ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
पूर्व सपनि कर्मियों को ईपीएफ का रूका भुगतान जल्द कराये सरकार: इंटक
April 20, 2020 • Admin

भोपाल। सड़क परिवहन निगम कर्मियों को प्रदेश में लॉकडाउन के दौरान भविष्य निधि में रूका हुआ पैसे का भुगतान कराने को लेकर मप्र ट्रांसपोर्ट वर्कर्स फेडरेशन इंटक ने प्रदेश सरकार से मांग की है। वर्तमान में पूर्व कर्मचारी आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं। इस भुगतान से उन्हें कुछ राहत मिलगी। फेडरेशन इंटक प्रवक्ता विजय कुमार शर्मा ने जारी बयान में बताया कि मप्र ट्राँसपोर्ट वर्कर्स फेडरेशन इंटक ने मांग की है कि पूर्व कर्मचारियों का रूका हुआ भविष्य निधि का भुगतान प्रदेश सरकार को जल्द करे जिससे आर्थिक तंगी से गुजर रहे कर्मचारियों को कुहृ राहत मिल सके। श्री शर्मा ने बताया कि मप्र ट्राँसपोर्ट वर्कर्स फेडरेशन इंटक  महामंत्री प्रवेश मिश्रा द्वारा मुख्य मंत्री को  भेजे गए पत्र के माध्यम सेें यह मांग की गई है। पत्र में उल्लेख किया गया है कि ईपीएस 95 अन्तर्गत पेंशन 500 से 2500 रुपये मात्र मप्र सड़क परिवहन निगम के लगभग 18 हजार पूर्व कर्मचारी इस पेंशन को ले रहे हैं। सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के परिपालन में पूर्व कर्मचारियों को भी मंहगाई भत्ते का भुगतान हुआ था। सपनि प्रबंधन ने नियम विरुद्ध इस धनराशि में से ईपीएफ हेतु राशि काटकर भुगतान किया गया। यह पैसा ईपीएफ भविष्यनिधि और सपनि प्रवंधन की खींचतान में रूका हुआ है। वर्तमान में कोरोना महामारी के कारण देश लॉकडाउन हैं इस स्थिति में ईपीएस अल्प पेंशनभोगी सपनि कर्मचारी भारी आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं और उनका 8 से 20 हजार रुपये प्रति कर्मचारी भविष्य निधि आफिस में रूका हुआ हैं। जिसका भुगतान अगर सरकार करती है तो कोई अतिरिक्त भार नहीं आयेगा, क्योंकि यह धनराशि भबिष्य निधि संगठन को भुगतान करना है। अत: मप्र ट्राँसपोर्ट वर्कर्स फेडरेशन इंटक केन्द्रीय श्रममंत्री भारत सरकार पुरुषोत्तम गंगवार एवं मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग करता है कि वे भविष्य निधि आयुक्त मप्र और प्रबंध निदेशक सपनि को कड़े निर्देश दें कि डीए में से भविष्यनिधि के रुप में काटी गई धनराशि सपनि के पूर्व कर्मचारियों को अविलम्व भुगतान करें। जिससे पेंशनर्स इस आर्थिक संकट से मुकाबला कर सके, साथ ही मप्र सरकार ईपीएस पेंशनधारियों को भी नि:शुल्क खादान्न भी उपलब्ध करायें।