ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता की मौत से कर्मचारियों में आक्रोश ,अधिकारियो की प्रताड़ना हो बन्द : कौरव 
July 28, 2020 • Admin • स्वास्थ्य

 भोपाल। स्वास्थ्यअधिकारी कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह कौरव ने बताया है कि  लक्ष्मी झाँसीया महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता (ए एन एम )जो बिगत कई वर्षो से मुख्य चिकित्सा एबम स्वास्थ्य अधिकारी  के अंतर्गत  उप स्वास्थ्य केंद्र गोल में पदस्थ महिला की   24 जुलाई 2020 को जिला टीकाकरण अधिकारी की प्रताड़ना ओर अफसर शाही के कारण मृत्यु हो गई डॉ कमलेश अहिरवार जिला टीकाकरण अधिकारी के द्वारा बिगत तीन वर्षों से मानसिक रूप से प्रताणित तथा अपमानित किया जा रहा था ,जिसकी सूचना शिकायत म्रत महिला कर्मी द्वारा सम्बंधित वरिष्ठ अधिकारियों को अनेको आरोपो सहित  लिखित में की है ,इस प्रकार की शिकायते अन्य महिला कर्मियों के द्वारा भी पूर्व में अनेको बार की जा चुकी है ,अधिकारीयो की मिलीभगत के कारण एक क्षत्र राज डॉ कमलेश अहिरवार का चल रहा है  इनकी प्रताड़ना,मनमानी से अनेको महिला पीड़ित है भय व्याप्त है , इसके बाबजूद भी कोई उचित कार्यवाही वरिष्ठ कार्यालय द्वारा नही की गई जिससे महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता का दिन प्रति दिन मानसिक तनाव बढ़ता गया ओर बह अपने कार्य पर अपने बेटे के साथ उपस्थित होकर अपना कार्य करती रही दिनांक 24 जुलाई को ही कार्य करते करते तबियत बिगड़ी साथ मे उनका बेटा अपनी मां को गांव बालो की मदद से तुरंत अस्पताल ले गया जहां म्रत घोषित कर दिया इसके पश्चात आज तक उनके परिवार जनों तक विभाग का कोई भी अधिकारी सुध लेने तक नही पहुंचा।

         संघ ने आज  27जुलाई  को  स्वास्थ्य मंत्री ,अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ,प्रमुख सचिव स्वास्थ्य मध्यप्रदेश शासन एवं आयुक्त स्वास्थ्य को पत्र देकर मांग की है कि डॉ कमलेश अहिरवार प्रभारी जिला टीकाकरण अधिकारी को तत्काल 7 दिवस के अंदर हटाया जाकर जांच की जावे ताकि जांच प्रभावित  न हो ओर आपराधिक प्रकरण दर्ज कराया जावे ताकि महिला स्वास्थ्य कर्मचारियों को उचित न्याय मिल सके आगे भी कोई अनहोनी न हो ,अन्यथा संघ द्वारा आंदोलन किया जावेगा ।