ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
कल होगा अक्षय पात्र की मेगा रसोई के लिए भूमि का-पूजन कमलनाथ करेंगे
March 2, 2020 • Vijay sharma
मशीन एक घंटे में  40,000 रोटियां होंगी निर्मित,क्यूलड्रॉन में एक बार में 125 किलो चावल पक कर होंगे तैयार
प्रतिदिन 50,000 बच्चों के लिए तैयार होगा भोजन,
एचईजी दे रहा है मेगा किचन के लिए 10 करोड़ रुपये की अनुदान राशि  
भोपाल।  अक्षय पात्रा फाउंडेशन और एचईजी लि.की सहभागिता से राजधानी के शाहपुरा थाने के पीछे मेगा किचन का निर्माण किया जाना है, जिसका भूमि-पूजन 3 मार्च मंगलवार को किया जाएगा। जिसके मुख्य अतिथि मप्र मुख्यमत्री कमलनाथ रहेेंगे। एचईजी की विशेष आर्थिक मदद से भोपाल में अक्षय पात्र की मेगा रसोई जुलाई 2020 तक तैयार हो जाएगी। मेगा रसोई के लिए भूमि राज्य सरकार द्वारा दान की गई है और यह शाहपुरा पुलिस स्टेशन के पीछे स्थित है। पूरे भारत में सरकारी स्कूलों और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में मिड-डे मील योजना लागू करके स्कूल के बच्चों को पौष्टिक भोजन प्रदान करने का प्रयास करने वाली बेंगलुरू में मुख्यालय वाली एक एनजीओ है अक्षय पात्र संस्था। अक्षय पात्र ने पूरे भारत के 13 राज्यों में इस तरह की 51 रसोई संचालित की है जिसके माध्यम से लगभग 18 लाख स्कूली बच्चों को हर दिन मध्यान्ह भोजन दिया जा रहा है। एचईजी ने प्रतिदिन 50,000 बच्चो के भोजन के लिए भोपाल में उपरोक्त मेगा किचन स्थापित करने के लिए 10 करोड़ रुपये की अनुदान राशि प्रदान करने का प्रण लिया है। इसके अलावा, एचईजी हर साल 5 साल के लिए राजस्व व्यय का समर्थन भी करेगा। भोपाल में हर दिन 50,000 से अधिक बच्चे मेगा-किचन में तैयार किए जा रहे ताजा और पौष्टिक भोजन से लाभान्वित होंगे। अक्षय पात्र उपाध्यक्ष अनंत शेष दास ने कहा कि हमने भोपाल में 900 से अधिक सरकारी स्कूलों को चिन्हित किया है जिनमें 50,000 छात्र हैं। मंडीदीप स्कूलों में पढऩे वाले 3,500 छात्रों को भी इस योजना के तहत शामिल किया गया है।  20 फरवरी को लगभग 7,000 बच्चों के लिए ऐसे ही एक मेगा रसोई की नीव मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा छिंदवाड़ा जिले में रखी गयी थी। यह मेगा किचन भी अक्षय पात्र और एचईजी के सहयोग से संचालित किया जाएगा। एचईजी छिंदवाड़ा में लगभग 7,000 छात्रों के लिए इस रसोई की स्थापना के लिए 4 करोड़ रुपये और तीन साल के सभी राजस्व व्यय (प्रति वर्ष 1 करोड़ रुपये की राशि) ब्यय करेगी । इसके जुलाई 2020 में तैयार होने की उम्मीद है। सभी राज्यों और शहरों में मानक मेनू निर्धारित है जहां ऐसी मेगा रसोई स्थापित की गई है। मध्य प्रदेश में बच्चों को दाल, रोटी, चावल, दलिया, फल और गेहूं का केक उपलब्ध कराया जाएगा।वहीं समय समय पर खीर-पूड़ी-सब्जी भी प्रदान की जाएगी। अक्षय पात्र के मध्य प्रदेश प्रोग्राम समन्वयक वीरेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि सरकारी प्राथमिक कक्षा में प्रत्येक बच्चे के लिए 100 ग्राम गेहूं और 100 ग्राम चावल देती है। आम तौर पर, यह देखा गया है कि बच्चे अपने भोजन में आवश्यक पोषण प्राप्त नहीं कर पाते हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आवश्यक पोषण उनको मिलता रहे , हम विभिन्न प्रकार के पौष्टिक भोजन बना रहे हैं जिन्हें बच्चे आसानी से ग्रहण कर सकते हैं। गेहूं का केक एक ऐसा ही नवीन भोजन है। हम भोपाल में मेगा किचन में इसके लिए एक बेकिंग यूनिट स्थापित कर रहे हैं। केक पूरी तरह से गेहूं के आटे, तेल और गुड़ से बनाया जाएगा। 
शेखावत जी ने बताया कि भोपाल के शाहपुरा में स्थापित मेगा-किचन पूरी तरह से स्वचालित होगा। एचईजी ने इसके लिए मशीनरी सेटअप प्रायोजित कि है। हमारे पास गीली और सूखी रसोई की अवधारणा है। सूखी
रसोई का उपयोग रोटी के आटे को बनाने और रोटियों को बेलने के लिए किया जाएगा। पूरी प्रक्रिया स्वचालित है। रोटी बनाने वाली मशीन एक घंटे
में 40,000 रोटियां बना सकती है। चावल बनाने के लिए क्यूलड्रॉन में एक बार में 125 किलो चावल पका सकते हैं। इसी तरह, मौसमी सब्जियों को साइड-डिश बर्तन में बनाया जाएगा जिसमे एक बार में 1,200 किलोग्राम सब्जी बन सकती है। 1,200 किलोग्राम सब्जी कम से कम 6,000 बच्चों क़े खाने क़े लिए प्रयाप्त होती है। यहां तक कि भोजन के परिवहन के लिए वाहनों और जहाजों को इस तरह अनुकूलित किया गया है कि एक
बार लोड होने पर, भोजन 12 घंटे तक ताजा और गर्म रहता है।
एचईजी के सीएमडी रवि झुनझुनवाला ने यह सुनिश्चित करने में व्यक्तिगत दिलचस्पी दिखाई है कि भोपाल में अक्षय पात्र और इसकी मेगा रसोई से स्कूली बच्चो को लाभ पहुंचे। मंडीदीप में एचईजी की उद्योगों के बीच
उपस्थिति पिछले 40 वर्षों से है। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कमलनाथ के अलावा डॉ गोविंद सिंह सामान्य प्रशासन मंत्री, कमलेश्वर पटेल पंचायतमंत्री, अक्षय पात्र उपाध्यक्ष चंचला पति दास, एचईजी के सीएमडी रवि
झुनझुनवाला और कार्यकारी निदेशक मनीष गुलाटी समारोह में भाग लेने वाले विशिष्ट अतिथि होंगे।