ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
कोरोना संक्रमण बचाव का पालन ना होना व बीजेपी को पद लोलुपता का परिणाम: पूर्व मंत्री पांसे
August 23, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

प्रदेश सरकार के विधायक व मंत्रियों के कोरोना संक्रमण कांग्रेस के पूर्व मंत्री कसा तंज

भोपाल। प्रदेश भाजपा के मंत्री मंडल में फेल रहे कोरोना संक्रमण को लेकर  कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने पद लोलुपता का परिणाम बताया है। आज स्वास्थय मंत्री व सोहागपुर विधायक कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। वहीं वरिष्ठ नेताओं के द्वारा कार्यकर्ता का सम्मेलन किया जा रहा है जिसमें कोरोना संक्रमण से सुरक्षा की गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा है। पूर्व मंत्री सुखदेव पांसे ने कहा  किप्रभुराम चौधरी के कोरोना पॉज़िटिव आनें पर मैं उनके प्रति गहन सहानुभूति व्यक्त करता हूँ, लेकिन साथ ही उनके संक्रमण से ग्रसित होनें से शिवराज सरकार की ही नही वरन संपूर्ण भाजपा की कोरोना के प्रति घोर संवेदनहीनता भी परिलक्षित होती है। आज उसी का नतीजा है कि भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से लेकर प्रदेशों के मंत्रीयों को भी संक्रमित होकर अपनी जान तक गँवाना पड़ रही है।  और ये सब भाजपा की पदलोलुपता का ही परिणाम है, जब कमलनाथ जी नें मार्च के महीने में में कोरोना के कारण विधानसभा स्थगित करनें का निर्णय लिया था, तब शिवराज सिंह जी इसे कमलनाथ जी का डरोना बता रहे थे। और आज उनकी उसी मानसिकता नें प्रदेश में यह हाल पैदा कर दिया हैं कि जब प्रदेश का स्वास्थ्य मंत्री ही संक्रमित हो गया तब प्रदेश की जनता को तो अब भगवान ही रखवाला है। सत्ता की भूख नें इन्हें उतावला कर दिया है कि प्रभुराम के निकटतम व्यक्ति मुनियन  को जब कोरोना का संक्रमण हुआ तब भी प्रभुराम चौधरी नें इस बात को छिपाया और न तो स्वयं को कोरांटीन किया और न ही अपनें साथ वालों को कोरांटीन होनें को निर्देशित किया। इस तरह से कितनें लोगों को इन्होनें काल के गाल में भेजनें का कुत्सित प्रयास किया है। जिसके लिये इन पर आपराधिक मामला दर्ज होना चाहिये क्योंकि प्रदेश के नागरिकों को तो मास्क न लगानें पर जुर्माना भरना पड़ रहा है धारा 188 लगायी जा रही है तो फिर ऐसे ज़िम्मेदार मंत्री को तो मंत्री पद से तत्काल हटाना चाहिये।