ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
कोरोना वैक्सीन के चूहे पर दिखे अच्छे रिजल्ट, अब इंसानों पर होगा टेस्ट?
April 4, 2020 • Admin • अंतर्राष्ट्रीय
न्यूयॉर्क। अमेरिका कोरोना वायरस से बुरी तरह से पस्त है तो दूसरी तरफ उसके वैज्ञानिक दिनरात कोरोना का तोड़ ढूंढने में लगे हुए हैं। अब कोविड19 से जुड़ा एक वैक्सीन बनाया गया है जिसका प्रयोग फिलहाल चूहे पर किया गया है। इस प्रयोग के दौरान देखा गया है कि एक स्तर पर आकर यह नए कोरोना वायरस के खिलाफ एक इम्युनिटी तैयार कर लेता है जो कि कोरोना के संक्रमण से बचा सकता है। वैज्ञानिकों ने गुरुवार को बताया कि जब इसका प्रयोग चूहे पर प्रयोग किया गया तो इस प्रोटोटाइप वैक्सीन ने दो सप्ताह के भीतर ऐंटीबॉडीज तैयार कर ली। इस वैक्सीन का नाम फिलहाल पिटकोवैक रखा गया है। यूनिवर्सिटी ऑफ पिट्सबर्ग स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ता हालांकि यह भी कहते हैं कि जानवरों पर लंबे समय तक नजर नहीं रखी जा सकी है तो यह कहना जल्दबाजी होगी कि कब तक उनमें इम्युनिटी बनी रहेगी। शोधकर्ताओं की टीम को भरोसा है कि अगले कुछ महीनों में इसका प्रयोग इंसानों पर किया जा सकेगा।
ब्लड प्लाज्मा का भी ले रहे सहारा
उधर, अमेरिका के डॉक्टर स्वस्थ हो चुके मरीजों के ब्लड प्लाज्मा के जरिये इलाज की कोशिश कर रहे हैं। यह पद्धति 100 साल पुरानी है जब 1906 में फ्लू के दौरान स्वस्थ हो चुके मरीज के ब्लड प्लाज्मा से बीमार मरीज का इलाज किया गया था। चूंकि अभी कोरोना वायरस से लडऩे के लिए कोई वैक्सीन और दवाई मौजूद नहीं है इसलिए वे फिलहाल इस प्रयोग पर ध्यान दे रहे हैं। न्यूयॉर्क और अन्य शहरों में स्वस्थ्य हो गए कोरोना पेशंट गंभीर रूप से बीमार मरीजों की मदद के लिए अपना ब्लड डोनेट कर रहे हैं।