ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
क्ेंद्रीय बजट पर हिंदुस्तान पावर के चेयरमैन रतुल पुरी की प्रतिक्रिय
February 4, 2020 • Vijay sharma

 

भोपाल। ऊर्जा क्षेत्र भारत के विकास का अभिन्न हिस्सा है। दे को निम्न उत्सर्जन केंद्रित विकास की दिा में ले जाने में ऊर्जा क्षेत्र की केंद्रीय भूमिका है। विद्युत एवं अक्षय ऊर्जा के लिए 15,874 करोड़ रूपये के पिछले बजटीय आवंटन की तुलना में 2020-21 के केंद्रीय बजट में इस सेक्टर के लिए 22,000 करोड़ रूपये का आवंटन एक स्वागत योग्य कदम है, जो निचित तौर पर ग्रीन इंडिया मिन को नयी ऊंचाई पर ले जाएगा। निचित ही यह भारत को वैविक स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में अग्रणी देों की कतार में लाने की दिा में सरकार की प्रतिबद्धता को र्दाता। यह भारत में रोजगार सृजन और इमिन फुटप्रिंट में कटौती की दिा में स्वागत योग्य कदम है।   विद्युत एवं ऊर्जा उद्योग में आवयक विदेी प्रत्यक्ष निवे (एफडीआई) और अन्य निवे से भारत को अक्षय ऊर्जा स्रोत पर निर्भर दे के तौर पर घोषित करने के मिन को बल  मिलेगा।