ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
शराब की अवैध फेक्टरी सहित एक करोड़ रुपये का माल जप्त
April 30, 2020 • Admin

जिला पुलिस राजगढ़ की बड़ी कार्रवाई, हजारों लीटर स्प्रिट जप्त कर अवैध शराब बनाने का बॉटलिंग प्लांट एवं फैक्ट्री को किया सील 
जप्त माल में सीलिंग मशीन, कई ब्रांड्स के हजारों लेबल्स, होलोग्राम्स, करीब 25 हजार बॉटल्स, अंग्रेज़ी शराब के फ्लेवर्स भी शामिल 
         
राजगढ़ । जिले के माचलपुर थाने में पुलिस को   सूचना मिली कि कुछ लोग लॉक डाउन का फायदा उठाकर  अवैध रूप से शराब व्यापार कर रहे हैं।जिसपर कार्यवाही करते हुए करोड़ों रुपये की शराब के साथ आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। जिला पुलिस  द्वारा  अपने सूचना संकलन के माध्यम से इन अपराधियों की खोजबीन प्रारंभ की। अवैध शराब के व्यापार में लिप्त इस तरह के अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाने के लिए जिले कि एक विशेष टीम का गठन किया गया टीम द्वारा अपने प्रयासों से एक बहुत बड़ी सफलता अर्जित करते हुए अवैध शराब बनाने एवं बेचने के लिए एक फैक्ट्री और बॉटलिंग प्लांट का खुलासा किया गया। 

            जिले के माचलपुर क्षेत्र में कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी की ग्राम लिंबोदा में फूलसिंह पिता नारायण सिंह गुर्जर और गोपाल उर्फ रामगोपाल वर्मा आपस में मिलकर अवैध शराब से संबंधित गोरखधंधे में लिप्त हैं, मामले में बारीकी से पतारसी करने हेतु टीम ने हर एक पहलू को शुरुआत से खंगालना शुरू किया तो इनके द्वारा एक बहुत बड़ी योजना के तहत भारी मात्रा में अवैध शराब का निर्माण एवं भंडारण करने के बारे में पुख्ता सबूत पुलिस को मिले। मंगलवार को जिले के माचलपुर क्षेत्र अंतर्गत कुछ ऐसे माफियाओं का खुलासा हो सका, ग्राम लिंबोदा के रहने वाले फूल सिंह पिता नारायण सिंह गुर्जर के ठिकाने का पता लगाकर पुलिस की टीम ने चारों ओर से धावा बोला और आरोपी फूल सिंह को मौके से धर दबोचा। 
           जिला पुलिस का विशेष दस्ता एवं थाना माचलपुर की  पुलिस टीम ने संयुक्त रूप से आरोपी फूल सिंह को गिरफ्तार करने में सफलता अर्जित की वही जब आरोपी के ठिकाने को खंगालना शुरू किया तो सभी के होश उड़ गए वहां का मंजर देख कर ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे भारी मात्रा में अवैध शराब की बॉटलिंग की जा रही हो। 
         आरोपी फूल सिंह के मकान के  बरामदे से संचालित किया जा रहा था मौके से अवैध शराब के निर्माण के लिए भारी मात्रा में स्प्रिट होना पाया गया साथ ही अंग्रेजी एवं देसी शराब के निर्माण के लिए भारी मात्रा में कांच की एवं प्लास्टिक की बॉटल्स भी पाई गई थीं जिनमें अवैध शराब भरकर उनकी सप्लाई का धंधा किया जा रहा था। 
             मामले में तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी गई व दिशा निर्देश प्राप्त कर आरोपी फूल सिंह के ठिकाने से अवैध शराब बनाने के उपकरण को जप्त करना प्रारंभ किया गया जिसकी सूची काफी लंबी है, मौके से 17 ड्रम ओपी/स्पिरिट जप्त किया जिसके माध्यम से उक्त शराब का निर्माण किया जाता था उल्लेखनीय है कि इस स्पिरिट के एक ड्रम की कीमत करीब साढ़े 4 लाख आंकी गई है इस प्रकार  मौके से 75 लाख रुपये की अवैध स्पिरिट जप्त की गई, साथ ही 65 पेटी अंग्रेजी शराब करीबन 10 लाख रुपये, प्लास्टिक व कांच की खाली बोटलें करीब 5 लाख 50 हजार सहित बोटल में ढक्कन लगाने वाली मशीन, कागज के कार्टून जिनमें अवैध शराब भरकर सप्लाई की जाती थी, अंग्रेजी एवं देसी जैसे अलग-अलग शराब बनाने के तीन प्रकार के फ्लेवर सहित एक इंडिका कार 6 लाख एवं एक मोटरसाइकिल करीब 50 हजार रुपये की  विधिवत जप्त की गई, साथ ही मामला ट्रेड मार्क उल्लंघन का भी होना पाया गया। जप्त माल में सीलिंग मशीन, कई ब्रांड्स के स्टिकर्स, होलोग्राम्स, करीब 25 हजार बॉटल्स, अंग्रेज़ी शराब के फ्लेवर्स भी भारी मात्रा में जप्त किये गए हैं।
           प्रकरण में मुख्य रूप से फूल सिंह पिता नारायण सिंह गुर्जर एवं गोपाल उर्फ राम गोपाल वर्मा एवं उसके चार अन्य साथियों के विरुद्ध थाना माचलपुर में अपराध क्रमांक 112/2020 धारा 420, 467, 468, 471,475,188, 269, 270, 34 भादवि 34(2), 49(A) आबकारी अधिनियम , आपदा प्रबंधन की धारा 51, ट्रेडमार्क अधिनियम की धारा 29 के तहत पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है । आरोपी राम गोपाल वर्मा की तलाश जारी है गिरफ्त में आए आरोपी फूल सिंह गुर्जर से पूछताछ करने पर उसके द्वारा बताया गया की उसने रामगोपाल के साथ मिलकर अवैध शराब बनाने के इस गोरखधंधे की शुरुआत की थी। गोपाल उर्फ राम गोपाल वर्मा अवैध शराब रखने एवं बेचने के लिए पूर्व से ही काफी कुख्यात माना जाता है, जिसका आपराधिक रिकॉर्ड भी  है।  पुलिस दल द्वारा एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया है जिसके तहत करीब एक करोड़ एक लाख रुपए के अवैध शराब बनाने उपकरण सहित भारी मात्रा में स्पिरिट एवं परिवहन करने वाले वाहनों को जप्त किया गया।