ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
प्रदेश में लगातार 24 घंटे हो रही बारिश, सभी बांध हुए फुल, पानी निकालने खोले गए गेट
August 29, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

भोपाल। प्रदेश में दो दिन से हो रही लगातार बारिश से कुछ जिलों में बाड़ की स्थिति निर्मित हो गई है। वहीं सभी बांधों पानी की क्षमता पूर्ण हो चुकी। है और आवक होने से जलस्तर अधिक ना हो गए खोले गए हैं। द्वारा प्रदेश की प्रमुख नदियों का जलस्तर की जानकारी ली गई । जिसमें  प्रदेश के सभी बांधो का जल स्तर एवं किस बांध के कुल कितने गेट खोले गए है । बारिश अधिक होने से प्रदेश के लगभग सभी बांध का लेवल फुल हो चुका है।भोपाल संभाग में सर्वाधिक बारिश रायसेन में हुई है। राजधानी में लगातार हो रही बारिश से बड़ा तालाब पानी से लबालब हो गया। भौंरी के पास बड़े तालाब का पानी इंदौर भोपाल मार्ग पर आ गया है। भोपाल और आसपास के क्षेत्रों में देर रात से तेज बारिश का दौर जारी है । लगातार हो रही तेज बारिश से भोपाल के तालाब की जीवनदायिनी कुलांसी नदी भी उफान पर आ गई है। कुलांसी नदी के सहयोगी नालों के उफान पर आने से जिले के लगभग एक दर्जन गांवों का सड़क मार्गों से सम्पर्क टूट गया है।
निगम कमिश्नर पहुंचे आपदा कंट्रोलरूम
कंट्रोलरूम में बैठकर लोगों की समस्या सुनी
है । समस्याओं को सुनने के बाद निगम के अमले के साथ खुद पहुंचे लोगों के निवास पर। वहीं बारिश अधिक होने से जहांगीर स्कूल की दीवार गिर गई जिसकी सूचना पर निगमायुक्त स्कूल का निरीक्षण करने भी पहुंचे। साथ ही समस्याओं के निराकरण के लिए अधिकारियों कर्मचारियों को 24 घंटे अलर्ट पर रहने के दिए निर्देश।


अगले 48 घंटे प्रदेश में रैन फाल की स्थिति है 
तवा डैम के 13 में से 13 गेट खोले गए है 
इंदिरा सागर के 22 गेट खोले गए है
ओम्कारेश्वर में 23 में से 21 गेट खोले गए
राजघाट 18 में से 14 गेट खोले गए
बरगी के 21 में से 17 गेट खोले गए
मंडला, पेंच बांध के सभी गेट खोले गए है
जबलपुर संभाग में छिंदवाड़ा और नरसिंहपुर में सबसे अधिक बारिश हुई है । छिंदवाड़ा के बेलखेड़ा में 150 लोगो को सुरक्षित कैम्प में पहुंचाया गया। 
नरसिंहपुर के गाडरवारा में शकर नदी में आयी हुई बाढ़ आ गई है बाड़ से बचाव के लिए जबलपुर से नगर सेना की टीम द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है क़रीब 1 दर्जन से अधिक वृद्ध महिलाओं एवं बच्चों को सकुशल अभी तक निकाला गया है इसके अलावा सामान्यजन की मदद भी इसमें मिल रही है सभी लोगों के सम्मिलित प्रयास से अभी तक किसी प्रकार की अप्रिय घटना नहीं घटी है सभी सकुशल बाहर निकाले जा रहे हैं।एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की सभी टीम को एलर्ट किया गया है, आवश्यकता होने पर टीम का डिप्लॉयमेंट तुरंत होगा।