ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
सोनालीका ने कोविड 19 के खिलाफ़ लड़ाई में इंटेलिजेंट वेंटीलेटर सिस्टम का किया निर्माण
May 28, 2020 • Admin

नई दिल्ली। देश की सबसे लीडिंग ट्रैक्टर मैन्युफ़ैक्चरिंग कंपनियों में से एक और अपनी तकनीकी विशेषज्ञता के लिए जानी जाने वाली सोनालीका ट्रैक्टर्स, कोरोना वायरस जैसे वैश्विक संक्रमण से प्रभावित रोगियों के समर्थन हेतु इंटेलिजेंट वेंटीलेटर सिस्टम पेश कर रही है। कंपनी ने इन वेंटिलेटर्स को विशेष रूप से डिज़ाइन किया है ताकि सभी एडवांस्ड क्रिटिकल केयर वेंटिलेटर्स के लिए उपलब्ध इनवेसिव वेंटिलेशन की विभिन्न आवश्यकताओं को पूरा किया जा सके। इस वेंटिलेटर को स्वदेशी रूप से विकसित एक ऑयल-फ्री एयर कंप्रेसर के साथ डिज़ाइन किया गया है, जो न केवल इस वेंटिलेटर को ढ्ढष्ट के बाहर उपयोग करने के लिए आत्मनिर्भर बनाता है, साथ ही यह अस्पताल इंफ्रास्ट्रक्चर के विफल होने पर बैकअप कंप्रेसर के रूप में भी काम करता है। सोनालीका समूह के उपाध्यक्ष अमृत सागर मित्तल ने कहा इस प्रोजैक्ट की कल्पना सोनालीका समूह के निदेशक सुशांत सागर मित्तल द्वारा की गई थी और निदेशक विकास अक्षय सांगवान द्वारा लागू किया गया था। सोनालीका में समाज के प्रति केंद्रित रहना हमारे मूल महत्व का हिस्सा है और हम समुदायों की भलाई के लिए प्रतिबद्ध हैं। आवश्यकता के इस समय में मेक इन इंडिया के प्रति देश कीआवश्यकताओं में योगदान देने में सक्षम होने पर बहुत संतोष महसूस होता है। हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा आत्मानिभर भारत की विचारधारा के उत्तर में हमारी टीम स्वदेशी रूप से इस वेंटिलेटर को बनाने में सक्षम है, जो काविड-19 से लडऩे के लिए तत्पर है। इस पहल पर चर्चा करते हुए, सोनालीका समूह के कार्यकारी निदेशक रमन मित्तल ने कहा महामारी का सामना करने के लिए शुरू की गई गतिविधियों के बीच इन इंटेलिजेंट वेंटिलेटर्स का निर्माण करना ही टेक्नोलॉजी कस्टमाइज़ेशन के उपयोग के प्रति हमारी जि़म्मेदारी का प्रमाण है। इस मशीन को एंबेडेड कोडिंग, मॉनिटरिंग सॉफ्टवेयर, इलेक्ट्रॉनिक कंट्रोल सर्किट, थर्मोडायनामिक्स और फ्लूड मैकेनिक्स का मेल माना जाता है। यह एक एडवांस्ड मशीन है जिसमें इंटेलिजेंस बिल्ट-इन है, जो टाइट एयर प्रेशर और वॉल्यूम जैसी स्थिति में काम करने में सक्षम है। डेटा की एक्युरेसी एवं मशीन द्वारा तुरंत निर्णय लेने की प्रतिक्रिया इसकी योग्यता को दर्शाती है। अक्षय सांगवान ने कहा प्रोजैक्ट टीम ने स्थिति को समझने के लिए अनुभवी एनेस्थिसियोलॉजिस्ट के साथ मिलकर काम किया और उस अनुभव को सिस्टम से जोडऩे के लिए तालमेल बनाया। आर्टिफि़शियल लंग्स पर स्टैंडर्ड कैलीब्रेशन टेस्ट किए गए और हमने बिना रुके 1 मिलियन साइकिल का एक्सीलेरेटेड ड्युरेबिलिटी टेस्ट भी किया है। पूरा प्रोजैक्ट उच्चतम गुणवत्ता एवं प्रदर्शन मानकों को सुनिश्चित करते हुए सिक्स सिग्मा मेथोडोलॉजी द्वारा संचालित किया गया था। हमने प्रति माह 3000 वेंटिलेटर बनाने का लक्ष्य रखा है और आवश्यकता के आधार पर उत्पादन को बढ़ाएंगे। हम अपने राष्ट्र एवं समाज की भलाई में योगदान के लिए तत्पर हैं, और उम्मीद करते हैं कि इसे उपयोग करने का समय आगे कभी न आए।