ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
मुख्यमंत्री ने वीसी के माध्यम से महिलाओं से किया सीधा संवाद
June 14, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना  सरकार की प्राथमिकता: श्री चौहान

भोपाल । प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्व-सहायता समूह से चर्चा की। चर्चा के दौरान उन्होंने इस कोरोना संक्रमण में उनकी भागीदारी और संक्रमण काल में किए गए कार्यों की प्रशंसा की। इस दौरान भोपाल जिले के ब्लॉक बैरसिया और फंदा की स्व-सहायता समूह की महिलाएं रतुआ रतनपुर ग्राम से साधना मालवीय, दीपमाला, सरवर ग्राम से प्रीति श्रीवास्तव, मेंडोरी ग्राम से बीना तोमर, आमला ग्राम से राधा मालवीय, मुंडला ग्राम से मोनिका सोनी और गुनगा ग्राम से  प्रेमलता नरवरिया ने उपस्थित होकर कार्यक्रम में भागीदारी की। कलेक्ट्रेट कार्यालय स्थित स्थानीय एनआईसी कक्ष सहित ब्लॉक स्तर पर भी स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने भी भागीदारी की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महिलाओं की आत्मनिर्भरता ही प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है। प्रदेश में 20 हजार से अधिक महिला स्व-सहायता समूह सदस्यों द्वारा इस कोरोना संक्रमण में प्रदेश की जनता के लिए अपनी आजीविका के साधन और अपनी मेहनत से एक करोड़ से अधिक मास्क का निर्माण किया है। साथ ही सेनेटाइजर, हैंड वाश और सुरक्षा किट का निर्माण कर विक्रय किया गया है। इसके अतिरिक्त दैनिक उपयोगी वस्तुओं का भी निर्माण किया है। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में आर्थिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा महिला स्व-सहायता समूह के ऋण प्रकरणों के ऑनलाइन बैंकों में संप्रेषण और स्वीकृति की व्यवस्था की गई है। इसी के साथ महिला स्व सहायता समूह को सामुदायिक निवेश निधि वितरण, आपदा राहत निधि वितरण और बीसी सखी प्रोत्साहन राशि वितरण की भी ऑनलाइन व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महिलाएं बाजार की संभावनाओं को चिन्हित करें तथा उनके निर्माण में आगे आएं। सरकार हर संभव महिलाओं के साथ हैं। प्रदेश सरकार मार्केटिंग, ब्रांडिंग और हर संभव सहायता के लिए तत्पर है। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश व्यापारियों से नहीं बल्कि लाखों महिलाओं के प्रयास से ही बनेगा। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ विकास मिश्रा, जिला परियोजना प्रबंधक, एसआरएलएम  रेखा पांडे सहित विकास खंड अधिकारी उपस्थित थे।