ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
उदय बारेवणकर ने किया गुना-बीना रेल खण्ड का निरीक्षण
February 18, 2020 • Vijay sharma
भोपाल। मण्डल रेल प्रबंधक ने वरिष्ठ रेल अधिकारियों के साथ मण्डल के गुना-बीना रेल खण्ड का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मण्डल रेल प्रबंधक ने गुना, पीलीघटा, अशोकनगर स्टेशनों पर उपलब्ध यात्री
सुविधाओं, खानपान यूनिटों, आरक्षण कार्यालयो, बुकिंग कार्यालयों, यात्री प्रतीक्षालयों/शौचालयों, प्लेटफॉर्मो एवं सर्कुलेटिंग एरिया की साफ- सफाई, स्टेशन पर यात्रियों के लिये पीने के पानी की पर्याप्त व्यवस्था तथा स्टेशन पर चल रहे विकास कार्यो एवं उनकी प्रगति का जायजा लिया एवं अधिकारियों के साथ विस्तृत चर्चा की। साथ ही मण्डल रेल प्रबंधक ने गुना-बीना रेल
खण्ड पर रेल पुलों, रेल पथ, संरक्षा एवं सुरक्षा से जुड़े यंत्रों एवं
सिग्नल प्रणाली आदि का निरीक्षण किया।
गुना स्टेशन पर निरीक्षण के दौरान रनिंग रूम में लोको पायलट/ सहायक लोको पायलट, गार्ड आदि के ठहरने, शौचालय की साफ-सफाई, प्लेटफार्म पर उपलब्ध यात्री सुविधाओं एवं सर्कुलेटिंग एरिया का निरीक्षण किया एवं आवश्यक सुधार हेतु सम्बंधितों को निर्देश दिये। रनिंग रूम का निरीक्षण के
दौरान मण्डल रेल प्रबंधक ने रसोई घर की साफ सफाई देखी एवं रसोइया से रसोईघर में बनाये जा रहे खाने की गुणवत्ता के सम्बंध में जानकारी ली एवं रनिंग कर्मचारियों के लिये विश्रााम आदि की व्यवस्था को देखा। तत्पश्चात पगारा-पीलीघटा के मध्य सिंधु नदी पर ब्रिज का निरीक्षण किया एवं उस क्षेत्र में कार्यरत ट्रैक मैन गैंग से मिलकर उनके कार्य एवं सुविधाओं के बारे में जानकारी ली।
पीलीघटा स्टेशन पर निरीक्षण के दौरान मण्डल रेल प्रबंधक ने पैनल एवं रिले रूम, सरकुलेटिंग एरिया का निरीक्षण किया एवं आवश्यक सुधार के लिये निर्देश दिये। स्टेशन प्रबंधक कक्ष में पहुॅचकर स्टेशन प्रबंधक से ब्लॉक की स्थिति में स्टेशन प्रबंधक के कार्यों के सम्बंध में जानकारी ली। 
अशोकनगर स्टेशन के नवीनीकृत स्टेशन भवन, कांकोर्स एरिया, दोनों सर्कुलेटिंग एरिया की साफ-सफाई का निरीक्षण किया एवं साफ-सफाई को और बेहतर बनाने के निर्देश दिये। स्टेशन के बाहर सर्कुलेटिंग एरिया में नवविकसित सुन्दर गार्डन व स्टेशन के बाहर बारिश एवं धूप से बचने के लिये लगाई गई केनोपी का अवलोकन किया। पर्यावरण के अनुकूल इस केनोपी की विशेषता यह है कि बारिश के समय इस पर गिरने वाला पानी पाइप के द्वारा सीधे भूगर्भ में समाहित होगा। इससे वहॉं के भूगर्भ का जलस्तर ऊपर उठेगा।
इसके साथ ही टी.आर.डी. कालोनी पहुॅचकर रेल कर्मियों के परिवारजनों से मिलकर कालोनी में उपलब्ध सुविधाओं का निरीक्षण किया एवं कालोनी की समस्याओं के बारे में चर्चा की। बीना स्टेशन पर लोको एवं सहायक लोको पायलट लॉबी का निरीक्षण किया एवं 140 टन वजनी क्रेन के शेड का निरीक्षण किया तथा ब्रेक डाउन कर्मचारियों से मिलकर ब्रेक डाउन के संबंध में चर्चा की।