ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
सड़कों के तेजी से शुरू हुए कार्य, 38 हजार करोड़ के 4 हजार से अधिक के काम जारी
July 2, 2020 • Admin

 इंदौर।  प्रदेश में विभिन्न विभागों में निर्माण कार्य तेजी से चल रहे हैं। कोरोना और लॉकडाउन के कारण जो काम रुक गए थे, वे काम शुरू हो गये हैं। लोक निर्माण विभाग में 38 हजार 701 करोड़ 51 लाख रूपये लागत के 4 हजार 247 कार्य चल रहे हैं और इनमें मजदूरों को रोजगार मिल रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशानुसार लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई द्वारा विभाग के कार्यों की सतत मॉनीटरिंग की जा रही है। वे लोक निर्माण विभाग, परियोजना क्रियान्वयन इकाई और मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम द्वारा कराये जा रहे निर्माण कार्यों में अधिकाधिक संख्या में मजदूरों को काम मिलना सुनिश्चित कर रहे हैं। प्रमुख अभियंता लोक निर्माण के अन्तर्गत 28 हजार 211 करोड़ 73 लाख रुपये की लागत के 3,394 कार्य प्रारंभ किये गये हैं जिनमें 1,427 श्रमिक कार्यरत हैं। इसी प्रकार प्रमुख अभियंता सड़क विकास निगम के तहत 5,099 करोड़ 15 लाख रुपये की लागत के 85 कार्य प्रारंभ किये गये हैं जिसमें 2,012 श्रमिक कार्यरत हैं। परियोजना संचालक परियोजना क्रियान्वयन इकाई के अन्तर्गत 5,390 करोड़ 63 लाख रुपये की लागत के 768 कार्य प्रारंभ किये गये हैं जिनमें 17 हजार 306 श्रमिक कार्यरत हैं। लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत प्ररिक्षेत्र सागर में 705 लाख 80 हजार रुपये लागत के 144 अनुबंधित कार्य, उज्जैन में 151542 लाख 45 हजार के 241 अनुबंधित कार्य, ग्वालियर में 161794 लाख 34 हजार लागत के 326 अनुबंधित कार्य, सेतु परिक्षेत्र भोपाल में 310439 लाख लागत के 208 अनुबंधित कार्य, परिक्षेत्र भोपाल में 452826 लाख 71 हजार लागत के 28 सड़क निर्माण के अनुबंधित कार्य, मध्यक्षेत्र जबलपुर में 99268 लाख 86 हजार लागत के 324 अनुबंधित कार्य, रीवा परिक्षेत्र में 112647 लाख के 360 अनुबंधित कार्य, पश्चिम परिक्षेत्र इंदौर में 159262 लाख 68 हजार लागत के 211 अनुबंधित कार्य, राजधानी परिक्षेत्र भोपाल 205609 लाख 89 हजार लागत के 391 अनुबंधित कार्य चालू हैं। मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम द्वारा निर्माण पुन: प्रारंभ करने की गतिविधियाँ भी प्रारंभ की गई हैं। इनमें कुल मिलाकर विभिन्न जिलों में पुन: प्रारंभ किये गये 85 कार्यों में 2012 श्रमिक कार्यरत हैं। पुन: प्रारंभ कार्यों की कुल लागत 5099 करोड़ से अधिक है।