ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
पदों पर नियुक्ति जाति के आधार पर नहीं, योग्यता के आधार पर: शर्मा
February 20, 2020 • Vijay sharma
भोपाल। अखिल भारतीय भारतीय जनता पार्टी द्वारा मध्यप्रदेश में अध्यक्ष पद बीडी शर्मा की नियुक्ति के बाद से भारतीय जनता पार्टी में एवं विपक्ष में तथा राजनीति क्षेत्रों में जातीय समीकरणों को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। मध्यप्रदेश शासकीय अधिकारी कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष रघुवीर शर्मा का कहना है कि राजनीतिक नियुक्तियों में योग्यता को प्रमुख आधार बनाया जाना ही उचित होगा। 
  शर्मा ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश हित में युवा सांसद को अध्यक्ष बनाया गया है, जिस प्रकार जातिवाद को लेकर विवाद खड़ा किया जा रहा है। उनका कहना है कि इस तरह की बात कर कर लोग अपना स्वार्थ सिद्ध करना चाहते हैं, जिसमें पार्टी के नेताओं के साथ साथ बाहरी तत्व भी शामिल हैं। समाचार पत्रों के माध्यम से भी इस प्रकार की अफवाह उड़ाई जाती हैं कि अब प्रदेश अध्यक्ष ब्राह्मण बन गया है, तो विपक्ष के नेता को हटाया जा सकता है। शर्मा ने कहा, यह परंपरा 1981 से एक मुख्यमंत्री ने शुरू की थी, इसके बाद जातिवाद के आधार पर राजनीति का विस्तार हुआ। जाति के आधार पर कहीं वोटिंग नहीं की जाती है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश जैसा राज्य जहां पर जातिवाद की बात नहीं होती विपक्ष के विधायक दल के नेता के रूप में जिन्हें बनाया गया है, पार्टी के वरिष्ठ विधायक हैं। उन्हें वरिष्ठता के आधार पर विपक्ष के नेता बनाया गया है ना कि जातिवाद के आधार पर। इस प्रकार का वातावरण बनाकर जिस प्रकार पार्टी के अंदर एवं बाहरी लोग गलत प्रचार प्रसार कर रहे हैं। जिस प्रकार की साजिश मध्यप्रदेश में की जा रही है उसे केंद्रीय नेतृत्व को समझना चाहिए। वरिष्ठ एवं अच्छे नेताओं को कमजोर करके अपना स्वार्थ सिद्ध करना चाह रहे हैं।