ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
राजधानी में आज से 56 फीवर क्लीनिक आरंभ
June 7, 2020 • Admin

सभी ले सकेंगे फीवर क्लिनिको का लाभ

भोपाल। राजधान में आज से स्वास्थ्य विभाग द्वारा 56 फीवर क्लीनिक की शुरुआत की गई है जिसमें सामान्य बुखार, सर्दी-खांसी के उपचार के साथ ही कोविड19  के मरीजों के जाँच की व्यवस्था करवाई गई है।

प्रदेश में वर्तमान में कोरोना महामारी के चलते  साधारण बुखार, खांसी,जुकाम व् अन्य छोटी बिमारियों के उपचार के लिए जनता को परेशां होना पड़ रहा है। साधारण बिमारियों की जांच करवाने जनता शासकीय अस्पताल में जनता जाने से डर रही है। इस दौरान जिसकी शिकायतें  स्वस्थ्य विभाग व् जिला प्रशासन को भी प्राप्त हुई हैं । जनता को रहत देने के  उद्देश्य से स्वस्थ्य विभाग ने नया कदम उठाते हुए राजधानी में आज से 56 शासकीय उपचार केंद्र की  किये गए हैं। यहाँ पर कोविड 19 से सम्बंधित  जाँच के लिए नमूने लिए जायेंगे।जिससे इसके बेहतर परिणाम नज़र आयेंगे। जहाँ कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों की जांच प्रारंभिक अवस्था में हो जाने से मरीज का शीघ्र ही उपचार प्रारंभ किया जा सकता है। साथ ही मरीज को आइसोलेट कर संक्रमण के फैलाव को रोका जा सकता है। फीवर क्लीनिक में मरीजों की थर्मल स्कैनिंग एवं ऑक्सीजन के स्तर की जांच की जाकर क्लिनिकली लक्षणों के आधार पर इलाज उपलब्ध कराया जा रहा है।साथ ही आवश्यकतानुसार सैंपल लेने की सुविधा भी उपलब्ध है। शहर में कुल 56 शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में फीवर क्लिनिक संचालित करने की शुरुआत की गई है जिनमें जिला चिकित्सालय, सिविल अस्पताल, सभी गैस राहत चिकित्सालय, हमीदिया अस्पताल, सुल्तानिया, रेलवे, कस्तूरबा, ईएसआई अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सिविल डिस्पेंसरी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और संजीवनी क्लीनिक में यह क्लीनिक संचालित किए जा रहे हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी भोपाल डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि कई बार बुखार या सर्दी खांसी जैसे लक्षणों के आने पर व्यक्ति अस्पताल ना आकर घर पर ही दवाइयां लेता रहता है। साथ ही ऐसे मरीज जो पूर्व से किन्ही गंभीर बीमारियों से ग्रस्त रहे हो या जो बुजुर्ग हो उनके कोरोना संक्रमित होने पर एवं अस्पताल पहुंचने में विलंब करने पर स्थिति घातक हो सकती है। उन्होंने इस संबंध में बताया है की स्वास्थ्य संबंधी परेशानी होने पर व्यक्ति अविलंब रूप से अपने घर के नजदीकी शासकीय स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक से परामर्श लेकर दवा एवं उपचार ले सकता है। इसके अतिरिक्त शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बनाए गए इन फीवर क्लीनिकों पर आम लोगों के लिए बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई है जिससे संक्रमित लक्षणों के आधार पर व्यक्ति अपने नजदीकी फीवर क्लिनिक पर जाकर स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं का लाभ ले सकता है।