ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
पॉली हाउस के नाम पर करोडों हडपने वाला आरोपी गिरफतार
August 28, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

भोपाल । राजधानी सही प्रदेश के अन्य शहरों में किसानों के साथ पोली हाउस बनवाने के नाम पर करोड़ों रुपए की ठगी करने वाला आरोपी को रातीबड़ पुलिस के द्वारा आज गिरफ्तार किया गए गए  जिससे अन्य मामलों के बारे में पूछताछ की जा रही है। अपराधों पर नियंत्रण करने के उद्देश्य से  डीआईजी शहर इरशाद वली द्वारा शहर के निवासियों को ठगने वाले बदमाशों, ईनामी फरार अपराधियों की धरपकड हेतु निर्देश दिये गये है, जिसके पाल थाना प्रभारी  रातीबड सुधेश तिवारी, थाना प्रभारी नजीराबाद भरत प्र्रताप सिंह को इस प्रवृत्ति के बदमाशों की धरपकड एवं गिरफतार हेतु आदेशित किया गया । थाना रातीबड द्वारा आरोपी भारत पटेल की सरवर स्थित कृषि भूमि, रातीबड क्षेत्र में भरत पटेल द्वारा लगाये गये पॉली हाउस मालिकों से भी चर्चा कि गई , आरोपी द्वारा नये पाली हाउस बनाने के नाम पर पुनः ठगी करने वाले ग्रामीणों एवं आरोपी के मूवमेंट पर सतत् निगाह रखी गई, जिससे पुनः लगाये गये मुखबिरो का जाल बिछाया गया, थाना रातीबड क्षेत्र में आरोपी की कृषि भूमि होने के कारण उसकी गतिविधियों एवं मूवमेंट पर सतत निगाह रखी गई, जिसके परिणास्वरुप गुरुवार 27 अगस्त को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि उक्त आरेपी भरत पटेल संदिग्ध स्थिति में सरवर जोड पर खडे होकर अपने किसी साथी का इंतजार कर रहा है, इस सूचना पर थाना प्रभारी सुधेश तिवारी द्वारा हमराह पुलिस टीम के स्टाफ प्र.आर. रमेश खत्री, आर. आलोक तिवारी, आर. अतुल जंगजे के साथ रवाना होकर उक्त स्थान पर घेरकर आरोपी भारत पटेल आधारशिला कालोनी थाना अवधपुरी को मय धारदार चाकू के गिरफतार किया जाकर धारा 25 आर्म्स एक्ट का प्रकरण दर्ज किया गया है।    

       आरोपी द्वारा पूछताछ में बताया कि वह भोले भाले ग्रामीणों को जमीन के उपर पॉली हाउस बनाने के नाम पर बैंक व उद्धान विभाग से लोन लेकर किसानों का कुछ राशि का काम करके शेष पैसा अपने उपयोग में ले लेता था, इस प्रकार से बेवकूफ बनाकर आरेपी भारत पटेल द्वारा कई लोगों को ठगा गया। आरोपी पर थाना कुंभराज- गुना, माधवनगर-उज्जैन,मक्सी -शाजापुर, तलेन-राजगढ , नजीराबाद- भोपाल ,रातीबड-भोपाल में धोखाधडी ,अवैध हथियार जैसे मामले दर्ज है। 

उक्त विभिन्न जिलों के पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा फरार आरोपी पर ईनाम घोषित किया गया है, अभी तक 20 हजार रुपये की अन्य जिलो से ईनामी होने की जानकारी प्राप्त हुई है। आरोपी के पकडे जाने के पश्चात अन्य प्रकरण भी सामने आने की संभावना है, आरोपी द्वारा उक्त प्रकरणों में ही 3 से 4 करोड रुपये की धोखाधडी की गई है, आरोपी के फरारी अवधि में निवास करने के स्थान ,साथी ,आय के स्त्रोत की जानकारी भी प्राप्त की जा रही है।