ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
पर्वतारोही भावना डेहरिया पहुंची ऑस्ट्रेलिया के माउंट कोज़िअस्को की चोटी पर खेला रंग-गुलाल
March 10, 2020 • Admin

  ऑस्ट्रेलिया  ।  मप्र के छिंदवाड़ा की रहने वाली एवेरेस्टर भावना डेहरिया ने अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो पर दीपावली के दिन फतह हासिल कर भारत का तिरंगा लहराया था और यहीं दीवाली भी मनाई थी। अब भावना ने रंगों का त्यौहार होली ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट कोज़िअस्को पर मनाया और यहां उन्होंने तिरंगा फहराने के साथ ही रंग-गुलाल से होली भी खेली। 

भारतीय संस्कृति की खूबसूरती को चरम पर पहुंचाते हुए भावना ने रंग खेला और भारतीय संस्कृति को बढ़ावा दिया। अपनी इस यात्रा के बताते हुए भावना ने कहा, "मैं बहुत भाग्यशाली और खुद पर गर्व महसूस कर रही हूं कि मैंने भारत के दो सबसे बड़े त्यौहार पर्वतों की चोटियों पर मनाए। उन्होंने बताया- इससे पहले मैंने 27 नवंबर, 2019 को दिवाली के मौके पर अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो की समिट पूरी की थी। और इस बार भी मैंने होली के मौके पर ऑस्ट्रेलिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट कोज़िअस्को समिट पूरी की। मैं ऐसा कह सकती हूं कि ये समिट मेरे लिए बहुत ही यादगार रही। इस समिट को मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड (एमपीटीबी) द्वारा सपोर्ट किया गया था और इसके लिए भावना ने बोर्ड का दिल से आभार व्यक्त किया है। 

भावना 6 मार्च को ऑस्ट्रेलिया पहुंची थी और उन्होंने  माउंट कोज़िअस्को की चढ़ाई शुरू की थी। भावना ने होली के दिन (10 मार्च) समिट को पूरा किया। उन्होंने वहां राष्ट्रीय तिरंगा फहराया और साथ ही होली के मौके पर रंग-गुलाल भी उड़ाया। इसके अलावा, उन्होंने मध्य प्रदेश टूरिज्म और एडवेंचर स्पोर्ट्स को बढ़ावा देते हुए शिखर पर बैनर भी प्रदर्शित किया। वे वहां भारतीय राजदूत से भी मिलीं। भावना 12 मार्च, बुधवार को भोपाल लौट आएंगी।

आपको बता दें कि भावना 22 मई, 2019 को माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली मध्य प्रदेश की पहली महिलाओं में से एक हैं। उन्होंने 31 दिसंबर, 2019 को दक्षिण अमेरिका के माउंट अकोंकागुआ की चढाई समिट से 6500 मीटर की उचाई से मौसम ख़राब होने के कारण वापस आना पड़ा था जो अब अगले साल पूरा करेंगी इसकी ऊंचाई 6962 मीटर थी। अगस्त 2018 में 6593 मीटर चढ़ाई चढ़कर माउंट मनिरंग (हिमाचल प्रदेश) समिट किया था। वहीं, 2017 में माउंट डीकेडी-2 (5670 मीटर) घड़वाल समिट पूरी की थी।