ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
फेडरेशन के अध्यक्ष डॉ गोस्वामी के वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में उठाये गये मुद्दे
May 7, 2020 • Admin

भोपाल।  प्रदेश के विभिन्न औद्योगिक संगठनों के साथ मुख्यमंत्री द्वारा विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से फेडरेशन के अध्यक्ष डॉ राधाशरण गोस्वामी से चर्चा की गई। जिसमें अध्यक्ष के द्वारा सूक्ष्म और लघु उद्योंगों प्राथमिकता से मुददों पर बात की गई।फेडरेशन के अध्यक्ष ने मांग रखी की प्रधानमंत्री के निर्देश पर सिडबी द्वारा जो कोविड से संबंंिधत उत्पादन करने वाली इकाईयों को 5 प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण देने कीयोजना बनाई गई है जिसे प्रदेश के समस्त लघु एवं सूक्ष्म उद्योग पर लागू किया जाये। कम से कम एवं फिक्स शुल्क हटाकर भारमुक्त किया जाये और अगले तीन माह तक जितनी बिजली उतना ही बिल लिया जाये। फेडरेशन के उपाध्यक्ष योगेश ताम्रकार ने बताया कि डिस्कोम कम्पनी द्वारा चाही गई दर 6.60 पैसे में लाभ जोड़कर तय किया गया है। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में उद्योगों से बिजली के बिल विद्युत नियामक आयोग द्वारा निर्धारित दर पर लिए जाने का सुझाव दिया अध्यक्ष महोदय ने कहा कि उद्योग विभाग द्वारा विभिन्न औद्योगिक क्षेत्र में मेंटेनेंस शुल्क लिया जाता है और इसी के साथ प्रॉपट्री टैक्स भी लिया जाता है। अत: कोविड 19 से उत्पन्न इस विषम परिस्थिति में मेंटेनेंस चार्जेस इस वर्ष के लिये पूर्णत: माफ किया जाये और प्रॉपट्री टैक्स 50 प्रतिशत किया जाये। इस पर माननीय मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों से पूछा कि इस तरह दो कर क्यों लिये जाते है, इसके बदले में आप इन्हें क्या सुविधायें देते है। आगे उन्होनें अधिकारियों से कहा कि इस पर कोई स्पष्ट व्यवस्था बनाई जाये। देश से 85 अरब रूपये प्रति वर्ष फार्मास्यूटिकल का निर्यात होता है जिसमें 8.1 प्रतिशत अर्थात् लगभग 6.95 अरब रूपये का निर्यात मध्यप्रदेश से होता है। कोविड 19 से उत्पन्न समस्या को देखते हुये इस उद्योग से दवाओं एवं अन्य स्वास्थ्य संबंधी उत्पाद की मांग विश्व भर में तेजी से बढ़ेगी। शासन को इस बात पर ध्यान देते हुये नीति का निर्धारण करना चाहिये। राज्य शासन को उद्योगों का पक्ष रखते हुये श्रमिकों के वेतन संबंधी स्पष्ट नीति बनाना चाहिये जिससे भ्रम की स्थिति दूर हो सकें।