ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
सेनेटाइज के नाम पर किसी को न आने दें: कलेक्टर
March 19, 2020 • Admin
भोपाल। राजधानी में धोखाधड़ी की मंशा से कुछ के लोगों द्वारा घर में प्रवेश करने के उद्देश्य से ऐसा अभियान चलाया जा रहा है जिसमें घरों को सेनिटाइज करने का बोल कर घरों में चोरी या कोई अन्य दुर्घटना कर सकते है। इस आशंका को ध्यान में रखकर प्रशासन ने आमजन को सूचित किया है कि शासन के द्वारा किसी भी सरकारी एजेंसी या ग्रुप या किसी भी सदस्य को सेनीटाइजेशन (स्वच्छता) या किसी दवा के छिड़काव के लिए किसी भी शहर या घर में नहीं भेजा जा रहा ह। सभी जनों से अपील की गयी है कि अपने घर, परिवार और मित्रों को सावधान करें कि यदि कोई भी व्यक्ति या संगठन किसी भी नाम से आपके घर या मोहल्ले में आकर कहता है कि आपके घर को वायरस से साफ करने के लिए सेनीटाईज करना है या किसी दवा का छिड़काव करना है तो अपने घर का दरवाजा ना खोलें और ना ही अपने घर के अन्दर प्रवेश करने दें। इस तरह की किसी भी परिस्थिति बनने या घटना होने पर तत्काल इसकी सूचना फ़ोन या अन्य माध्यम से पुलिस कण्ट्रोल रूम, डायल 100 या नजदीकी थाने को दें। 
कोरोना संक्रमण को रोकने हर संभव प्रयास 
कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आरटीओ, बस- टैक्सी संचालक, होटल संचालक सहित सभी स्टोर्स संचालकों की कोरोना रोकथाम और बचाव के संबंध में बैठक सम्पन्न हुई । बैठक में कलेक्टर द्वारा भारत में कोरोना वायरस फैलने की संभावना को गंभीरता से लेते हुए कोविड-19 कोरोना वायरस के रोकथाम और संक्रमण से बचाव हेतु राष्टीय आपदा अधिनियम के तहत सभी बस टैक्सी संचालकों, होटल संचालकों सहित स्टोर्स संचालकों को आवश्यक निर्देश दिए गए । कलेक्टर तरूण पिथोड़े ने निर्देशित किया है कि आमजनों को संक्रमण से बचाने के लिए सभी बस-टैक्सी, होटल और स्टोर्स में हाथ धोकर या सेनेटाईजर से हाथ साफ कराकर ही सुपर बाजार या दुकानों में प्रवेश दें। 
इनका कहना 
कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए घरों को सेनिटाइज करने या स्वच्छता के लिए किसी भी एजेंसी, स्वस्थ्य विभाग और नगर निगम को निर्देशित नहीं किया गया है। 
तरुण कुमार पिथोड़े 
कलेक्टर भोपाल