ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
प्रदेश में राज्यसभा की तीन सीटों के लिए 9 अप्रैल को मतदान
April 4, 2020 • Admin
भोपाल। निर्वाचन आयोग द्वारा राज्यसभा की सीटों के लिए एक बार फिर अधिसूचना जारी की है। इसके तहत दो चरणों में मतदान होगा। प्रदेश की तीन सीटों के लिए 9 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। इसके चलते भाजपा और कांग्रेस खेमों में हलचल फिर से तेज हो गई है। 
निर्वाचन आयोग की नई अधिसूचना के अनुसार आगामी 9 अप्रैल को मध्यप्रदेश की तीन, आंध्र प्रदेश की 4, झारखंड की 2, मणिपुर की 1, राजस्थान की 3 तथा गुजरात की 4 सीटों के लिए मतदान होगा, जबकि मेघालय की एक सीट के लिए मतदान की तारीख 12 अप्रैल निर्धारित की गई है। निर्वाचन अयोग ने कल की तारीख में अधिसूचना जारी कर कहा है कि पिछले माह की 26 तारीख को होने वाले चुनाव कोरोना के संक्रमण के चलते घोषित लाक डाउन के कारण टाल दिए गए थे, उन 18 सीटों के लिए इन नई तारीखें में वोट डाले जाएंगे। इस अधिसूचना से प्रशासनिक अधिकारियों की चिंता बढ़ गई है। अभी तक यह तय नहीं हो पा रहा है कि विधायकों को वोटिंग के लिए भोपाल कैसे लाया जाएगा, या मतदान की कोई वैकल्पिक व्यवस्था भी हो सकती है? अभी तक भौतिक उपस्थिति मतदान के लिए अनिवार्य है, लेकिन लाक डाउन और कोरोना के संक्रमण के प्रसार ने भय की स्थिति पैदा कर दी है। इधर इस अधिसूचना के साथ ही राजनीतिक दलों के नेताओं ने भी सदस्यों से संपर्क शुरू कर दिया है। अभी तो दोनों प्रमुख पार्टियों के प्रदेश अध्यक्षों की ही इस मामले में कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है कि मतदान के लिए विधायकों को भोपाल कैसे लाया जाएगा। 
मध्य प्रदेश की तीन राज्यसभा सीटों पर चार प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें बीजेपी से ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी तो कांग्रेस से दिग्विजय सिंह और फूल सिंह बरैया की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। कांग्रेस ने फस्र्ट प्रायोरिटी दिग्विजय और सेकेंड पर बरैया को रखा है जबकि, बीजेपी ने फस्र्ट पर सिंधिया और दूसरी पर सोलंकी को रखा है। कांग्रेस के 22 विधायकों की सदस्यता जाने 
के बाद सदन में उसके सदस्यों की संख्या कम रह गई है, ऐसे में भाजपा को लाभ होगा और उसके दो सदस्य राज्यसभा चले जाएंगे। कांग्रेस से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की जीत पक्की मानी जा रही है, जबकि सिंधिया और बरैया को भी जीत मिल जाएगी।