ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
थाना प्रभारी ने क्षेत्र के गुंडा और निगरानी बदमाशों की ली क्लास
February 25, 2020 • Vijay sharma

 

सिंगरौली/सरई।  नवागत पुलिस अधीक्षक टी.के.विद्यार्थी के आदेशानुसार  ए एस पी प्रदीप सेन्डे के दिशा निर्देशन में एसडीओपी लालदेव सिंह के मार्गदर्शन में सरई प्रभारी शंखधर द्विवेदी द्वारा सरई  की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए सरई थाना क्षेत्र के दर्जन से अधिक संपत्ति संबंधी निगरानी बदमाशों एवं अपराधियों के घर जाकर क्लास ली और सभी को अपराधो से दूर रहने एवं अपराधिक गतिविधियों की पुनरावृत्ति न करने की सख्त लहजे में हिदायत दी गई। 

 इन अपराधियों की लगी क्लास

 निगरानी गुंडा मिठाई लाल पिता रामस्वरूप गुप्ता उम्र 55 वर्ष निवासी गजराबहरा, अंकित गुप्ता पिता शिव सागर गुप्ता उम्र 35 वर्ष निवासी गजराबहरा, खड़ानंद यादव पिता जागेश्वर यादव उम्र 48 वर्ष निवासी गोंड़बहरा, हेमंत तिवारी पिता चंद्रशेखर तिवारी उम्र 35 वर्ष निवासी घोघरा, ददन उर्फ धनेश गुप्ता पिता गूंजेस्वरी गुप्ता उम्र 35 वर्ष निवासी गजराबहरा, रामगोपाल उर्फ गोपाल पिता शिवप्रसाद उम्र 54 वर्ष निवासी धुम्माढोल।
 निगरानी बदमाश राजाराम पिता अयोध्या महापात्र उम्र 40 वर्ष निवासी गोंड़बहरा, गुलाब जायसवाल पिता लक्षण धारी जायसवाल उम्र 55 वर्ष निवासी नौढ़िया, बबोल साकेत पिता सतन साकेत उम्र 45 वर्ष जमगढ़ी (अमहांटोला), हीरालाल धरकार पिता गोपाल धरकार उम्र 50 वर्ष निवासी सरई, सीताशरण उर्फ सीतवा पिता कुंजलाल धरकार उम्र 47 वर्ष निवासी सरई, सालिक बस और पिता कांति बस और उम्र 37 वर्ष निवासी सरई, दशरथ जायसवाल पिता हीरालाल जायसवाल 25 वर्ष निवासी नौढिया, सीताराम जायसवाल पिता मोतीकुवर जायसवाल उम्र 26 वर्ष निवासी नौढ़िया, सुदर्शन बसोर पिता शंखलाल बसोर उम्र 40 वर्ष निवासी सरई। को थाना तलब कर आचरण में सुधार करने तथा चोरी जैसे घृणित अपराध से दूर रहने की सख्त हिदायत देकर संपत्ति संबंधी अपराधियों को थाना प्रभारी द्वारा सभी एक एक कर वर्तमान में क्या कर रहे हैं कहां रह रहे हैं अपराध तो नहीं कर रहे हैं जानकारी ली साथ ही थाने के सभी पुलिस स्टॉप से गुंडा निगरानी बदमाशों की जानकारी ली तथा गुंडा निगरानी बदमाशों को समझाइश दी गई कि समाज की मुख्यधारा से जुड़े और अपराध मारपीट चोरी से दूरी बनाएं तथा यदि आगे अपराध करते हैं तो उनके खिलाफ जिला बदल की कार्यवाही की जाएगी और यदि अच्छा आचरण रखकर कोई अपराध नहीं करते हैं तो उनका नाम गुंडा निगरानी बदमाशों से फाइल हटाने की पुलिस अधीक्षक महोदय से सिफारिश की जाएगी
*उक्त मामले मेंउप निरीक्षक सूर्यपाल सिंह सहायक उपनिरीक्षक शिव कुमार दुबे उप निरीक्षक कन्हैया चतुर्वेदी प्रधान आरक्षक माने खान प्रधान एवं आरक्षक मनीष सेन की अहम भूमिक रही।।*