ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
हज़ारों परिवारों को मिली पक्की छत-घर का सपना हुआ साकार
September 13, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

संभाग में 16436 हितग्राहियों को मिली  प्रधानमंत्री आवास की सौगात

 भोपाल :  प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण अन्तर्गत कोरोना अवधि में प्रदेश में बने 1.75 लाख आवासों का डिजिटल गृह प्रवेश कार्यक्रम *गृह प्रवेशम्* प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा आनलाईन संपन्न हुआ। नये घर मे प्रवेश करने वाले सभी हितग्राहियों को प्रधानमंत्री श्री मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शुभकामनायें दी।   हर व्यक्ति के घर का सपना हुआ साकार जिन्हें अपने सपनों के आशियाने और स्वयं के आवास में रहने का सुख प्राप्त हुआ है। प्रधानमंत्री
आवास योजना अंतर्गत गृह प्रवेशम के तहत जिला भोपाल में कठिन परिश्रम और लगन से 1174 प्रधानमंत्री आवास का निर्माण किया गया है। ग्राम पंचायत तारा सेवनियां की श्रीमती रेखा/जमुना प्रसाद साहू ने अपने घर में प्रवेश कर प्रधानमंत्री को उनके घर की इच्छा पूर्ण करने पर धन्यवाद दिया। 
  जिला विदिशा में प्रधानमंत्री आवास अंतर्गत 5561 आवास कोविड-19 अवधि में निर्माण कराए गए हैं। ग्राम पंचायत धतुरिया के लगभग 80 वर्षीय श्री बुद्धाराम अहिरवार और 77 वर्षीय श्रीमती काशीबाई अहिरवार का इस उम्र के पड़ाव में स्वंय के आवास का सपना आज साकार हुआ। जब डिज़ीटल गृह प्रवेशम से उन्हे आज जिला प्रशासन की मौजूदगी में गृह प्रवेश कराया गया। 
 जिला रायसेन में पीएम आवास योजना ग्रामीण के तहत कोविड-19 अवधि में पूर्ण हुये 3,500 पीएम आवास पूर्ण किए गए हैं l डिजिटल गृह प्रवेश कार्यक्रम के तहत साँची विकासखण्ड के ग्राम पग्नेश्वर में हितग्राही श्री मुन्नीलाल ने  पीएम आवास में गृह प्रवेश कर कहा की यह कोई सपने से कम नहीं। अपना आशियाना पाकर वह खुश हुए। 
 जिला सीहोर में प्रधानमंत्री आवास अंतर्गत 577 आवासों का निर्माण कराया गया है। जिनमें हितग्राहियों को डिजिटल गृह प्रवेश कराया गया। आष्टा विकासखंड के ग्राम ताजपुरा निवासी श्री चंद्र सिंह को  जिला प्रशासन ने गृह प्रवेश कराकर शुभकामनाये दी। जिला राजगढ़ में 5624 प्रधानमंत्री आवास पूर्ण हुए हैं। जिनमे जनपद पंचायत ब्यावरा में 939, खिलचीपुर में 1433, नरसिंहगढ़ में 905, राजगढ़ में 254, सारंगपुर में 313 एवं जीरापुर में 1780 आवास पूर्ण हुए। कोराना काल में पूर्ण हुए इन 5624 आवासों में उत्साह और उमंग से हितग्राहियों ने गृह प्रवेश किया।