ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
निजी बस एवं स.प.नि कर्मचारियों की मांगों को लेकर17अगस्त को मुख्यमंत्री निवास पर धरना
July 28, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

भोपाल। म.प्र.के निजी बस कर्मचारियों को राशन एवं राहत राशि न देनै और म.प्र.के सपनि कर्मचारियों को19 माह से वेतन न भुगतान करने सहित असंचालित निजी बसों का टेक्स माफ न करने के बिरोध में मप्र ट्राँसपोर्ट बर्कर्स फेडरेशन इंटक आगामी 17 अगस्त को म.प्र.की राजधानी भोपाल में फेडरेशन इंटक के प्रदेश अध्यक्ष  कृपाशंकर वर्मा के नेत्रत्व में  मुख्यमंत्री निवास पर धरना देकर जंगी प्रदर्शंन करेगा। प्रेस को जारी वयान में फेडरेशन के प्रदेश महामंत्री प्रवेश मिश्रा, सयुक्त महामंत्री रामराज तिवारी प्रदेश सचिव के. एन.प्रजापति ,प्रवक्ता विजय कुमार शर्मा ने कहा है कि 22 मार्च से लाँकडाउन होने के दिनांक से म.प्र.में आज दिनांक तक यात्री बसे असंचालित होने से बसों पर कार्य करने वाले चालक, परिचालक, हेल्पर मेकेनिक, एजेन्ट पूर्ण रुप से बेरोजगार होने से और मप्रसपनि कर्मचारियों को19माह से वेतन न मिलने के कारण भखों मरने की स्थति में है।मुख्यमंत्री सहित अन्य जिम्मेदारों को वार वार ग्यापन, पत्र देने उपरान्त भी सरकार ने न तो राशन दिलवाया न राहत राशि दी और न ही सपनि कर्मचारियों को वेतन दिया।साथ ही निजी बस संचालकों की बसों का टैक्स माफ नहीं किया है न अन्य मांगो पर ध्यान दिया जिससे संचालक एवं कर्मचारी भारी आर्थिक संकट में फस गयें हैं।वे अपने परिवार के भरणपोषण एवं भविष्य को लेकर चिंतित हैं पर सरकार के कानों पर जूँ नहीं रेग रही है।फेडरेशन नेताओं कहा कि छोटे बस संचालको जो मालिक सहकर्मचारी हैं की हालत तो और भी दयनीय है उपरोक्त समस्याओं के साथ साथ उनपर बैंक का कर्जा ब्याज सहित बड़ता जा रहा है।अब हमारे पास आन्दौलन के अलावा कोई मार्ग शेष नहीं बचा है।आन्दौलन हमारा सौक नहीं मजवूरी है।हमारी मुख्य मांगे है-रक्षावंधन पर स.प.नि.कर्मचारियों को सम्पूर्ण बकाया वेतन का भुगतान कराया जावे, निजी चालक, परिचालक, हेल्पर, मेकेनिक, एजेन्ट जिनके पास नीले पीले राशन कार्ड नहीं हैं उन्हे भी निशुल्क राशन दिया जावे,7500रुपये प्रतिमाह राहत राशि बसों का संचालन न होने तक दी जावे, बसें संचालित होने पर कोरोना वारियर्स घोषित किया जावे, असंचालित बसों का6माह का टैक्स शून्य कर दिसम्वर माह तक कर रहित संचालन कराया जावे।नाँन यूज की अबधि सामान्य स्थिति होने तक बड़ाई जावे, ई.एम.आई.अबधि ब्याज रहित की जावे, असंचालित समय के बराबर बीमा एक्सपायरी डेट बड़ाई जावे आदि।फेडरेशन महामंत्री ने कहा कि यदि सरकार आन्दौलन नहीं चाहती तो 10 अगस्त तक हमारी सभी मांगे पूरी की जावें।अन्यथा आन्दौलन निश्चित है।यदि भोपाल की स्थति संकृमण मुक्त नहीं हुई और प्रशासन ने अनुमति नहीं दी तो जो जहां पर रहेगा वहीं बिरोध प्रदर्शन किया जावेगा और सामान्य स्थति होने पर सी.एम.हाउस पर प्रदर्शन अवस्य होगा तथा जरुरत पड़ी तो गिरफ्तारी भी दी जावेगी।