ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
कहीं भी बहस कर लो कमलनाथ, आपने कर्जमाफी के झूठे प्रमाण पत्र बांटे हैं: शिवराजसिंह चौहान*
September 21, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

 मुख्यमंत्री ने किया सीतामऊ, इन्दौख और बड़ौद में करोड़ों के विकास कार्यों का लोकार्पण

भोपाल। मंदसौर जिले में पिछले साल बाढ़ से भारी तबाही हुई थी। मैंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से कहा कि आप भी देख लीजिए कितना नुकसान हुआ है। वो नहीं आए और बोले हम तो बंगले में बैठे-बैठे ही देख लेते हैं। मंदसौर में ही राहुल गांधी ने ये घोषणा की थी कि हम 10 दिनों में किसानों का हर प्रकार का दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ करेंगे। लेकिन जब सरकार बन गई, तो कर्जमाफी में कई शर्तें लगा दीं। रंग-बिरंगे फार्म भरवाने लगे। कटऑफ की तारीख बदल दी। कांग्रेस की सरकार ने किसानों को धोखा दिया। आप कहीं भी बहस कर लें कमलनाथ जी, मैं फिर ये कहता हूं कि आपने कर्जमाफी के झूठे प्रमाण पत्र बांटे, बैंकों को पैसा नहीं दिया। यह बात मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने रविवार को सुवासरा विधानसभा के सीतामऊ, महिदपुर के इन्दौख और आगर मालवा विधानसभा के बड़ौद में विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करते हुए कही। 
हम बहाने नहीं बनाते, काम करते हैं
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ सरकार के समय जब भी जनप्रतिनिधि कोई मांग रखते थे, वो कहते थे पैसा नहीं है। कोरोना के कारण आज भी आर्थिक संकट है, लेकिन हम बहाना नहीं बनाते। हम पैसा कहीं से भी लाएं, लेकिन विकास के काम नहीं रुकने देंगे। हमने शून्य प्रतिशत ब्याज पर कर्ज योजना का पैसा भरा, किसानों के फसल बीमा की प्रीमियम भरी। सस्ते अनाज की योजना जिसे कांग्रेस ने ठंडे बस्ते में डाल दिया था, हमने फिर शुरू कर दी है। संबल योजना, तीर्थदर्शन योजना हम फिर शुरू कर रहे हैं और सभी योजनाओं को दोबारा शुरू करेंगे, जिन पर कमलनाथ सरकार ने रोक लगा दी थी। श्री चौहान ने कहा कि किसान भाई चिन्ता न करें, हम सोयाबीन का मुआवजा भी देंगे और जल्द ही हम किसान भाइयों के लिए ऐसी योजना लाने वाले हैं, जिससे उनके खातों में पैसा आता रहे। श्री चौहान ने कहा कि हम शिक्षक भर्ती, पुलिस भर्ती भी शुरू करने वाले हैं, ताकि युवाओं को रोजगार मिले। श्री चौहान ने सीतामऊ में 2187 करोड़ रुपये लागत वाली कयामपुर माइक्रो इरिगेशन परियोजना की स्वीकृति की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि अगले तीन सालों में हम किसी भी गरीब को बिना पक्की छत के नहीं रहने देंगे और हर घर में साफ पीने का पानी उपलब्ध कराएंगे। 
सवा साल में प्रदेश को लूट लिया
श्री चौहान ने कहा कि सवा साल की कमलनाथ सरकार ने प्रदेश को लूट लिया। पद बिकते थे, शराब के ठेके और रेत का कारोबार बिकता था। विभाग बंटते थे और प्रदेश का विकास ठप हो गया था। आम लोगों को तो छोड़िये, तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ के पास मंत्री-विधायकों से मिलने के लिए भी समय नहीं होता था। लेकिन जब कोई बड़ा ठेकेदार आ जाए, तो वो कहते थे आने दो-आने दो। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि उस सरकार ने वल्लभ भवन को दलालों का अड्डा बना दिया था। लेकिन प्रदेश की जनता से उस सरकार को ही चलो-चलो कह दिया। 
हमारी सरकार को परमानेंट करें, विकास में कसर नहीं छोड़ेंगे
श्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ सरकार के सवा सालों में आपने सरकार-सरकार का फर्क देखा होगा। एक वो सरकार थी, जिसने भ्रष्टाचार के रिकॉर्ड बना डाले। किसानों, नौजवानों, बहन-बेटियों का पैसा खा गई। उस सरकार के पास बस एक ही काम रहा-शिवराज को गाली दो। अभी ग्वालियर में कमलनाथ कह रहे थे, शिवराज नालायक है। श्री चौहान ने कहा कि दूसरी तरफ हमारी सरकार है, जो विकास करती है, योजनाओं का पैसा लोगों के खातों में डालती है। वो जनता के बीच जाते नहीं थे और हमारे दिल में जनता के लिए दर्द है। जनता हमारी जिंदगी है, हमारी भगवान है। श्री चौहान ने कहा कि हम बच्चों की फीस, लेपटॉप देना और सारी योजनाएं फिर से शुरू करेंगे। आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। लेकिन आपसे निवेदन है कि अभी हमारी सरकार टेम्परेरी है। इसलिए आने वाले चुनावों में हमारी सरकार को परमानेंट बनायें, मोदी जी के हाथ मजबूत करें और धोखेबाजों का साथ छोड़ें। 
विकास कार्यों के लोकार्पण एवं शिलान्यास कार्यक्रमों के दौरान प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव, मंत्री श्री हरदीपसिंह डंग, श्री राधेश्याम पाटीदार, वरिष्ठ नेता श्री बंशीलाल गुर्जर, मंदसौर भाजपा जिलाध्यक्ष नानालाल अटोलिया, उज्जैन सांसद श्री अनिल फिरोजिया, उज्जैन जिला भाजपा अध्यक्ष बहादुरसिंह बोरमुंडला आदि उपस्थित थे।