ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
निसान मैग्नाइट का नया ताकतवर HRA0 टर्बो इंजन भारत में असेंबल
November 11, 2020 • Admin • राष्ट्रीय

मैनुअल और कॉन्टिनिअसली वैरिएबल ट्रांसमिशन (CVT) दोनों वर्ज़न में उपलब्ध

100 पीएस की पावर और 160 एनएम मैक्सिमम टार्क डिलीवर करता है

ताकत और क्षमता का सटीक मेल: 20 किमी प्रति लीटर (इस श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ)

निसान की एडवांस्ड टेक्नोलॉजी के साथ आरामदायक ड्राइविंग अनुभव

 

नई दिल्ली - निसान की नई मैग्नाइट के साथ बाज़ार में आया है ईंधन के लिहाज से दक्ष (20 किमी प्रति लीटर) और ताकतवर "मेड इन इंडिया" इंजन HRA0 1.0-लीटर टर्बो जो 100 पीएस की पावर और 160 एनएम का अधिकतम टार्क डिलीवर करता है।

 

HRA0 टर्बो इंजन एसयूवी के मैनुअल 5 स्पीड और एक्स-ट्रॉनिक CVT गियरबॉक्स संस्करण के साथ उपलब्ध है। निसान के जाने-माने क्रूज़ कंट्रोल और व्यापक गियर रेंज के साथ नई निसान मैग्नाइट शहर के भीड़भाड़ भरे इलाकों में भी बेहतरीन परफॉर्मेंस देती है। इसका डी-स्टेप लॉजिक कंट्रोल कंप्यूटर सॉफ़्टवेयर, वाहन की रफ़्तार, एक्सीलरेटर पेडल पोजिशन और ऐप्लिकेशन स्पीड जैसे डाइनैमिक इनपुट का इस्तेमाल करता है ताकि बेहतरीन ड्राइव और हाईवे पर दौड़ने के लिए उपयुक्त गियर रेशियो तय किया जा सके।

 

बीजू बालेंद्रन, एमडी एवं सीईओ, आरएनओआईपीएल ने कहा, "आरएनएआईपीएल को HRA0 का उत्पादन शुरू करने का गर्व है जो ऐसी ताकतवर परफ़ॉर्मेंस देने वाला देश में अपनी तरह का पहला टर्बो इंजन है। सही अर्थों में नई निसान मैग्नाइट, निसान के इनोवेशन, एडवांस्ड टेक्नोलॉजी और जापानी इंजीनियरिंग के वैश्विक एसयूवी डीएनए का ही प्रमाण है।"

 

HRA0 टर्बो इंजन निसान जीटी-आर जैसी विश्वस्तरीय स्पोर्ट्स कार से "मिरर बोर सिलिंडर कोटिंग" टेक्नोलॉजी लेता है और इस तरह इंजन में रेसिस्टेंस  कम होता है, वज़न कम करने में मदद मिलती है, हीट मैनेजमेंट और कंबशन में सुधार होता है और इसके दम पर आसान ऐक्सीलरेशन और बेहतर ढंग से ईंधन का इस्तेमाल किया जा सकता है।  

 

HRA0 टर्बो इंजन में छह तकनीकी सुधार भी शामिल हैं जिससे गाड़ी कम ईंधन में ज़्यादा चलती है और कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जन कम होकर 118.5 ग्राम/किमी के स्तर पर आ जाता है। इंजन तेज़ और प्रभावी ऐक्सीलरेशन का नया अनुभव देता है। इसके साथ ही बेहतर पावरट्रेन और रोड न्वॉइज़ आइसोलेशन की मदद से आवाज़, वाइब्रेशन और  सख्ती कम हो जाती है जिससे गाड़ी का केबिन में शोर कम हो जाता है। HRA0 1.0 लीटर  टर्बो इंजन आम तौर पर बनाए गए इंजन के मुकाबले 50 फ़ीसदी से ज़्यादा बेहतर ऐक्सीलरेशन देता है और इसका पता टेक-ऑफ़ और ओवरटेक करते समय चलता है।

 

 

राकेश श्रीवास्तव, प्रबंध निदेशक, निसान मोटर इंडिया ने कहा: "नई निसान मैग्नाइट में निसाननेस का दर्शन शामिल किया गया है जिसका मतलब है बेहतरीन उत्पादों और टेक्नोलॉजी के ज़रिये लोगों को सशक्त बनाना। इस कोशिश का पूरा ज़ोर बिना प्रयास और मजे़दार ड्राइविंग अनुभव देने के साथ ही उत्सर्जन कम करने और बेहतर माइलेज देने की ओर है- यह ऐसा मिश्रण है जिसे हर कार मालिक पसंद करेगा।"

 

HRA0 टर्बो इंजन का इलास्टिक ऐक्सेसरी बेल्ट खास तरह के मैटेरियल का बना है जिसकी मदद से यह बिना किसी टेंशनर के काम करता है, वज़न और रगड़ को कम करता है जिससे माइलेज और कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जन कम होता है। कॉम्पैक्ट ढंग से डिज़ाइन किए गए सिलिंडर हेड में इंटीग्रेटेड एक्ज़ॉस्ट मैनिफ़ोल्ड और प्लास्टिक कवर है जो बेहतर इंजन पैकेजिंग उपलब्ध कराता है और बेहतर व तेज़ कैटलिस्ट वॉर्मिंग के लिए डक्ट की संख्या कम होती है, इससे उत्सर्जन कम होता है।

 

72 पीएस की अधिकतम ताकत और 92 एनएम का टार्क के साथ नई निसान मैग्नाइट साधारण तौर पर बनाए गए B4D पेट्रोल इंजन के साथ भी उपलब्ध होगी। सभी रेव पर अधिकतम रिस्पॉन्स देने वाले निसान के डुअल वीवीटी सिस्टम के साथ B4D उन लोगों के लिए उपयुक्त विकल्प है जो ऐसे ताकतवर इंजन की तलाश में हैं जिसका रखरखाव आसान हो।