ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
प्रसूति लाभ देने में भोपाल सम्भाग आगे,हजारों महिलाएं हुई लाभान्वित
February 16, 2020 • Vijay sharma
भोपाल। संभाग में मुख्यमंत्री प्रसूति योजना के तहत जहां 52 हजार 251
महिलाओं को 4 से 12 हजार रूपये जबकि 99 हजार 567 महिलाओं को संस्थागत प्रसव कराने पर 1400 से दो हजार रूपये तक की राशि प्रदान की गई है। परिवार के स्वास्थ्य का घर की महिला के स्वास्थ्य से सीधा संबंध जुड़ा है। इसी विषय को केन्द्र में रखकर केन्द्र प्रवर्तित योजनाओं में मध्यप्रदेश सरकार द्वारा महिला स्वास्थ्य योजनाओं पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। शासन की मंशानुरूप आयुक्त भोपाल द्वारा सुरक्षित मातृत्व एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए समय-समय पर समीक्षा बैठक की जाती है । सुरक्षित मातृत्व एवं शिशु के लिए व जननी सुरक्षा योजना के तहत संस्थागत प्रसव को विस्तारित किया गया है ताकि मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम किया जा सके। इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु प्रयासरत सरकार द्वारा भोपाल संभाग में कुल वार्षिक लक्ष्य 225991 की तुलना में 127289 संस्थागत प्रसव कराये जाकर 56 प्रतिशत से अधिक लक्ष्य की प्राप्ति की गयी है जिसमें सबसे अग्रणी भोपाल जिला रहा, लगभग 80 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करते हुए 54154 में से 43180 संस्थागत प्रसव कराए गये है । इसी योजना के तहत गर्भवती महिला का संस्थागत प्रसव कराने पर ग्रामीण क्षेत्रों
में 2000 रुपये एवं शहरी क्षेत्रों में 1400 रूपये प्रदान करते हुए भोपाल संभाग के कुल निर्धारित वार्षिक लक्ष्य 103608 प्रकरणों में से 99567 प्रकरणों में राहत राशि वितरित की गयी है। जिसमें भी भोपाल जिला पुन: अग्रणी रहते हुए 29970 रजिस्टर्ड प्रकरणों में से 29760 प्रकरणों में राशि वितरित की गई है । गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य सुरक्षा और संस्थागत प्रसव को ध्यान में रखते हुए मध्यप्रदेश सरकार द्वारा मध्यप्रदेश नया सवेरा योजना, मुख्यमंत्री श्रामिक सेवा प्रसृति सहायता योजना के तहत 4000 से लेकर 12000/- रूपये तक की प्रोत्साहन राशि दिये जाने का प्रावधान है । इसके अंतर्गत भोपाल संभाग में योजना के अंतर्गत पंजीबद्ध कुल 53449 हितग्राहियों में से 52251 हितग्राहियों को राशि खाते में हस्तांतरित की जा
चुकी है। राज्य सरकार के इन्ही सतत प्रयासों एवं लक्ष्यानुसार योजनांतर्गत कार्य करते हुए मातृत्व एवं शिशु सुरक्षा की दिशा में अथक एवं निरंतर प्रयास किये जा रहे है । निश्चित ही इन प्रयासों का सकारात्मक परिणाम निकट भविष्य में देखने को मिलेगा और मध्यप्रदेश संपूर्ण देश में स्वस्थ के क्षेत्र में राज्यों की अग्रणी पंक्ति में अपनी स्थिति सुनिश्चित करेगा।