ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
कोरोना महामारी के बचाव में मध्यप्रदेश रेडक्रास का रहा दूसरा स्थान
June 23, 2020 • Admin • राष्ट्रीय

सेवाभावी कार्य में हरियाणा प्रथम, एवं कर्नाटक तीसरे स्थान पर

भोपाल। कोरोना महामारी के दौर में मध्य प्रदेश रेडक्रास सोसायटी राज्य शाखा एवं प्रदेश की रेडक्रॉस इकाईयों ने तन-मन-धन से जरूरत मंदों को सूखा राशन, तैयार भोजन, पीपीई किट, मास्क सेविंग ड्रग्स सेनिटाईजर अन्य आर्थिक सहायता आदि के साथ-साथ प्रशासन के सहयोग से कोविड-19 के कन्टेंमेंट क्षेत्र में सैम्पल कलेक्शन का कार्य किया गया है। इसके साथ ही देश में लॉकडाउन के दौरान रक्त कमी को लेकर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के दिशा-निर्देश में रेडक्रास राज्य शाखा के साथ-साथ प्रदेश भर की रेडक्रास इकाईयों ने लॉकडाउन में पीडि़त लोगों को जीवनदान दिये जाने हेतु रक्तदान के लिये रक्तदाताओं को प्रेरित किया गया। राज्य शाखा के चेयरमैन आशुतोष पुरोहित ने बताया कि रेडक्रास राज्य शाखा के साथ-साथ प्रदेशभर की समस्त जिला रेडक्रास इकाईयों ने कोविड-19 के दौरान लॉकडान के अंतर्गत जरूरत मंदों की विभिन्न प्रकार से सहायता की गई। मध्यप्रदेश में रेडक्रास के स्टॉफ, वालेन्टियर तथा अन्य सहयोगितयों द्वारा रेडक्रास के साथ कार्य कर जरूरतमदों को हर संभव मदद पहुंचाई है। इसके साथ ही केन्द्रीय लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन के निर्देशानुसार प्रदेश भर में लॉकडाउन के दौरान रक्तदाताओं द्वारा रक्तदान भी किया। श्री पुरोहित ने बताया कि भारतीय रेडक्रास सोसायटी मध्यप्रदेश द्वारा लॉकडाउन के द्वारा जरूरत मंदों की हर संभव मदद की गई है जिसमें आर्थिक सहायता भी है। प्रदेश रेडक्रास के वालेन्टियर, स्टॉफ एवं समाजसेवी द्वारा आगे बढ़कर सेवा कार्य किये हैं, जिससे कोविड-19 के विभिन्न प्रकल्पों एवं कार्यों में मध्यप्रदेश रेडक्रास देश में दूसरे नम्बर पर आ गया है। श्री पुरोहित ने कहा कि लॉकडाउन में सेवा भावी कार्य में प्रदेश के दूसरे स्थान पर आने का श्रेय रेडक्रास के स्टॉफ, वालेन्टियर एवं रेडक्रास से जुड़े लोगों को जाता है। श्री पुरोहित ने बताया कि रिपोर्ट के अनुसार देशभर में समाज सेवा के विभिन्न विकल्पों में रेकिंग अनुसार हरियाणा 1237.86 प्रतिशत के साथ प्रथम स्थान पर है वहीं मध्यप्रदेश 746.57 प्रतिशत के साथ दूसरे व कर्नाटक 250.34 प्रतिशत पर तीसरे स्थान पर है। हरिणाणा रेडक्रास सोसायटी के सचिव डीआर शर्मा ने बताया कि इस कोराना महामारी में रेडक्रास सोसायटी के अन्तर्गत वालेन्टियर्स ने विभिन्न मोर्चों पर जनसेवा की कमान संभालते हुए लोगों को राहत प्रदान करने का पूरा प्रयास किया है। भारतीय रेडक्रास सोसायटी राष्ट्रीय मुख्यालय नई दिल्ली के सेक्रेटरी जनरल आरके जैन, सेवानिवृत्त आईएएस ने बधाई देते हुये आगे भी इसी प्रकार के कार्य किये जाने की कामना की है। डॉ. प्रार्थना जोशी, जनरल सेक्रेटरी ने बताया कि प्रदेश रेडक्रास में लॉकडाउन के दौरान रक्तदाताओं को दूरभाष पर सम्पर्क कर उन्हें एम्बुलेंस सुविधा मुहैया करायी गई और लोगों को रक्तदान के लिये प्रेरित किया। रेडक्रास के स्टॉफ द्वारा करोना यौद्वा के रूप में कार्य किया गया। इसके साथ ही लॉकडाउन के दौरान रेडक्रास ईकायों द्वारा मजदूरों को आर्थिक सहायता प्रदान की गई है, जिससे मध्यप्रदेश रेडक्रास देश में सेवा भाव के कार्य में दूसरे स्थान पर आ गया है।