॉजिटिव आने के बाद जब उन्हें हमीदिया लाया गया तब उन्होंने सोचा कि हॉस्पिटल में उनका पता नहीं कैसा इलाज होगा। लेकिन अब 15 दिन के बाद यहां से स्वस्थ होकर घर जाते हुए उन्होंने यहां के डॉक्टर्स , नर्स और सभी स्टाफ द्वारा की जा रही मेहनत और समर्पण भाव से सेवा के लिए शुक्रिया अदा किया । उन्होंने कहा वह अपने साथ एक सीख लेकर जा रहे है कि हमें स्वयं की हिफाजत करनी है। अपनी रक्षा में ही पड़ोसी की भी सुरक्षा है। इसी तरह एक दूसरे को सुरक्षित रखते हुए हम कोरोना से जीत पाएंगे। चौरसिया ने बताया उनका यहां घर जैसी देखरेख की गई है। समय पर दवाइयां और खाना दिया गया । किसी भी तरह की कोई तकलीफ़ नहीं हुई। यहां ईलाज के साथ साथ उनका मनोबल बढ़ाया गया। अपने सफल ईलाज और उच्च स्तरीय स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के लिए शासन -प्रशासन और हमीदिया अस्पताल को हार्दिक धन्यवाद दिया। इन सभी डिस्चार्ज हुए व्यक्तियों ने बताया कि डॉक्टर प्रणय धुर्वे, डॉक्टर रीता सक्सेना, डॉक्टर सिम्मी दुबे, सभी नर्स, मेडिकल स्टाफ आदि ने उनकी पूरी देखभाल की। उन्हीं की मेहनत और समर्पण का नतीजा है कि आज हम स्वस्थ होकर अपने घर जा रहे है। बेहतर ईलाज और समर्पण भाव से की गई सेवा के लिए उन्होंने शासन -प्रशासन और हमीदिया अस्पताल को हार्दिक धन्यवाद दिया है। अपनी 15 माह की बेटी देविशा पवार के सफल ईलाज के लिए शासन- प्रशासन को दुआए देते हुए मां पिंकी पवार ने बताया कि उनकी बच्ची का यहां पूरा ख्याल रखा गया। बच्ची के मनोरंजन और खानपान का पूरा ध्यान दिया गया। डॉक्टर्स ,नर्स और सभी स्टाफ की वह जिंदगीभर आभारी रहेंगी। हमीदिया अस्पताल के अधीक्षक अरूण श्रीवास्तव ने आज डिस्चार्ज हुए सभी व्यक्तियों को बधाइयां देते हुए उन्हें फूल ,मास्क और सैनिटाइजर देकर अभिनन्दन किया । उन्होंने सभी को घर पर अच्छा खानपान रखने और समय पर दी गई दवाइयों को लेने की हिदायत दी। उन्होंने कहा आप सभी समाज के लिए एक उदाहरण है। जिस हिम्मत और हौसले के साथ आपने यह जंग लड़ी वह काबिले तारीफ है। आपने संक्रमण से जीतकर हमारा हौसला बढ़ाया है। आप जाइए और अपने घर,परिवार, मोहल्ले में सभी को बताइए कि कोरोना से डरने की आवश्यकता नहीं है। इसका ईलाज उपलब्ध है, इस से ठीक हुआ जा सकता है। हमेंं बस कुछ सावधानियां बरतनी है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है। *शासकीय होम्योपैथिक चिकित्सालय कोविड केयर सेंटर* से कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद 4 व्यक्तियों को डिस्चार्ज कर घर रवाना किया गया। अधीक्षिका सुनीता तोमर ने बताया कोरोना पॉजिटिव आने के बाद बिना लक्षण के व्यक्तियों को यहां आइसोलेशन में रखा गया था। आइसोलेशन के दौरान यहां शासन- प्रशसन द्वारा उन्हें अच्छा खानपान और तनाव रहित वातावरण दिया गया जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ सके और वे संक्रमण से लड़ने में सक्षम हो सके। इन सभी व्यक्तियों ने शासन- प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं और सेवा के लिए हार्दिक धन्यवाद और आभार व्यक्त किया।