ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
क्राईम ब्रांच व लसूड़िया पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से की गयी त्वरित कार्यवाही से बड़ी वारदात टली
February 25, 2020 • Vijay sharma

इंदौर।  पुलिस महानिरीक्षक विवेक शर्मा व्दारा इन्दौर तथा अन्य सीमावर्ती जिलों में हो रही ट्रक तथा अन्य लोड़िग वाहनों में लूट, वाहन चोरी आदि की घटनाओं पर अंकुश पाने तथा लुटेरे अपराधियों को पकड़कर कार्यवाही करने के लिये निर्देशित किया गया था। उक्त निर्देशो के तारतम्य मे पुलिस उपमहानिरीक्षक रूचिवर्धन मिश्र  (शहर), द्वारा उपरोक्त प्रकार की वारदातों पर अंकुश पाने तथा पूर्व में घटित वारदातों का खुलासा करने हेतु क्राईम ब्रांच की टीम का गठन कर उसको योजनाबद्ध तरीके से कार्यवाही करने हेतु समुचित दिशा निर्देश दिये गये थे।
           इसी अनुक्रम में क्राईम ब्रांच इंदौर की टीम को सूचना मिली थी कि 4-5 व्यक्ति थाना लसूडिया क्षेत्र मे तलावली चांदा के पास सडक किनारे सुनसान जगह पर अंधेरे मे  कार नम्बर MP-09/HE-1434 मे बैठे हैं जोकि गाडी के अंदर शराब पी रहे है तथा परस्पर  तलावली चांदा के पास स्थित इण्डियन पेट्रोल पम्प पर डकैती डालने की बात कर रहे हैं। क्राईम ब्रांच की टीम ने उक्त प्राप्त सूचना पर तत्काल कार्यवाही करते हुये थाना लसुडिया पुलिस के साथ ज्ञात मौके पर घेराबंदी की जहां पुलिस को आता देख कार लेकर, वह व्यक्ति भागने का प्रयास करने लगे जिन्हें संदेह के आधार पर घेराबन्दी कर पकडा गया पकड़े गये 5 आरोपियों से पूछताछ करने पर उन्होंनें अपने नाम  डब्बु उर्फ गुलजार, महेश, संजय, हेमंत सभी इंदौर का होना बताये। आरोपीगणों की कार  MP-09/HE-1434 व पकड़े गये व्यक्तियो की मौके पर ही तलाशी लेने पर उनके कब्जे से एक लोहे का सारिया, एक 12 बोर का अवैध देशी कट्टा व जिंदा कारतूस,एक तलवार, तथा डण्डे आदि बरामद हुये जिन्होंनें पूछताछ के दौरान तलावली चांदा के पास स्थित इण्डियन पेट्रोल पम्प पर डकैती डालने की योजना बनाना स्वीकार किया तथा बताया कि वह सभी शराब का सेवन करने के उपरांत अंधेरे में पेट्रोल पंप लूटने वाले थे।

         सभी आरोपियों को पुलिस टीम द्वारा अभिरक्षा में लिया जाकर थाना लसूडिया पर 256/20 धारा 399, 402 भादवि 25, 27 आम्र्स एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया जाकर विवेचना मे लिया गया। पूछताछ  में उन्होंनें अन्य घटनाओं का खुलासा करते हुये बताया कि लसूडिया थाना क्षेत्र मे कुछ दिन पूर्व रात के 1.30 बजे विंध्याचल ट्रांसपोर्ट कटारिया काम्पलेक्स से उन्होंनें आयशर लोडेड वाहन चोरी किया था जिसमें सामान भरा हुआ था। उपरोक्त वारदात के संदंर्भ में तस्दीक करने पर थाना लसूड़िया पर अपराध क्रमाँक 234/20 धारा 379 भादवि का पंजीबध्द होना ज्ञात हुआ उपरोक्त प्रकरण के चोरी गये आयषर वाहन को मय माल मश्रूका के आरोपियों की निशानदेही पर से बरामद किया गया है।   इसके अलावा आरोपियों से एक अन्य लोड़िग आयशर व मय माल के बरामद हुआ जिसके संबंध में जानकारी एकत्रित करने पर उपरोक्त घटना का चोरी गया वाहन आयशर नम्बर MP-09/GG-2376 जिला देवास क्षेत्र से ड्रायवर को बंधक बनाकर,  कट्टा अड़ाकर लूटा गया था। जिला देवास के थाने कांटाफोड से जानकारी लेने पर ज्ञात हुआ कि की दिनांक 21/02/2020 की रात को कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा कार मे सवार होकर आयशर नम्बर MP-09/GG-2376 के ड्रायवर को बंधक बना कर उसको देशी कट्टा से डरा धमका के राशन किराने के सामान से भरे ट्रक को लूट लिया गया था जिसके परिपेक्ष्य में थाना कांटाफोड मे अपराध क्रमांक 30/20 धारा 392, 394, 395, 397, 365, 368, भादवि व 25,27 आर्मस एक्ट का अज्ञात आरेापियों के विरूद्ध दर्ज किया गया था। उपरोक्त प्रकरण के अज्ञात आरोपियों को गिरफ्तार कर वारदात  का खुलासा करने में क्राईम ब्रांच की टीम को सफलता हाथ लगी है। 
           जिला देवास थाना कांटाफोट की घटना के फरियादी ड्रायवर दिनेश परते से ज्ञात हुआ कि जब वह रात को गाडी पार्क करके सो रहा था तभी कुछ लोग वह आये पुलिस अधिकारी बनकर उसका ट्रक चेक करने के लिये पहुंचे तथा धमकाया कि वह गाडी चेक करेंगें,  बाद आरोपियो द्वारा ड्रायवर को एक देशी कट्टा अड़ाकर बंधक बना लिया गया व डराया धमकाया गया कि अगर चिल्लाओगे तो जान से मार देंगे। बाद ड्रायवर बांधकर ट्रक की कैबिन में पटक लिया और उसे लेकर तीन इमली चैराहा इंदौर तक आये जहां छोड़कर वी ट्रक लेकर रफूचक्कर हो गये।आरोपीगण के पास से दो आयशर क्रं. MH-47/Y-6840,  MP-09/GG-2376 व कुल कीमती मश्रुका 58 लाख रूपये का जप्त किया गया है।आरोपी डब्बु पिता हकम सिंह गुलजार कक्षा 10वी तक पढा है तथा प्राॅपर्टी का काम करता है जिसके विरुध्द थाना ऐरोड्रम, विजय नगर, सदर बजार, लसुडिया, सेन्ट्रल कोतवाली, चंदन नगर व पलासिया मे चोरी, लडाई झगडा, मारपीट, हत्या व हत्या के प्रयास सहित 14 अपराध पंजीबध्द हैं। आरोपी डब्बु अपने साथी राहुल टोकनीवाला के साथ वर्ष 2011 में एमजीरोड थाना क्षेत्र मे हत्या कर चुका है। 5 से 6 महीने पूर्व वह थाना विजय नगर में एक बाईक चोरी के अपराध में जेल में निरूद्ध हुआ था जहां उसकी मुलाकात जेल मे बंद रहने के दौरान संजय अजब सिंह व हेमंत से हुयी थी। जेल से छुटने के बाद ही आरोपीगणों  व्दारा गिरोह बनाकर घटनायें की जाने लगी।अन्य आरोपी विनोद सेनेटरी का काम करता है तथा उसके उपर पूर्व मे करीब एक दर्जन अपराध चोरी, लडाई झगडे के दर्ज हैं। 
मुख्य सरगना आरोपी संजय पिता अजब सिंह ने पुछताछ मे बताया कि उसके विरूध्द 40 से 45 अपराध इंदौर शहर के थाना एरोड्रम, चंदन नगर, अन्नपुर्णा, बडगोंदा, विजय नगर, महू सहित करीब एक दर्जन से अधिक थाना क्षेत्रों मे लुट, चोरी व नकबजनी , डकैती की धाराआंे मे पंजीबध्द है। संजय की कार से ही सभी आरोपीगण शहर व शहर के आसपास के जिलो मे घूम कर रैकी किया करते थे व सुनसान जगहों पर खडी गाडियो के साथ वारदात करते थे। आरोपी महेश पेशे से ड्रायवर है तथा गाडी चलाने का काम करता है। आरोपी विनोद व महेश दोनो दोस्त है महेश को पैसो की जरूरत थी अतः वह गैंग के साथ काम करने लगा। आरोपी हेमंत उर्फ हेमु के खिलाफ भी एक दर्जन से अधिक चोरी व नकबजनी के अपराध पंजीबध्द है। आरोपी हेमंत व संजय की मुलाकत गैंग के सरगना डब्बु उर्फ गुलजार से जेल के अंदर हुई थी तभी से इनकी गैंग बनी थी व जेल के बाहर आते ही आरोपीगणे ने अपनी गैंग मे विनोद व महेश को भी शमिल कर लिया था।
आरोपियों का पुलिस रिमाण्ड लिया जाकर उनसे इंदौर शहर व अन्य जिलो की अन्य घटनाओं के  संबंध मे पूछताछ की जायेगी जिनसे अन्य वारदातों के खुलासा होने की संभावना है।

यह गैंग चालक/परिचालक  को बंधक बनाकर भारी वाहनों को लूटती थीं। पूछताछ में आरोपियों से जिला देवास थाना कांटाफोड की डकैती की घटना का भी हुआ खुलासा, वारदात में लूटा गया आयशर वाहन व माल भी जप्त किया गया है। आरोपियों से दो ट्रक, उसमें लोडेड माल मश्रूका सहित कुल कीमती 58 लाख का माल बरामद किया है। सभी आरोपियों का पूर्व से आपराधिक रिकार्ड दर्ज है। जेल मे दोस्ती हुई थीं। रिहा होने पर गैंग बनाकर  लूट डकैती की वारदातों को अंजामदे रहे थे। गैंग के सरगना संजय अजब सिंह व डब्बु हिस्ट्रीशीटर बदमाश है।  ट्रक के सामने कार को अड़ाकर देते थे घटनाओं को अंजाम देते थे। घटनाओं मे प्रयुक्त कार, कट्टा व चाकू भी बरामद किया है।