ALL शिक्षा मध्यप्रदेश मनोरंजन राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य खेल राजनीति
विभागीय कार्य तथा लोगों की समस्याओं का करें त्वरित निराकरण : कियावत
November 18, 2020 • Admin • मध्यप्रदेश

भोपाल । संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत ने रायसेन में राजस्व विभाग, शालेय शिक्षा तथा कृषि सहित अनेक विभागों की प्रगति की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होंने सभी विभागीय कार्यो को समय पर पूर्ण करने एवं लोगों की शिकायतों, समस्याओं का त्वरित निराकरण करने के अधिकारियों को निर्देश दिए। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न बैठक में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव द्वारा जिले में संचालित विकास कार्यो तथा शासकीय योजनाओं की प्रगति से अवगत कराया गया।

 

         समीक्षा के दौरान संभागायुक्त श्री कियावत द्वारा सभी राजस्व अधिकारियों को अपने राजस्व न्यायालयों को व्यवस्थित करने तथा न्यायालयीन कार्य गंभीरता से करने के निर्देश दिए। कार्यालय में अधिकारियों, कर्मचारियों के नाम की पट्टीका लगाई जाए। कार्यालय में आने वाले नागरिकों के लिए बैठक व्यवस्था, पेयजल व्यवस्था तथा संकेतक लगाए जाने के संबंध में निर्देश दिए। साथ ही नियमानुसार राजस्व वसूली का लक्ष्य पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि लोक सेवा केंद्र में सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएं और नियमित रूप से केंद्रों की मानिटरिंग की जाए। इसके अतिरिक्त यह भी सुनिश्चित करें कि लोक सेवा केंद्रों पर कोई भी अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाए।

 

गांव में चौपाल लगाने और रात्रि विश्राम करने के निर्देश

 

संभागायुक्त ने सभी एसडीएम को राजस्व प्रकरणों की समीक्षा निर्धारित कैलेण्डर के अनुसार करने तथा पटवारियों की साप्ताहिक बैठक आयोजित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार सप्ताह में तीन दिन न्यायालयीन कार्य करें तथा दो दिन अपने क्षेत्र में भ्रमण करें। क्षेत्र के भ्रमण के दौरान रात्रि विश्राम गांव में ही करें तथा चौपाल भी लगाएं। चौपाल में ग्रामीणों से गांव के विकास के संबंध में सुझाव लें और उनकी समस्याओं का निराकरण भी करें। साथ ही उचित मूल्य दुकान, नल-जल योजना, स्वास्थ्य सेवाएं, स्कूल, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, किसानों के लिए संचालित योजनाएं, पशुपालन, शासकीय निर्माण और विकास कार्य, आंगनबाड़ी केंद्र, नामांतरण, बंटवारा के संबंध में जानकारी ली जाए। ग्रामीणों को शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी भी दी जाए । उन्होंने अधिकारियों से कहा कि गांवों के भ्रमण के दौरान पंचायत भवन के नियमित खुलने तथा रजिस्टर संधारित के लिए पंचायत सचिव को निर्देशित करें। गांव भ्रमण के दौरान रजिस्टर में निरीक्षण के संबंध में टीप भी करें।

 

स्कूलों को स्वच्छ, सुंदर और आकर्षक बनाने के निर्देश

                                                     

      संभागायुक्त ने स्कूल शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान बेहतर शैक्षणिक परिवेश के लिए स्कूलों को स्वच्छ, सुंदर और आकर्षक बनाने के निर्देश दिए। स्कूलों में रंग-रोगन, फर्नीचर, विद्युत व्यवस्था, शुद्ध पेयजल, शौचालय, पुस्तकालय, संकेतक लगाए जाने के निर्देश दिए। साथ ही प्राथमिक, माध्यमिक, हाई तथा हायर सेकेण्डरी स्कूलों की पहचान के लिए अलग-अलग रंगो के पट्टे लगाने के लिए निर्देश दिए जिससे कि स्कूलों को दूर से ही पहचाना जा सके। उन्होंने सभी बच्चों को पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध कराना सुनिश्चित करने तथा स्कूलों में शेष किताबें ब्लाक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जमा कराने के लिए कहा।

 

संभागायुक्त ने कहा कि स्कूलों में जनभागीदारी से कार्य संपादित कराए जाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं, नागरिकों तथा स्कूल के पूर्व छात्रों से सम्पर्क करें। उन्होंने निर्माणाधीन स्कूल भवनों की जानकारी लेते हुए गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखते और निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन स्कूलों में बच्चों की संख्या कम है, वहां ग्रामीणों को समझाईश देते हुए बच्चों को स्कूल भेजने के लिए कहें। उन्होंने एक परिसर एक शाला, शिक्षकों और शालाओं का युक्तियुक्तकरण तथा शालावार शिक्षकों की संख्या के संबंध में भी जानकारी ली ।

 

उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा

 

उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए संभागायुक्त श्री कियावत ने महाविद्यालयों की जानकारी ली । बैठक में जानकारी दी गई कि जिले में 11 शासकीय महाविद्यालय संचालित हैं जिनमें आठ महाविद्यालय स्वयं के भवन में संचालित हो रहे हैं । संभागयुक्त ने छात्रों को छात्रवृत्ति वितरण के संबंध में जानकारी लेते हुए निर्देश दिए कि सभी पात्र छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदाय किया जाना सुनिश्चित किया जाए । उन्होंने कहा कि आगामी समय में स्वच्छता सर्वेक्षण होना है । छात्रों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया जाए और उन्हें माता-पिता तथा परिजनों को भी साफ-सफाई रखने, कचरे की श्रेणियों तथा उन्हें डस्टबिन में ही डालने के लिए जागरूक किया जाए । उन्होंने कहा कि छात्रों को मोबाईल एप के माध्यम से भी स्वच्छता के प्रति जागरूक किया जाए और स्वच्छता सर्वेक्षण में वोटिंग करने के संबंध में जानकारी दी जाए ।  

 

गांवों में किसान खेत पाठशाला आयोजित करने के निर्देश

 

संभागायुक्त ने कृषि तथा संबंधित विभागों की समीक्षा करते हुए किसानों की आय में वृद्धि के लिए किसानों को खेती की उन्नत तकनीकों की जानकारी देने के लिए किसान खेत पाठशाला का आयोजन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसानों को उन्नत तकनीक अपनाने और जैविक खेती करने के लिए प्रेरित किया जाए जिससे कि वह कम से कम लागत से अधिक से अधिक मुनाफा कमा सकें। संभागायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसानों के विकास के लिए शासन द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ प्रत्येक किसान तक पहुंचाया जाए। संभागायुक्त श्री कियावत ने किसानों को पशुपालन तथा मत्स्य पालन अपनाने हेतु प्रेरित करने के लिए भी कहा।