ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
पेट्रोल पम्प व शासकीय उचित मूल्य की दुकानो से बगैर मास्क लगाए प्रदाय ना करें: कलेक्टर
August 1, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

 कलेक्टर ने शाउमू की दुकान के विक्रेताओं को दुकान के बाहर फ्लेक्स बेनर लगाने का दिया आदेश
भिण्ड ।  कोरोना वायरस के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए जिले के समस्त 508 शासकीय उचित मूल्य की दुकानो के विक्रेताओं को कलेक्टर ने आदेष जारी कर कहा है कि बगैर मास्क लगाए किसी भी उपभोक्ता को राशन वितरण ना किया जाए। कलेक्टर वीरेन्द्र सिंह रावत ने कोरोना वायरस के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए जिले के शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के विक्रेताओं को आदेष जारी कहा है कि प्रत्येक शासकीय उचित मूल्य की दुकान का विक्रेता अपनी दुकान में दृष्टव्य स्थान पर इस आषय का फ्लेक्स बैनर लगाए कि दुकान पर सामग्री लेने आने वाला प्रत्येक उपभोक्ता मास्क लगाकर ही आएगा, यदि कोई उपभोक्ता बिना मास्क के सामग्री लेने आता है, तो उसे पहले मास्क लगाकर आना होगा तभी सामग्री प्रदाय की जाएगी। इसीप्रकार प्रत्येक विक्रेता वितरण के समय दुकान पर तापमान नापने वाला स्केनर, सेनेटाईजर आवष्यक रूप से रखेगा। विक्रेता सामग्री लेने वाले उपभोक्ता तापमान भी मापेगा। सामग्री लेने वाले प्रत्येक उपभोक्ता का तापमान यदि अनियमित पाया जाता है तो उसका नाम, पता की जानकारी संधारित की जाए। जिसकी जानकारी संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय को प्रतिदिन उपलब्ध कराई जाए। इसके साथ ही प्रत्येक विक्रेेता अपनी दुकान पर सोषल डिस्टेसिन्ग बनाए रखने हेतु सफेद रंग के कम से कम 6-6फीट की दूरी पर गोले बनाएंगे। सामग्री लेने आने वाले उपभोक्ता से सोषल डिस्टेसिन्ग का पालन कराया जाए।

बगैर मास्क लगाए किसी भी व्यक्ति को पेट्रोल ना देने के निर्देश

 कोरोना वायरस के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए जिले के समस्त पेट्रोल संचालको को कलेक्टर ने आदेष जारी कर कहा है कि सभी पेट्रोल पम्प संचालक अपने पम्प परिसर में इस आषय का फ्लेक्स बेनर लगाए कि डीजल/पेट्रोल ने वाले प्रत्येक व्यक्ति को मास्क लगाना आवष्यक है। यदि कोई व्यक्ति बगैर मास्क के डीजल/पेट्रोल लेने आता है तो उसे डीजल/पेट्रोल नहीं दिया जाए। कलेक्टर वीरेन्द्र सिंह रावत ने पम्प परिसर पर डिस्टेसिन्स यूनिट के पास तापमान मापने वाला स्केनर, सेनेटाईजर, सफेद रंग के 6-6 फीट की दूरी पर गोले बनाए जाए। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति का अगर तापमान अनियमित पाया जाता है तो उसका नाम, पता की जानकारी प्रतिदिन अस्पताल प्रबंधन को उपलब्ध कराए।