ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
कांग्रेस ने हमेशा पिछड़ों को वोट बैंक माना : शर्मा
October 7, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

पिछड़ा वर्ग के समाज प्रमुखों ने किया मुख्यमंत्री का सम्मान

 

 भोपाल। कांग्रेस लगातार सत्ता में रही लेकिन उसने कभी भी पिछडा वर्ग की चिंता नहीं की। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने 2012 में अलग से पिछडा वर्ग मंत्रालय बनाकर उनके कल्याण का मार्ग प्रशस्त किया। कांग्रेस के कई प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री बने लेकिन कभी भी उन्होंने पिछडा वर्ग के नेता को आगे नहीं आने दिया। पिछडा वर्ग आयोग बनाकर कांग्रेस ने इस वर्ग को झुनझुना थमाया, लेकिन भारतीय जनता पार्टी की सरकार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आयोग को संवैधानिक दर्जा देकर इस उसे अधिकार संपन्न बनाया। प्रदेश सरकार ने भी पिछडा आयोग को संवैधानिक दर्जा देकर उनके अधिकारों का संरक्षण किया है। यह बात मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने मंगलवार को मुख्यमंत्री निवास पर पिछडा वर्ग मोर्चा एवं पिछडा वर्ग समाज के प्रमुखों द्वारा किए गए सम्मान के प्रति उत्तर में कही। सम्मान समारोह को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने भी संबोधित किया।

 भारतीय जनता पार्टी पिछडा वर्ग मोर्चा एवं पिछडा वर्ग के 52 समाज प्रमुखों ने मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा पिछडा आयोग को संवैधानिक दर्जा दिए जाने पर सम्मान किया। कार्यक्रम को प्रदेश शासन के मंत्री रामखिलवान पटेल, आयोग के पूर्व अध्यक्ष श्री प्रदीप पटेल एवं पिछडा वर्ग मोर्चा के अध्यक्ष भगत सिंह कुशवाह ने संबोधित किया। इस अवसर पर प्रदेश शासन के मंत्री भूपेन्द्र सिंह, कमल पटेल, मोहन यादव, पूर्व मंत्री जालम सिंह पटेल, नारायण सिंह कुशवाह, सांसद रावउदय प्रताप, प्रेमशंकर वर्मा, प्रहलाद लोधी, शैतान सिंह पाल, सहित पिछडा वर्ग मोर्चा के पदाधिकारी मंचासीन थे।

आयोग की अनुशंसाओं को लागू करेंगे

 मुख्यमंत्र शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने पिछडा आयोग को संवैधानिक दर्जा देकर इस वर्ग को अधिकार संपन्न बनाया है। पिछडा वर्ग की समस्याएं और समाधान करने का काम यह आयोग करेगा। पिछडा वर्ग की बेहतरी के लिए आयोग जो भी अनुशंसाए करेगा, उन अनुशंसाओं को प्रदेश सरकार लागू करेगी। उन्होंने कहा कि हमने 15 वर्षों तक हर समाज, हर वर्ग के लिए योजनाओं का क्रियान्वयन किया, लेकिन कांग्रेस सरकार ने 15 महीने में उसे घटाने का काम किया। कमलनाथ सरकार ने संबल योजना से गरीबों के नाम काटे। हमने 35 लाख गरीबों के नाम जोड़कर 1 रू. किलो में राशन की पात्रता पर्ची दी। उन्होंने कहा कि अब कोई भी गरीब प्रदेश की धरती पर भूखा नहीं सोयेगा। जिस गरीब का नाम राशन कार्ड में छूटा है उसका नाम जोड़ा जायेगा। 

आरक्षण के मामले में भी कमलनाथ सरकार ने झूठ बोला

 श्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने हर वर्ग से झूठ बोलने का काम किया। किसानों को कर्जमाफी का धोखा दिया और झूठे प्रमाण पत्र बांट दिए। लेकिन हमने सरकार बनते ही अलग अलग योजनाओं के माध्यम से किसानों के खाते में 6 माह के भीतर 22 हजार करोड़ रूपए पहुंचाने का काम किया। श्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने पिछडा वर्ग को भ्रमित करने का काम किया। 27 प्रतिशत आरक्षण का झूठ बोला। मंत्रीमंडल में पास करके हाईकोर्ट में स्टे करवा दिया। उन्होंने कभी भी पक्ष में मजबूत वकील खडा नहीं किया। उन्होंने कहा कि हम 27 प्रतिशत आरक्षण पिछड़ों को दिलायेंगे और बडे से बडा वकील करेंगे। सबको न्याय देने का काम और सबको साथ लेकर चलेंगे, यह भाजपा का संकल्प है। उन्होंने कार्यकर्ताओं को संकल्प दिलाते हुए कहा कि सबका कल्याण करने के लिए भाजपा सरकार जरूरी है। इसके लिए हमें जनता के बीच जाकर पिछडो के लिए चलायी जाने वाली योजनाओं को बताना है और कांग्रेस का बेनकाब करना है। 

कांग्रेस ने राज किया और पिछडा वर्ग को गुमराह किया : शर्मा

 भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की सरकारों ने देश में सबसे अधिक राज किया। उनकी बहुमत की सरकारें रही, लेकिन उन्होंने पिछडा वर्ग की भलाई के लिए कोई काम नहीं किया, क्योंकि उन्होंने इस वर्ग को हमेशा वोट बैंक माना। कांग्रेस ने पिछडा वर्ग को गुमराह करने के लिए ओबीसी कमीशन का गठन किया, लेकिन उसे संवैधानिक दर्जा नहीं दिया, क्योंकि उसे डर था कि अगर आयोग को संवैधानिक दर्जा मिलेगा तो पिछडा वर्ग अधिकार संपन्न होंगे और वे उनके वोट बैंक नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि आज हमें गर्व है कि एक गरीब मां, बाप का बेटा जिसने पूरा जीवन गरीबों की सेवा की, वह प्रधानमंत्री है। श्री नरेन्द्र मोदी जब प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने पिछडा आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का काम किया। मध्यप्रदेश ऐसा पहला राज्य है जिसने प्रधानमंत्री के इस कदम का अनुसरण करते हुए ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का काम किया।

सरकार के काम प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाना है

 श्री शर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने सबका साथ, सबका विकास के मंत्र पर हमेशा काम किया हैं 15 वर्षों तक शिवराजसिंह चौहान ने पिछडा वर्ग के कल्याण के लिए योजनाओं का क्रियान्वयन किया। इस वर्ग के बच्चों को स्कालरशिप मिले और बेहतर शिक्षा प्राप्त करें इसके लिए योजना बनाई। समाज की प्रतिभाएं आगे आए, उनका सम्मान हो, लगातार यह प्रयास किए। उन्होंने कहा कि पिछडा वर्ग के लिए हमारी सरकार लगातार जो काम कर रही है उसे एक एक व्यक्ति तक ले जाना है और उन्हें बताना है कि भाजपा सरकार ने जो योजनाएं चलायी, उन योजनाओं को कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने क्यों बंद किया ? पिछडा वर्ग इस बात को जानना चाहता है कि कांग्रेस सरकार ने पिछडा वर्ग के अधिकारों का हनन क्यों किया ? उन्होंने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय ने समाज के अंतिम छोर के व्यक्ति को आगे लाने का जो विचार दिया था, उस विचार को साकार कर धरातल पर उतारने का काम शिवराजसिंह चौहान ने किया है।